कश्मीर मुद्दे पर UN में भाव न मिलने से बौखलाए इमरान खान: स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी को हटाया

कश्मीर में अत्याचार को दिखाने की नाकाम कोशिश करते हुए मलीहा लोधी ने गाजा की एक घायल फिलीस्तीनी लड़की की तस्वीर दिखा कर कहा था कि यह कश्मीर की एक पीड़ित लड़की है। बाद में पोल खुल गई और मलीहा और पाक की काफी आलोचना हुई थी।

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र संघ में अपनी स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी को हटा दिया है। उनकी जगह पर मुनीर अकरम को नियुक्त किया गया है। पाक ने यह बदलाव संयुक्त राष्ट्र संघ की हालिया महासभा से लौटने के महज 72 घंटों के भीतर किया है। विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा, “राजदूत मुनीर अकरम को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र में डॉ मलीहा लोधी की जगह पाकिस्तान का स्थायी प्रतिनिधि नियुक्त किया गया है।” मलीहा लोधी को हटाने की कोई वजह नहीं बताई गई है। लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि यूएन में जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तान को कोई अहमियत न मिलने और देश की किरकिरी कराने की वजह से डॉ मलीहा लोधी के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है।

हालाँकि, इमरान खान मलीहा लोधी के काम से नाखुश बताए जा रहे थे, मगर फिर भी इमरान खान ने अमेरिका से वापस आने के बाद अपने दौरे को बेहद सफल बताया और अपनी पार्टी से खुद का स्‍वागत भी कराया। अब विपक्षी पार्टी पाकिस्‍तान पीपुल्‍स पार्टी (PPP) की नेता शेरी रहमान ने पूछा है कि जब दौरा सफल रहा तो मलीहा लोधी को हटाने की जरूरत क्‍यों पड़ी? मतलब साफ है कि इमरान पाकिस्तानी आवाम को चाहे जितना बरगला लें, लेकिन हकीकत यही है कि कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को किसी देश ने भाव नहीं दिया। जिससे बौखलाए पाक ने ये कदम उठाया।

बता दें कि मलीहा लोधी अभी हाल में तब चर्चा में आई थीं जब उन्होंने इमरान की अमेरिका यात्रा के दौरान एक फोटो ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को विदेश मंत्री बता दिया था। जब लोगों ने ट्रोल किया तो मलीहा ने ट्वीट डिलीट कर दिया। बाद में उन्होंने इसके लिए माफी भी माँगी थी लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इससे पहले कश्मीर में अत्याचार को दिखाने की नाकाम कोशिश करते हुए मलीहा लोधी ने गाजा की एक घायल फिलीस्तीनी लड़की की तस्वीर दिखा कर कहा था कि यह कश्मीर की एक पीड़ित लड़की है। बाद में पोल खुल गई और मलीहा और पाक की काफी आलोचना हुई थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,578फैंसलाइक करें
23,209फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: