Friday, May 14, 2021

धर्म और संस्कृति

25 साल छोटे गुरु के शिष्य, जिनके सामने झुका अकबर भी.. 20 बार हरिद्वार जाने वाले वैष्णव संत कैसे बने सिखों के तीसरे गुरु

अपने से 25 साल छोटे गुरु के लिए अमर दास एक तूफानी रात में व्यास नदी से पानी लेने के लिए निकले। वो गिरे, चोट आई और उस दौरान नींद से जागी एक महिला ने जो कहा...

हिंदू मंदिरों ने कोरोना संकट में लाखों-करोड़ों का किया दान: कहीं कोविड सेंटर की व्यवस्था, कहीं हुआ खाने का इंतजाम

लिस्ट में उन चंद मंदिरों के नाम, जिन्हें पिछले साल से अब तक मीडिया में कवरेज मिली। इनके अलावा तमाम हिंदू मंदिर हैं, जो लगातार प्रयास में...

हम्पी के बादावी लिंग मंदिर के पुजारी श्री कृष्ण भट्ट का निधन: 40 साल से 3 मीटर ऊँचे शिवलिंग की करते थे सेवा

हम्पी के बादावी के लिंग मंदिर और श्रीकृष्ण भट्ट की सबसे खास बात यह थी कि भट्ट 3 मीटर ऊँचे शिवलिंग पर चढ़कर उसकी साफ सफाई करते थे और शिवलिंग को भस्म-विभूति अर्पित करते थे।

उनके पत्थर-हमारे अन्न, उनके हमले-हमारी सेवा: कोरोना की लहर के बीच दधीचि बने मंदिरों की कहानी

देश के कई छोटे-बड़े मंदिर कोरोना काल में जनसेवा में लगे हैं। हम आपको उन 5 मंदिरों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी सेवा ने सबको प्रभावित किया है।

ऑक्सीजन प्लांट लगा रहा श्रीराम मंदिर ट्रस्ट: मंदिरों के रुपयों का हिसाब माँगने वाले गायब, मस्जिद से पत्थरबाजी पर चुप्पी

'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए आगे आया। दशरथ मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन प्लांट...

‘अंजनाद्रि की पहाड़ियों में ही हुआ था हनुमान जी का जन्म’: TTD ने 4 महीने की रिसर्च के बाद रिपोर्ट में किया दावा

आंध्र की 'तिरुपति तिरुमला देवस्थानम ने कहा कि हनुमान जी का जन्म आकाशगंगा जलप्रपात के पास अंजनाद्रि पहाड़ी स्थित जपाली तीर्थम में हुआ था।

हिंदू धर्म-अध्यात्म की खोज में स्विट्जरलैंड से भारत पैदल: 18 देश, 6000 km… नंगे पाँव, जहाँ थके वहीं सोए

बेन बाबा का कोई ठिकाना नहीं। जहाँ भी थक जाते हैं, वहीं अपना डेरा जमा लेते हैं। जंगल, फुटपाथ और निर्जन स्थानों पर भी रात बिता चुके।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आगे आए अखाड़े, कुम्भ समाप्ति की घोषणा: जमातियों से तुलना करने वालों को झटका

निरंजनी अखाड़ा, आनंद अखाड़े ने ये घोषणा की है। दोनों अखाड़ों ने अप्रैल 17 को हरिद्वार में कुम्भ की समाप्ति की घोषणा की। कई अखाड़े आ सकते हैं साथ।

स्वास्तिक को बैन करने के लिए अमेरिका के मैरीलैंड में बिल पेश: हिन्दू संगठन की आपत्ति, विरोध में चलाया जा रहा कैम्पेन

अमेरिका के मैरीलैंड में हाउस बिल के माध्यम से स्वास्तिक की गलत व्याख्या की गई। उसे बैन करने के विरोध में हिंदू संगठन कैम्पेन चला रहे।

हिंदू नववर्ष… सूर्य, चंद्र, पृथ्वी की गति पर आधारित गणना: वो विज्ञान, जिसके दम पर फली-फूली कृषि-सभ्यता

भारतीय विज्ञान की यह विशेषता है कि वह हमेशा प्रत्यक्ष और प्रकृति से समन्वय बनाकर चलता है। इसलिए काल की गणनाएँ भी इससे ही जुड़ी हुई हैं।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,357FansLike
93,847FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe