Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा'मैं J&K पुलिस और सेना का शुक्रगुजार हूँ, उन्होंने मुझे जिंदगी जीने का एक...

‘मैं J&K पुलिस और सेना का शुक्रगुजार हूँ, उन्होंने मुझे जिंदगी जीने का एक और मौका दिया’: सरेंडर के बाद बोला आतंकी, देखें Video

आतंकी वीडियो में अपना नाम खाबिर सुल्तान मीर बताते हुए कहता है, “मैने आतकी संगठन सितंबर में ज्वाइन किया था। अभी मैं शुक्रगुजार हूँ जम्मू-कश्मीर पुलिस का और यहाँ की आर्मी का क्योंकि उन्होंने मुझे मौका दिया अपनी लाइफ जीने के लिए। फिर से जीने के लिए। ये लोग मुझे जिंदा लेकर आए और मुझे कोई टॉर्चर नहीं किया...."

जम्मू कश्मीर के पंपोर में एक आतंकी के सरेंडर की वीडियो सामने आई है। वीडियो में देख सकते हैं कि आतंकी अपने पास से सारी चीजें जमीन पर फेंक कर सुरक्षाबल की ओर आगे बढ़ा चला आ रहा है। वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि दक्षिणी कश्मीर में सुरक्षाबलों के ऑपरेशन के दौरान आतंकी ने यह सरेंडर किया। इससे पहले उसके एक साथी को भारतीय सुरक्षाबल ढेर कर चुकी थी। पुलिस का कहना है कि घाटी में अब तक 9 आतंकी सरेंडर कर चुके हैं।

सरेंडर के वीडियो में हम देख सकते हैं कि सुरक्षाकर्मी बड़े आराम से आतंकी को आश्वस्त करके अपने पास बुला रहे हैं। वह उसके पास जाकर उससे पिस्टल आदि बरामद करते हैं और फिर उसे आगे लेकर आते हैं।

आतंकी वीडियो में अपना नाम खाबिर सुल्तान मीर बताते हुए कहता है, “मैने आतकी संगठन सितंबर में ज्वाइन किया था। अभी मैं शुक्रगुजार हूँ जम्मू-कश्मीर पुलिस का और यहाँ की आर्मी का क्योंकि उन्होंने मुझे मौका दिया अपनी लाइफ जीने के लिए। फिर से जीने के लिए। ये लोग मुझे जिंदा लेकर आए और मुझे कोई टॉर्चर नहीं किया। मुझे अच्छे से अपने भाई की तरह ही लेकर आए। जो हथियार मेरे पास थे। वो सभी मैंने वहीं पर रख दिए हैं।”

आतंकी खाबिर सुल्तान को वीडियो के आखिर में कहते सुना जा सकता है, “मैं सब भाइयों से अपील करता हूँ कि ये खून खराबा फरेब है, झूठ है, बहकावा है, इसमें कुछ भी नहीं है।” 

उल्लेखनीय है कि इस वीडियो को देखने के बाद कई नेटिजन्स की भिन्न भिन्न प्रकार की प्रतिक्रिया आई है। लोगों का कहना है कि ऐसे लोगों के लिए भारतीय सुरक्षाबल कितनी भी आत्मीयता दिखा लें लेकिन यह लोग कभी नहीं बदलते। हालाँकि, कुछ का कहना यह भी है कि ऐसा करके सुरक्षाबल ने उस आतंकी को सही रास्ते पर लाने का काम किया है।

बता दें कि जम्मू कश्मीर में पिछले साल से आतंकियों के सफाए का काम सुरक्षाबल ने तेज कर दिया है। ऐसे में गुरुवार को उन्हें पुलवामा के मीज पंपोर में दो आतंकियों के छिपे होने की बात पता चली। इसके बाद फौरन स्थानीय पुलिस व सीआपीएफ के जवानों ने इन्हें पकड़ने के लिए ऑपरेशन शुरू किया। इस ऑपरेशन में एक आतंकी को मौके पर ढेर कर दिया गया। वहीं दूसरे ने आत्मसमर्पण कर दिया। इस एनकाउंटर में सेना का एक जवान और दो अन्य नागरिक घायल हुएए हैं।

याद दिला दें अभी कुछ दिनों पहले ऐसे ही एक आतंकी के सरेंडर करते हुए वीडियो बडगाम से सामने आई थी। वीडियो में सुरक्षाबल के लहजे ने सभी के दिलों को जीत लिया था। वहीं सरेंडर के बाद आतंकी भी सहज होकर सुरक्षाकर्मियों को सभी बात बताते नजर आया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस: ‘खोजी’ पत्रकारिता का भ्रमजाल, जबरन बयानबाजी और ‘टाइमिंग’- देश के खिलाफ हर मसाले का प्रयोग

दुनिया भर में कुल जमा 23 स्मार्टफोन में 'संभावित निगरानी' को लेकर ऐसा बड़ा हल्ला मचा दिया गया है, मानो 50 देशों की सरकारें पेगासस के ज़रिए बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की साइबर जासूसी में लगी हों।

पिता ने उधार लेकर करवाई हॉकी की ट्रेनिंग, निधन के बाद अंतिम दर्शन भी छोड़ा: अब ओलंपिक में इतिहास रच दी श्रद्धांजलि

वंदना कटारिया के पिता का सपना था कि भारतीय महिला हॉकी टीम ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीते। बचपन में पिता ने उधार लेकर उन्हें हॉकी की ट्रेनिंग दिलवाई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe