Tuesday, September 21, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'मैं आदमी हूँ, औरत बनकर रहना अच्छा लगता है': बंगाली शुभम माँ काली की...

‘मैं आदमी हूँ, औरत बनकर रहना अच्छा लगता है’: बंगाली शुभम माँ काली की अश्लील तस्वीर बनवा रहा लोगों की DP

एक अन्य पोस्ट में शुभम बिस्वास जीसस, मुहम्मद और कृष्णा पर मीम बनाने को लेकर अपनी बात रखता है। इसमें यह लिखता है, "क्या कोई जीसस, मुहम्मद और कृष्ण, इन तीनों पर मीम (MEME) बना सकता है। ताकि इन तीनों सबसे बड़े धर्मों को एकसाथ आहत किया जा सके?

सोशल मीडिया पर एक बार फिर कुछ हिंदू देवी देवताओं की तस्वीरों को लेकर अपमानजनक पोस्ट सामने आए हैं। एथीस्ट रिपब्लिक के संस्थापक अर्मिन नवाबी द्वारा शेयर की गई माँ काली की अश्लील तस्वीर के बाद @AtheistRonnie नाम का एक ट्विटर अकॉउंट लोगों से इसे अपनी प्रोफाइल फोटो बनाने की अपील कर रहा है। शुभम बिस्वास नाम का यह युवक कोलकाता का निवासी है।

‘एथीस्ट रॉनी’ नाम के इस अकॉउंट से माँ काली की अभद्र तस्वीर पर न केवल कमेंट किया गए है, बल्कि ‘एथिस्ट रिपब्लिक’ ग्रुप का सदस्य होने के नाते इसके माध्यम से लोगों से अपील की गई है कि जो भी कोई भारत में ईशनिंदा कानून के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करना चाहते हैं वह उस तस्वीर को अपनी डीपी पर लगा ले।

सोशल मीडिया पर हिन्दुओं की आराध्य माँ काली की अपमानजनक तस्वीर शेयर करने के मामले में भारत के ‘एथिस्ट रिपब्लिक’ संस्था के कॉर्डिनेटर के ख़िलाफ़ ‘हिंदू आईटी सेल’ नामक ट्विटर अकॉउंट केस दर्ज कराने जा रहा है। उन्होंने अपने ट्विटर पर जानकारी दी है कि जो कोई भी इस समूह के ख़िलाफ़ एफआईआर या शिकायत दर्ज करवाना चाहाता है, वह उनसे संपर्क करे।

हम सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे कुछ स्क्रीनशॉट में देख सकते हैं कि यह ट्विटर अकाउंट माँ काली की इस अभद्र तस्वीर को प्रोफाइल फोटो बनाने के लिए लोगों को उकसा रहा है और जब कुछ ओछी मानसिकता के लोग बिना सोचे-समझे यह काम कर रहे हैं तो उनका स्वागत ‘एथिस्ट रिपब्लिक’ समूह में कर रहा है।

Hate Patrol Squad के मुताबिक इस लड़के का नाम शुभम बिस्वास है। यह कल्याणी यूनिवर्सिटी में पढ़ता है और उसी समूह का सदस्य है, जिसके संस्थापक ने अभी हाल में माँ काली की अभद्र तस्वीर को शेयर करते हुए उनके लिए ‘सेक्सी’ शब्द का प्रयोग किया था।

गणेश भगवान पर शेयर किया गया अपमानजनक ट्वीट

इसी शुभम बिस्वास ने लड़कियों के लिबास में अपने अकॉउंट पर कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं। इसके अलावा, उसके ट्विटर पर अधिकतर हिंदू देवी-देवताओं की ऐसी तस्वीरें भी देखी जा सकती हैं, जिनमें उनका चित्रण बेहद आपत्तिजनक रूप से किया गया है। ‘माँ काली’ के सम्बन्ध में भी इस युवक की वॉल पर कई घटिया पोस्ट हैं। साथ ही, अभद्रता से चित्रित की गई भगवान गणेश की तस्वीरें भी शेयर की गई हैं।

‘हेट पैट्रोल स्कॉड’ के ट्विटर पर इसी ‘एथीस्ट रॉनी’ की तस्वीर शेयर करते हुए उसके ही नाम से एक बयान लिखा गया है, “हाँ मैं दिमागी तौर पर बीमार, डिप्रेस्ड आदमी हूँ जिसे, औरत बनकर रहना अच्छा लगता है, ताकि मैं महिलाओं के वॉशरूम में जा सकूँ, क्योंकि मैं अब भी उनकी ओर आकर्षित होता हूँ। और हाँ, मैं आर्ट डिग्री पढ़ते हुए 3 विषयों में फेल भी हुआ लेकिन ऑनलाइन मैं साइंस का विशेषज्ञ बनता हूँ।”

यह कथन ‘हेट पैट्रोल स्कॉड’ ने तंज में लिखा है या ये वाकई शुभम बिस्वास का कथन है, इसकी पुष्टि ऑपइंडिया नहीं करता है। मगर, इसी शुभम बिस्वास द्वारा ही शेयर की गई एक पोस्ट में यह कैप्शन लिखा देखा जा सकता है, “समाज मुझे मर्द बनाना चाहता है। लेकिन मैं नहीं बनना चाहता।”

वहीं, एक अन्य पोस्ट भी मौजूद है, जिसमें यही शुभम बिस्वास जीसस, मुहम्मद और कृष्णा पर मीम बनाने को लेकर अपनी बात रखता है। इसमें यह लिखता है, “क्या कोई जीसस, मुहम्मद और कृष्ण, इन तीनों पर मीम (MEME) बना सकता है। ताकि इन तीनों सबसे बड़े धर्मों को एकसाथ आहत किया जा सके?

बता दें कि ‘हेट पैट्रोल स्कॉड’ द्वारा सोशल मीडिया पर यह ‘ज्ञानवर्धक’ पोस्ट शेयर किए जाने के बाद शुभम ने इसका स्क्रीनशॉट ट्वीट किया है और कहा है, “अगर तुम्हें ये जानकारी मिल पाई है, तो तुम्हारे कनेक्शन बिलकुल अच्छे नहीं हैं।”

मगर यदि हम उसके ही 6 सितंबर के ट्वीट को देखें, तो ‘एथिस्ट रिपब्लिक’ ग्रुप के साथ शुभम बिस्वास वीडियो कॉल करता दिख रहा है। इस फोटो में उसके नाम पर शुभम के साथ ही ‘पूर्व हिंदू’ लिखा नजर आ रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रस्सी.. सल्फास की डिब्बी.. ब्लैकमेल वाली सीडी… सपा नेता भी घेरे में: पढ़ना-लिखना नहीं जानते थे नरेंद्र गिरी, फिर 8 पन्नों का सुसाइड नोट...

महंत नरेंद्र गिरी ने गेहूँ में रखने के लिए सल्फास की गोलियाँ मँगाई थीं। सल्फास की एक डिब्बी भी मिली है। सपा सरकार का एक राज्य मंत्री भी घेरे में।

‘यूपी में किसानों को गन्ने का सबसे ज्यादा पैसा, फिर भी वहीं करेंगे प्रदर्शन’: इंटरव्यू से हट गया राकेश टिकैत का मुखौटा

राकेश टिकैत ने पूरे इंटरव्यू के दौरान सिर्फ ये दर्शाया कि उनकी समस्या किसानों से जुड़ी नहीं है बल्कि उनकी दिक्कत केंद्र और राज्य में बैठी बीजेपी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,524FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe