Wednesday, August 4, 2021
Homeवीडियोएक मुखिया जिसने पंचायत की शक्ल बदल दी, जिन्हें विधानसभा में होना चाहिए: मिलिए...

एक मुखिया जिसने पंचायत की शक्ल बदल दी, जिन्हें विधानसभा में होना चाहिए: मिलिए मंदाकिनी चौधरी से

सरकारी नौकरी छोड़कर शुरू-शुरू में जब उन्होंने अपनी शिक्षा का सदुपयोग नीचे तबके वाले लोगों के उत्थान हेतु करना चाहा तो उनका बहुत मजाक बना। लेकिन धीरे-धीरे वह आगे बढ़ीं और उनके साथ सैंकड़ों लोगों का कारवां जुड़ता गया।

बिहार के हरलाखी विधानसभा क्षेत्र से इस बार एक निर्दलीय उम्मीदवार का नाम मंदाकिनी चौधरी है। मंदाकिनी बिलकुल वैसी हैं, जैसे राजनीति में एक सशक्त नेत्री को होना चाहिए। उनका काम एक मुखिया के रूप में जमीन पर नजर आता है। उनकी बातें लक्ष्यहीन या हवा-हवाई किस्म की नहीं हैं। अपने विजन को चरितार्थ करने के लिए उन्हें क्या करना है और किन भूलों को सुधारना है, यह सब वह अच्छे से जानती हैं।

सरकारी नौकरी छोड़कर गाँव को कर्मभूमि के रूप में चुनने वाली मंदाकिनी ने लंबे समय से स्थानीय लोगों के बीच अपनी जगह बनाई हुई है। शुरू-शुरू में जब उन्होंने अपनी शिक्षा का सदुपयोग गाँव आकर अपने नीचे तबके वाले लोगों के उत्थान हेतु करना चाहा तो उनका बहुत मजाक बना, लेकिन उन्होंने अपना लक्ष्य तय कर रखा था। धीरे-धीरे वह आगे बढ़ीं और उनके साथ सैंकड़ों लोगों का कारवां जुड़ता गया। आज हरलाखी विधानसभा क्षेत्र में निर्दलीय उम्मीदवार होने के बावजूद मंदाकिनी के काम की चर्चा हर ओर है।

मंदाकिनी चौधरी से बातचीत का पूरा वीडियो इस लिंक पर क्लिक करके देखें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत झा
देसिल बयना सब जन मिट्ठा

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe