इस्लाम कबूल करने के लिए बीमार सिख पर डाला दबाव, इनकार करने पर अनवर ने साथियों संग मिलकर पीटा

क़रीब पाँच महीनों तक अनवर और उसके साथी किरणदीप सिंह पर इस्लाम क़बूल करने का दबाव बनाते रहे। बार-बार मना किए जाने पर अनवर और उसके साथियों ने सिंह की बेरहमी से पिटाई कर दी।

पंजाब के पटियाला में जबरन धर्म परिवर्तन कराए जाने का मामला सामने आया है। सिख समुदाय के एक बीमार व्यक्ति किरणदीप सिंह को इस्लाम कबूल करने के लिए मजबूर किया गया। इंकार करने पर उसकी बेरहमी से पिटाई की गई।

मारपीट होने के तीन दिनों तक चुप रहने के बाद पीड़ित ने पुलिस में शिक़ायत दर्ज कराई। 32 वर्षीय किरणदीप सिंह ने शिक़ायत में बताया कि पटियाला के हीरा बाग में 6 अक्टूबर को उसे कलमा और क़ुरान पढ़ने के लिए मजबूर किया गया और उन्हें मुस्लिम बनने के लिए कहा गया। जब किरणदीप सिंह ने इसका विरोध किया तो अनवर और उसके साथियों ने उसे बेरहमी से पीटा। पीड़ित किरणदीप सिंह एक कार शोरूम में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है।

जाँच पूरी कर पुलिस ने आठ लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है। आरोपित अनवर ख़ान और उसके सात अज्ञात साथी अभी फ़रार हैं। शिक़ायत में सिंह ने बताया है कि क़रीब एक साल पहले वह बीमार हो गया था। पड़ोस में रहने वाले अनवर ख़ान ने कहा कि किसी ने उसके ऊपर किसी ने काला जादू किया है। इलाज के लिए अनवर उसे कई मुस्लिम धार्मिक स्थलों पर ले गया और वहाँ सिंह को कलमा पढ़ना सिखाया। इस दौरान सिंह के स्वास्थ्य में थोड़ा-बहुत सुधार भी हुआ।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद, मुख्य आरोपित अनवर ने पीड़ित को आश्वासन दिया कि वह क़ुरान पढ़ने के बाद पूरी तरह से ठीक हो जाएगा। किरणदीप ने कहा कि उसने अनवर की हर बात मानी। इसके बाद, अनवर ने उस पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया, लेकिन सिंह ने इस्लाम धर्म क़बूल करने से इनकार कर दिया। इस पर अनवर ने कहा कि वह (सिंह) पहले से ही आधा मुसलमान बन गया हैं, इसलिए अब उसे इस्लाम को पूरी तरह से गले लगा लेना चाहिए, लेकिन किरणदीप राजी नहीं हुआ।

ख़बर के अनुसार, क़रीब पाँच महीनों तक अनवर और उसके साथी, सिंह पर इस्लाम क़बूल करने का दबाव बनाते रहे। लेकिन, किरणदीप सिंह द्वारा बार-बार मना करने पर अनवर और उसके साथियों ने रविवार (6 अक्टूबर) को सिंह की पिटाई कर दी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,489फैंसलाइक करें
23,092फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: