पीएम पद की गरिमा, भारत रत्न और मोदी को गालियाँ: JNU के कपटी कम्युनिस्टों की कहानी, भाग-4

चीन से हार पर बंजर ज़मीन, जीप घोटालेबाज को कैबिनेट मंत्री और आपातकाल के बावजूद भारत रत्न! 1984 नरसंहार से भोपाल गैस कांड! फिर भी प्रधानमंत्री पद की 'गरिमा'… लेकिन मोदी के हिस्से, सिर्फ गालियाँ!

मोदीजी के ऊपर सबसे बड़ा आरोप क्या है?
…यही न कि, उन्होंने पीएम पद की गरिमा को गिरा दिया है। आइए, इसके कुछ बिंदुओं पर बात करते हैं।

भारत के प्रधानमंत्री पद की गरिमा थी, है व रहेगी। होनी भी चाहिए। कम्बख्त, आज तक वही गरिमा तो थी, जिसका बोझ इतना अधिक था कि यह मरियल, अधनंगा, सड़ा-गला, भूखों का देश उठा रहा है।

पीएम पद की गरिमा ही तो थी, जो हमारे पहले प्रधानमंत्री ‘दुर्घटनावश हिंदू’ अपने अंग्रेज मित्रों को बुलवाकर संपेरों से मिलवाते थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उसी वक्त विक्रम साराभाई नाम के एक जीव भी थे, यह उनको याद नहीं आता था। यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी, कि चचा ने खुद को ही भारत-रत्न दे दिया था। नौसेना के जहाजों या युद्धक विमानों का उस गरिमा के चलते ही (दुष्) प्रयोग चचा ने ही तो शुरू किया था एवं यह प्रधानमंत्री पद की ही गरिमा थी कि भरी संसद में उन्होंने चीन के कब्जे पर कहा था कि किसी बंजर ज़मीन पर ही तो कब्ज़ा हुआ है, जिस पर घास भी नहीं उगती। तब, हमारे एक सांसद महावीर जी ने कहा था कि मेरा तो सिर भी गंजा है, तो इसे भी दुश्मनों को दे दीजिए।

भाई, ये पीएम पद की गरिमा का गुरुगंभीर दायित्व ही तो था कि सेना के लिए जीप खरीदने में घोटाला करने वाले आरोपित को तुरंत ही कैबिनेट मंत्री बना लिया चचा ने। यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी, कि अपनी बेटी को उत्तराधिकारी बनाकर चचा ने वंशवाद का विषवृक्ष इस देश में बो दिया, एक सनकी, तानाशाह, विनाशकारी सोच की महिला को इस देश पर थोप दिया।

यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी, कि तथाकथित ‘लौह-महिला’ ने देश पर आपातकाल थोप दिया, हज़ारों को जेल में डाल दिया एवं अपने महा-अहंकारी, विक्षिप्त पुत्र के हाथ में सत्ता की वास्तविक कमान दे दी। यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी कि इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने वालों को अकादमिक जगत में प्रतिष्ठित किया गया, ज्ञान की एकतरफा गंगा बहाई गई तथा दूसरे किसी भी किस्म के विचार को अछूत, सर्वथा विरुद्ध समझा गया।

यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी कि एक राष्ट्रपति को रात के 12 बजे उठाकर आपातकाल के आदेश पर हस्ताक्षर करवाए गए, अपने ड्राइवर, निजी देखभाल करने वाले कर्मचारियों को देश के उच्च पदों पर बिठाया गया, देश के सभी संसाधनों को एक परिवार की जागीर बना दिया गया, निठल्ले बेटों को जन्मदिन में आकाश दिखाने भारत सरकार के जहाजों का उपयोग किया, भिंडरावाले को पैदा किया एवं बाप की राह पर चलकर खुद को ही भारत-रत्न भी दे डाला।

पीएम पद की गरिमा का भार बहुत होता है, रे बाबा। तभी तो धोखे के लिए भी सही, दिखावे के लिए ही सही, न तो कैबिनेट की बैठक बुलाई गई, न ही कहीं से कोई राय ली गई, रातोंरात अचानक से विदेश में बैठे एक युवक को इस देश की कमान सौंप दी गई, जिसके पास पीएम पद की ‘गरिमा’ व ‘पारिवारिक शहादत’ के अलावा था, तो कुलीनता का घमंड, भारत से भयानक अपरिचय तथा इंडिया से असंभव प्यार।

यह पीएम पद की गरिमा ही तो थी, जिसने एक पेड़ के गिरने पर धरती को हिलाया एवं ‘मात्र’ 5000 सिखों को हलाक कर दिया था। पीएम पद की ‘गरिमा’ तभी तो है। यह पीएम पद की गरिमा ही थी, जिसने 400 से अधिक सांसद होने पर भी मुसलमानों को पर्सनल लॉ में कैद रहने दिया, शाहबानो मामले में ऐसा फैसला लिया कि आज मुसलमान 14वीं सदी की ‘अरबी भेड़’ बन कर रह गए हैं, यह पीएम पद की गरिमा ही थी जिसने बोफोर्स में दलाली खाई, यह पीएम पद की गरिमा ही थी कि हजारों की मौत के जिम्मेदार भोपाल-गैस कांड के आरोपित को बाकायदा सरकारी कार एवं विमान से देश से भाहर भगाया गया।

…एंड, लास्ट बट नॉट द लीस्ट, वह पीएम पद की गरिमा ही तो है, जो 2002 से 2014 तक एक राज्य के मुख्यमंत्री को हत्यारा, नरसंहारक, मौत का सौदागर, खून बेचने वाला, आदि-अनादि कौन सी गाली नहीं दी गई।

2014 से वह व्यक्ति देश का पीएम है, लेकिन एक मंदबुद्धि, नशेड़ी, पागल उसे बिना किसी सबूत के चोर कह रहा है, उस पीएम को इतनी गालियाँ दी गईं कि गालियों का शब्दकोश भी शर्मिंदा हो जाए, लेकिन उस व्यक्ति ने जब एक तथ्य मात्र कह दिया, तो लुटियंस के पालतू शर्मिंदा हो गए।

सही बात है, आखिर प्रधानमंत्री पद की ‘गरिमा’ का सवाल है…

— व्यालोक पाठक

लेखक सीरीज में लिखते हैं। नीचे पढ़ें उनका हर एक पोस्ट:

एक झूठ को 100 बार बोलकर सच करने का छल : कपटी कम्युनिस्टों की कहानी, भाग-3
मूर्खों और मूढ़मतियों का ओजस्वी वक्ता है कन्हैया : कपटी कम्युनिस्टों की कहानी, भाग-2
कॉमरेड चंदू से लेकर कन्हैया कुमार तक : कपटी कम्युनिस्टों की कहानी, भाग-1

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

यू-ट्यूब से

बड़ी ख़बर

पिछले साल जॉनसन का उनकी गर्लफ्रेंड कोरी साइमंड्स के साथ प्रेम संबंध सार्वजनिक हो गया था। जिसके बाद उनकी भारतीय मूल की पत्नी मरीना व्हीलर ने तलाक की अर्जी दी थी।

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

मोहसिन अब्बास हैदर

कई बार लात मारी, चेहरे पर मुक्के मारे: एक्टर मोहसिन अब्बास हैदर की पत्नी ने लगाए गंभीर आरोप

“जब मैं अस्पताल में कराह रही थी तब मेरा मशहूर पति अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सो रहा था। 2 दिन बाद केवल दिखावे और प्रचार के लिए वो अस्पताल आया, बच्चे के साथ फोटो ली और फिर उसे पोस्ट कर दिया। उसे बच्चे की फिक्र नहीं थी। वह केवल प्रचार करना चाहता था।”
तीन तलाक और हलाला

‘मेरे छोटे भाई के साथ हलाला कर लो’ – तीन तलाक देने के बाद दोबारा निकाह करने के लिए रखी शर्त

2 महीने पहले पति ने अपनी बीवी से मारपीट की और उसे घर से निकाल दिया। फिर 7 जुलाई को उसने तीन तलाक भी दे दिया। ठीक 14 दिन के बाद अचानक से ससुराल पहुँच बीवी को अपनाने की बात कही लेकिन अपने छोटे भाई के साथ हलाला करवाने के बाद!
गाय, दुष्कर्म, मोहम्मद अंसारी, गिरफ्तार

गाय के पैर बाँध मो. अंसारी ने किया दुष्कर्म, नारियल तेल के साथ गाँव वालों ने रंगे हाथ पकड़ा: देखें Video

गुस्साए गाँव वालों ने अंसारी से गाय के पाँव छूकर माफी माँगने को कहा, लेकिन जैसे ही अंसारी वहाँ पहुँचा, गाय उसे देखकर डर गई और वहाँ से भाग गई। गाय की व्यथा देखकर गाँव वाले उससे बोले, "ये भाग रही है क्योंकि ये तुमसे डर गई। उसे लग रहा है कि तुम वही सब करने दोबारा आए हो।"
अरुप हलधर

राष्ट्रगान के दौरान ‘अल्लाहु अकबर’ का विरोध करने पर रफीकुल और अशफुल ने 9वीं के छात्र अरुप को पीटा

इससे पहले 11 जुलाई 2019 को पश्चिम बंगाल के हावड़ा स्थित श्री रामकृष्ण शिक्षालय नामक स्कूल में पहली कक्षा में पढ़ने वाले छात्र आर्यन सिंह की शिक्षक ने क्लास में 'जय श्री राम' बोलने पर बेरहमी से पिटाई कर दी थी।
विकास गौतम

आरिफ और रियाज ने ‘बोल बम’ का नारा लगाने पर की काँवड़ियों की पिटाई, इलाके में तनाव

जैसे ही काँवड़ियों का समूह कजियाना मुहल्ले मे पहुँचा, वहाँ के समुदाय विशेष ने उनके धार्मिक नारा 'बोल बम' का जयकारा लगाने पर आपत्ति जताई। मगर कांँवड़ियों का समूह फिर भी नारा लगाता रहा। इसके बाद गुस्से में आकर समुदाय विशेष ने उनकी पिटाई कर दी। एक काँवड़िया की हालत नाजुक...
राजनीतिक अवसरवादिता

जिस हत्याकाण्ड का आज शोक मना रहीं ममता, उसी के ज़िम्मेदार को भेजा राज्य सभा!

हत्यकाण्ड के वक्त प्रदेश के गृह सचिव रहे गुप्ता ने तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के पीएमओ को जवाब देते हुए ममता बनर्जी के आरोपों को तथ्यहीन बताया था।
कलकत्ता, नाबालिग का रेप

5 साल की मासूम के साथ रेप, रोने पर गला दबाकर हत्या: 37 साल का असगर अली गिरफ्तार, स्वीकारा जुर्म

अली ने पहले फल का लालच देकर अपने पड़ोस के घर से बच्ची को उठाया और फिर जंगल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद बच्ची का गला घोंट कर उसे मार दिया।
ये कैसा दमा?

प्रियंका चोपड़ा का अस्थमा सिगरेट से नहीं, केवल दिवाली से उभरता है?

पिछले साल दिवाली के पहले प्रियंका चोपड़ा का वीडियो आया था- जिसमें वह जानवरों, प्रदूषण, और अपने दमे का हवाला देकर लोगों से दिवाली नहीं मनाने की अपील की थी। लेकिन इस 'मार्मिक' अपील के एक महीने के भीतर उनकी शादी में पटाखों का इस्तेमाल जमकर हुआ।
भाजपा नेता

गाजियाबाद में भाजपा नेता की हत्या, शाहरुख़ और तसनीम गिरफ्तार

तोमर जहाँ गोलियाँ मारी गई वहां से पुलिस स्टेशन से मात्र 50 मीटर की दूरी पर है। एसएचओ प्रवीण शर्मा को निलंबित कर दिया गया है।
हरीश जाटव

दलित युवक की बाइक से मुस्लिम महिला को लगी टक्कर, उमर ने इतना मारा कि हो गई मौत

हरीश जाटव मंगलवार को अलवर जिले के चौपांकी थाना इलाके में फसला गाँव से गुजर रहा था। इसी दौरान उसकी बाइक से हकीमन नाम की महिला को टक्कर लग गई। जिसके बाद वहाँ मौजूद भीड़ ने उसे पकड़कर बुरी तरह पीटा।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

57,846फैंसलाइक करें
9,873फॉलोवर्सफॉलो करें
74,917सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

शेयर करें, मदद करें: