Sunday, November 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसीएम योगी की सिंगापुर के उच्चायुक्त ने कनेक्टिविटी और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के...

सीएम योगी की सिंगापुर के उच्चायुक्त ने कनेक्टिविटी और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए की सराहना, जताई यूपी में निवेश की इच्छा

“मुझे मुख्यमंत्री से मिलकर खुशी हुई, मैंने सीएम से कहा कि हम 2017 से उत्तर प्रदेश में कनेक्टिविटी और व्यापार करने में आसानी करने से प्रभावित हैं। हमें सीएम के नेतृत्व पर भरोसा है और उम्मीद है कि हम राज्य में और निवेश करेंगे। धन्यवाद सीएम।”

भारत में सिंगापुर के उच्चायुक्त साइमन वोंग वी कुएन ने शनिवार (25 सितंबर 2021) को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कहा कि राज्य में कनेक्टिविटी बढ़ाने और व्यापार करने में आसानी होने के चलते सिंगापुर की कंपनियाँ उत्तर प्रदेश में निवेश की इच्छुक हैं। ये बैठक लखनऊ स्थित योगी आदित्यनाथ के आधिकारिक आवास पर हुई।

साइमन के साथ उप उच्चायुक्त एलिस चेंग भी इसमें शामिल रहीं। बाद में साइमन ने हिंदी में किए एक ट्वीट में योगी आदित्यनाथ के साथ अपनी बातचीत का विवरण साझा किया और इस मुलाकात पर संतोष व्यक्त किया।

सिंगापुर के उच्चायुक्त ने ट्वीट कर बताया, “मुझे मुख्यमंत्री से मिलकर खुशी हुई, मैंने सीएम से कहा कि हम 2017 से उत्तर प्रदेश में कनेक्टिविटी और व्यापार करने में आसानी करने से प्रभावित हैं। हमें सीएम के नेतृत्व पर भरोसा है और उम्मीद है कि हम राज्य में और निवेश करेंगे। धन्यवाद सीएम।”

बैठक के दौरान उच्चायुक्त ने कहा कि उन्होंने पिछले चार सालों में बहुत ही करीब से देखा है कि उत्तर प्रदेश ने कैसे प्रगति की है। उन्होंने कहा कि सिंगापुर अब उत्तर प्रदेश के विकास में भागीदार बनना चाहेगा। इस मामले में सहयोग और निवेश के लिए हमने कई क्षेत्रों की पहचान भी की है।

दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ के शासन में उत्तर प्रदेश ने तेजी से अपने कारोबारी माहौल को सकारात्मक तरीके से बदला है। इसी का नतीजा है कि भारत ने ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ के मामले में दूसरा स्थान हासिल किया है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने बुनियादी ढाँचे के विकास में तेजी लाते हुए 21 उद्योग और निवेश अनुकूल नीतियाँ पेश कीं। 2018 में सफल उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट के बाद उत्तर प्रदेश ने निवेश को और अधिक आकर्षित करने में सफल हुआ है।

इस मुद्दे पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में व्यापार, उद्योग और निवेश की अपार संभावनाएँ हैं। उन्होंने उच्चायुक्त को बताया कि कृषि आधारित अर्थव्यवस्था वाला उत्तर प्रदेश विश्व का सबसे बड़ा बाजार है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दूध आलू, गन्ना और फलों के उत्पादन के मामले में उत्तर प्रदेश नंबर एक है और डेयरी और खाद्य प्रसंस्करण प्रमुख क्षेत्रों में उभरा है जहाँ वातावरण काफी अनुकूल है। योगी आदित्यनाथ का कहना है कि अगर सिंगापुर उत्तर प्रदेश के विकास में हाथ मिलाता है तो लोगों को बड़ी खुशी होगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणसी और कुशीनगर में तीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं। इसलिए, सिंगापुर और यूपी कई क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

उच्चायुक्त ने कहा कि सिंगापुर की फर्मों के लिए डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में निवेश करने के अच्छे अवसर हैं, इसके अलावा धार्मिक पर्यटन, रसद, बुनियादी ढाँचे जैसे कई अन्य क्षेत्र हैं, जहाँ पर निवेश किया जा सकता है।

खास बात यह है कि बुंदेलखंड में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के हिस्से के रूप में उत्तर प्रदेश में लखनऊ, कानपुर, अलीगढ़, आगरा, झाँसी और चित्रकूट में 20,000 करोड़ रुपए के डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर विकसित किए जा रहे हैं।

उच्चायुक्त ने यह भी कहा कि सिंगापुर हवाई सेवा का अंतरराष्ट्रीय केंद्र होने का लाभ उत्तर प्रदेश में विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गाय के गोबर से बिजली पैदा कर रहे ब्रिटिश किसान, 1 किलो गोबर से मिल रही 3.75 kWh बिजली: ऐसे बनाई जा रही ‘Patteries’

ब्रिटेन के किसान गाय के गोबर से बिजली पैदा कर के अच्छी कमाई कर रहे हैं। ये किसान गाय के गोबर से AA साइज की 'पैटरी (बैटरी)' तैयार कर रहे हैं।

‘ट्रैक्टर लेकर संसद भवन पर खालिस्तानी झंडा फहरा दो’: SFJ ने किया ₹94 लाख के इनाम का ऐलान, दिल्ली पुलिस सतर्क

प्रतिबंधित खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस के चीफ गुरुपवंत सिंह पन्नू ने देश की संसद पर खालिस्तानी झंडा लहराने के लिए उकसाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,093FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe