Monday, March 8, 2021

विषय

स्मृति

17 साल में वकील बने जेठमलानी नहीं रहे, नानावती से लेकर अफजल गुरु तक रहे मुवक्किल

दाऊद इब्राहिम ने भी मुंबई बम ब्लास्ट के बाद मदद के लिए जेठमलानी को फोन किया था। जेठमलानी ने 2015 में कहा था कि दाऊद को भारत लाया जा सकता था, लेकिन महाराष्ट्र के तत्कालीन सीएम शरद पवार की वजह से ऐसा नहीं हो पाया।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,966FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe