PM मोदी की भतीजी का पर्स छीनने वाले झपटमार शिकंजे में, नबी करीम थाने की पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस घटना के संबंध में लोगों का कहना था कि राज निवास मार्ग पर आए दिन झपटमारी की वारदातें होती रहती हैं। यहाँ पुलिस की मुस्तैदी दस बजे के बाद बढ़ती है इसलिए झपटमार सुबह-सुबह ही वारदात को अंजाम देते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी का पर्स छीनकर भागने वाले दोनों झपटमारों को नबी करीम थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ये गिरफ्तारी हरियाणा के सोनीपत स्थित एक गाँव से आज सुबह हुई। झपटमारों की पहचान बादल और नोनु के रूप में हुई है, जो कि सदर बाजार के मूल निवासी हैं।

दैनिक जागरण पर प्रकाशित खबर में से पता चला कि दोनों पेशे से झपटमार है और शादीशुदा हैं। इनके पास से पुलिस ने छीना हुआ सामान बरामद कर लिया है। कहा जा रहा है कि नबी करीम थाने के पुलिस ने इनमें से एक के साले को पकड़ लिया था, जिससे इन दोनों की जानकारी उन्हें मिलती रही।

उल्लेखनीय है कि पीएम की भतीजी होने के कारण पुलिस पर झपटमारों को जल्द से जल्द पकड़ने का दबाव बना हुआ था। जिसके चलते पुलिस अपनी ओर से हर मुमकिन कोशिश कर रही थी। पूरे मामले पर आला अधिकारियों की नजर थी और जिला पुलिस, स्पेशल सेल व क्राइम ब्रांच की 20 से ज्यादा टीमें इन्हें दबोचने के लिए प्रयासरत थी। लेकिन बावजूद इसके कहा जा रहा है कि जहाँ ये घटना घटी, वहाँ की उत्तरी जिला पुलिस को झपटमारों को पकड़ने में सफलता नहीं मिली, बल्कि मध्य जिला के नबी करीम थाना पुलिस के प्रयास सफल हुए और इन लूटेरों को गिरफ्तार किया गया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इससे पहले बता दें कि इन झपटमारों को खोजने के प्रयास में इन युवकों की सीसीटीवी फुटेज सामने आई थी। जिसके बाद दोनों लुटेरों की पहचान हो गई थी और इन्हें ढूँढने के लिए हर अनुमानित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही थी।

इस घटना के संबंध में लोगों का कहना था कि राज निवास मार्ग पर आए दिन झपटमारी की वारदातें होती रहती हैं। यहाँ पुलिस की मुस्तैदी दस बजे के बाद बढ़ती है इसलिए झपटमार सुबह-सुबह ही वारदात को अंजाम देते हैं।

गौरतलब है कि ये घटना जहाँ हुई, वो दिल्ली का हाई प्रोफाइल पॉश इलाका माना जाता है। फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल का आधिकारिक निवास घटनास्थल से महज़ कुछ ही दूरी पर स्थित है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"हिन्दू धर्मशास्त्र कौन पढ़ाएगा? उस धर्म का व्यक्ति जो बुतपरस्ती कहकर मूर्ति और मन्दिर के प्रति उपहासात्मक दृष्टि रखता हो और वो ये सिखाएगा कि पूजन का विधान क्या होगा? क्या जिस धर्म के हर गणना का आधार चन्द्रमा हो वो सूर्य सिद्धान्त पढ़ाएगा?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

115,259फैंसलाइक करें
23,607फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: