Friday, September 17, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाराफ़ेल होता तो एयर स्ट्राइक के लिए पाकिस्तान न जाना पड़ता, भारत से ही...

राफ़ेल होता तो एयर स्ट्राइक के लिए पाकिस्तान न जाना पड़ता, भारत से ही तबाह कर देते आतंकी कैंप’

शस्त्र पूजा को लेकर कॉन्ग्रेस की प्रतिक्रिया पर रक्षा मंत्री ने कहा, "मैंने राफ़ेल पर ओम लिखकर रक्षाबंधन बाँधा तो कॉन्ग्रेस ने इसका स्वागत करने की बजाय विवाद खड़ा कर दिया। कॉन्ग्रेस नेताओं के ऐसे बयान पाकिस्तान को मज़बूत करते हैं।" वे हरियाणा के करनाल में रैली को संबोधित कर रहे थे।

हरियाणा में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार जोरों पर है। चुनाव प्रचार के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बालाकोट एयर स्ट्राइक का ज़िक्र करते हुए कहा, “अगर हमारे पास राफ़ेल लड़ाकू विमान होते, तो हमें पाकिस्तान जाने की ज़रूरत नहीं होती। हम भारत में बैठकर भी वहाँ के आतंकी शिविरों को तबाह कर सकते थे।”

शस्त्र पूजा को लेकर कॉन्ग्रेस की प्रतिक्रिया पर रक्षा मंत्री ने कहा, “मैंने राफ़ेल पर ओम लिखकर रक्षाबंधन बाँधा तो कॉन्ग्रेस ने इसका स्वागत करने की बजाय विवाद खड़ा कर दिया। कॉन्ग्रेस नेताओं के ऐसे बयान पाकिस्तान को मज़बूत करते हैं।” वे हरियाणा के करनाल में रैली को संबोधित कर रहे थे।

रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ ने जनता से पूछा कि क्या उनके घरों में ‘ओम’ नहीं लिखा जाता? क्या सिख एक ओंकार नहीं कहते? क्या मुस्लिम आमीन नहीं कहते? इसमें ग़लत क्या है? लेकिन कॉन्ग्रेस के लोग इसे साम्प्रदायिक बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने शस्त्र पूजा की तो उस समय वहाँ सभी धर्मों के लोग उपस्थित थे। कॉन्ग्रेस को स्वागत इसका स्वागत करना चाहिए, लेकिन यह पार्टी बिना कुछ सोचे-समझे आलोचना कर रही है। इसके लिए जनता को कॉन्ग्रेस को मुँहतोड़ जवाब देना चाहिए।

खट्टर सरकार की तारीफ करते हुए उन्होंने हरियाणा की पूर्ववर्ती सरकारों की कार्यशैली पर भी निशाना साधा। राजनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जमीनी स्तर पर काम किया है। यहॉं के हिसाब से सरकार चलाई है। कॉन्ग्रेस और इनेलोद के मुख्यमंत्री तो दिल्ली के इशारों पर हरियाणा में सरकार चलाते थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

38 हिंदुओं का सिर कलम, खोपड़ी काट-काट कर फेंकी गई: मोपला का वो नरसंहार जब 3 दिन तक कुएँ से आती रहीं आवाजें

मोपला में हिंदुओं का नरसंहार थोड़ा अलग था क्योंकि मुस्लिमों को लग रहा था कि वो ब्रिटिशों को उखाड़ कर वहाँ इस्लामी राज्य स्थापित कर लेंगे।

नाबालिग लड़की के साथ पिता/दादा को सार्वजनिक तौर पर शर्मिंदा… जुबैर का ट्वीट नहीं हटा रहा ट्विटर, NCPCR गई हाई कोर्ट

ऑल्ट न्यूज के सह संस्थापक जुबैर के खिलाफ पिछले साल अगस्त में शिकायत दर्ज की गई थी। तब कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर रोक लगा दिया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,782FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe