ध्वस्त हुआ मुख़्तार अंसारी का ‘ताजमहल’: गाजीपुर के गजल होटल पर चला योगी सरकार का बुलडोजर, अवैध था निर्माण

'मुख़्तार अंसारी का ताजमहल' कहे जाने वाले गजल होटल पर चला बुलडोजर

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने माफिया विधायक मुख़्तार अंसारी के अवैध साम्राज्य पर अब तक का सबसे करारा प्रहार किया है। गाजीपुर में ‘मुख़्तार अंसारी का ताजमहल’ कहे जाने वाले उसके गजल होटल को ध्वस्त कर दिया गया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भी देवरिया की चुनावी सभा में याद दिलाया था कि कैसे योगी सरकार गुंडे-माफियाओं की अवैध सम्पत्तियों पर बुलडोजर चलवा रही है।

गाजीपुर के गजल होटल को रविवार (नवंबर 1, 2020) की सुबह ध्वस्त किया गया। ये मुख़्तार अंसारी की बीवी और बेटों के नाम पर पंजीकृत है। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नियंत्रक प्राधिकारी बोर्ड विनियमित क्षेत्र गाजीपुर ने शनिवार को गजल होटल के मालिक अब्बास अंसारी व उमर अंसारी की अपील खारिज कर दी। ये दोनों मऊ से 5वीं बार विधायक चुने गए मुख़्तार अंसारी के बेटे हैं। अपील ख़ारिज होने के साथ ही बुलडोजर चलना तय हो गया था।

बोर्ड ने 15 पेज के फैसले में एसडीएम सदर/विनियमित क्षेत्र अधिकारी के ध्वस्तीकरण के फैसले को सही मानते हुए अग्रिम कार्रवाई का आदेश प्रदान कर दिया था। देर रात ही इस आदेश की कॉपी होटल की दीवालों की शोभा बढ़ाने लगी और प्रशासन ने पहले ही दुकानदारों को खाली करने को कह दिया था। होटल को ध्वस्त करने की कार्रवाई देखने आई भीड़ को भी हटाया गया। प्रशासन ने पाया कि ये होटल पूरी तरह अवैध है।

राजस्व जाँच में भी दस्तावेजों के हेरफेर और अनाधिकृत रजिस्ट्री की बात पता चली। यानी, इस होटल के निर्माण के दौरान एक भी नियम-कायदे का पालन नहीं किया गया। गजल होटल के प्रथम तल समेत, सीढ़ी, उत्तर दिशा की दुकानें और बैंक का परिसर सहित कई हिस्सों को ध्वस्त कर दिया गया। होटल में कई अनियमितताएँ मिली थीं और इसका नक्शा भी गड़बड़ पाया गया था। मुख़्तार अंसारी की बीवी व बेटों पर इस मामले में 12 एफआईआर दर्ज हैं।

ज्ञात हो कि सदर एसडीएम की अदालत ने बीते अक्टूबर 8, 2020 को एक सप्ताह का समय देते हुए इसे ध्वस्त करने का आदेश पारित किया था। इसके बाद अंसारी परिवार हाइकोर्ट चला गया। यहाँ उन्हें जिलाधिकारी के यहाँ अपील दाखिल करने का आदेश प्राप्त हुआ था। दो बार हुई सुनवाई के बाद अपील ख़ारिज हो गई। इसके एक भाग में HDFC बैंक चल रहा था, जिसे दूसरी जगह शिफ्ट किया गया। प्रथम तल पूरी तरह ध्वस्त होगा, जबकि निचले तल के कुछ हिस्से बचे रहेंगे।

हाल ही में भाजपा के दिवंगत विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी और मोहम्मदाबाद से भाजपा विधायक अलका राय ने कॉन्ग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा को पत्र लिख कर कहा कि वो उनके पति के हत्यारे मुख़्तार अंसारी को बचाना बंद करें। अलका राय का कहना था कि वह 14 साल से पति की हत्या का इंसाफ पाने के लिए लड़ रही हैं, लेकिन कॉन्ग्रेस उस जुल्मी (मुख़्तार अंसारी) को खुला संरक्षण दे रही है।

ऑपइंडिया स्टाफ़: कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया