‘अगर वह लड़की महाराष्ट्र से माफी माँगती है तो…’ – कंगना रनौत पर ‘हरामखोर’ गाली वाले संजय राउत का बयान

संजय राउत ने कंगना को दी धमकी

सुशांत सिंह मामले को हत्या और गहरी साजिश बताने वाले लोगों पर लगातार महाराष्ट्र सरकार पलटवार करते हुए नजर आ रही है। इसी बीच बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग लगातार तेज होती जा रही है। वहीं राउत अब कंगना को गाली (हरामखोर) देने के बाद उन्हें धमकी देने पर उतारू हो गए हैं।

कंगना के महाराष्ट्र पुलिस और सरकार पर दिए गए बयान से संजय राउत इतना बौखला गए हैं कि वह कब क्या बोल रहे, उन्हें खुद भी नहीं पता। राउत ने अब सोशल मीडिया के जरिए कंगना पर निशाना साधा है। माना जा रहा है कि उन्होंने ट्वीट के जरिए कंगना को धमकाने की कोशिश की है।

राउत ने ट्वीट किया, “मेरी हिम्मत को परखने की गुस्ताखी न करना, पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चुका हूँ”।

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना पर दिए गए अपने किसी भी बयान पर माफी माँगने से साफ इनकार कर दिया है। अभिनेत्री के साथ किए गए गाली गलौच को लेकर राउत ने मीडिया से कहा, “अगर वह लड़की महाराष्ट्र से माफी माँगती है तो मैं माफी माँगने के बारे में सोचूँगा।” उन्होंने आगे कहा,”‘वह मुंबई को मिनी पाकिस्तान कहती है। क्या उसमें हिम्मत है कि वह यही बात अहमदाबाद के लिए कह दे?”

गौरतलब है कि शनिवार (सितंबर 5, 2020) को संजय राउत ने सारी हदें पार करते हुए कैमरे के सामने कंगना रनौत को गाली (हरामखोर) दे दी। इससे पहले शिवसेना के एक विधायक ने कंगना की टाँग तोड़ने की धमकी दी थी। न्यूज़ नेशन रिपोर्टर द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या वह कंगना रनौत को मुंबई में प्रवेश से रोकने के लिए गैरकानूनी कदम उठाएँगे, संजय राउत ने जवाब दिया, “महाराष्ट्र सिर्फ शिवसेना की जागीर नहीं है, सभी पार्टियों की है। हम सब मिल कर तय करेंगे।”

जब रिपोर्टर ने यह पूछा कि क्या वह कानून के खिलाफ कोई कदम उठाएँगे, संजय राउत ने कहा, “क्या होता है कानून? उस लड़की ने जिस तरह से बात किया, क्या वह कानून के लिए सम्मान था? आप क्या उस ‘हरामखोर’ लड़की की वकीली कर रहे हैं। जिसने शिवाजी महाराज का अपमान किया, जिसने महाराष्ट्र का अपमान किया है, आपका चैनल उसकी तरफदारी कर रहा है।”

उल्लेखनीय है कि संजय राउत की हर टिप्पणी पर कंगना ने मुंहतोड़ जवाब देने की कोशिश की है। कंगना रनौत ने राउत का जवाब देते हुए ट्वीट कर लिखा, “2008 में मूवी माफिया ने मुझे एक साइको घोषित कर दिया था। इतना ही नहीं 2016 में उन्होंने मुझे एक चुड़ैल कहा और 2020 में महाराष्ट्र के मंत्री ने मुझे हरामखोर लड़की का खिताब दिया। इन सभी लोगों ने मेरे साथ ऐसा इसलिए किया क्योंकि मैंने कहा कि एक हत्या के बाद मैं मुंबई में असुरक्षित महसूस करती हूँ। इस वक्त डिबेट करने वाले योद्धा कहाँ हैं?”

ऑपइंडिया स्टाफ़: कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया