Saturday, September 18, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाइजरायल से पहुँची Spice 2000 बमों की नई खेप, बालाकोट एयर स्ट्राइक में हुआ...

इजरायल से पहुँची Spice 2000 बमों की नई खेप, बालाकोट एयर स्ट्राइक में हुआ था इस्तेमाल

ग्वालियर एयरबेस पर स्पाइस 2000 बमों की खेप मिली है, क्योंकि यह भारतीय वायु सेना के मिराज 2000 लड़ाकू विमान बेड़े का बेस है और वे एकमात्र बेड़े हैं जो इजरायल के इन बमों को ले जाने में सक्षम हैं।

इजरायल की एक कम्पनी से स्पाइस 2000 बम की नई खेप भारत पहुँची है। इससे भारतीय वायुसेना के फायरपावर को और मजबूती मिलेगी। स्पाइस 2000 बम भारत के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण है। बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान भी इसका इस्तेमाल किया गया था। इस बम के नए संस्करण की पहली खेप इजरायली कंपनी ने भारत को उपलब्ध करा दी है।

ग्वालियर एयरबेस पर स्पाइस 2000 बमों की खेप मिली है, क्योंकि यह भारतीय वायु सेना के मिराज 2000 लड़ाकू विमान बेड़े का बेस है और वे एकमात्र बेड़े हैं जो इजरायल के इन बमों को ले जाने में सक्षम हैं। मार्क 84 वॉरहेड्स के साथ पहुँची बम की खेप के पहले बैच को भारतीय वायुसेना ने रिसीव किया। बता दें कि इजरायल से स्पाइस 2000 का जो नया बैच आया है, यह इसका ताज़ा वर्जन है। इसकी मारक क्षमता की बात करें तो यह एक बड़े बिल्डिंग को पूरी तरह ध्वस्त करने में सक्षम है।

वर्तमान करार के पूरा होने के बाद भारतीय वायुसेना भारी मात्रा में स्पाइस 2000 बम ख़रीदेगी। इस साल जून में भारत ने इजरायल के साथ 250 करोड़ रुपए के एक कॉन्ट्रैक्ट पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें इजरायल द्वारा भारत को 100 स्पाइस 2000 बम की सप्लाई का निर्णय लिया गया था। बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान जब भारत ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैम्पों को तबाह किया था, तब स्पाइस 2000 बम का इस्तेमाल किया गया था।

उस दौरान भारतीय वायुसेना ने मिराज 2000 फाइटर एयरक्राफ्ट्स का प्रयोग किया था। ग्वालियर में मिराज 2000 फाइटर एयरक्राफ्ट्स का घरेलू बेस है और बमों की खेप यहाँ इसीलिए पहुँची है क्योंकि यही एयरक्राफ्ट इन इजराइली बमों को फायर करने में सक्षम है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,951FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe