Thursday, July 29, 2021

विषय

indira gandhi

अमिताभ को राजनीति में नहीं लाना, माधवराव को मंत्री नहीं बनाना: इंदिरा ने बेटे राजीव से कहा था, माखनलाल का हवाला-किताब में दावा

इंदिरा गाँधी ने अपनी मौत से पहले राजीव को दो सलाह दी थी। इसमें से एक ज्योतिरादित्य सिंधिया के दिवंगत पिता माधवराव को लेकर भी थी।

तंग कोठरी, पेशाबघर के नाम पर छेद और वो चीखें जो वाजपेयी ने सुनी थी: प्रताड़ना ऐसी की रूह काँप जाए

नाम था, स्नेहलता रेड्डी। कन्नड़ अभिनेत्री। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता। लेकिन उसे घोर यातनाएँ दी गई क्योंकि उसने इंदिरा के सामने घुटने टेकने से इनकार कर दिया था।

इंदिरा गाँधी की हत्या में शामिल केहर सिंह का बेटा DSGMC चुनावों में अकाली दल का उम्मीदवार: ‘शहीद’ बताकर माँगा आशीर्वाद

बेअंत सिंह की पत्नी बिमल कौर खालसा ने केहर सिंह के विरुद्ध अपने बयान में कहा कि 17 अक्टूबर 1984 को बेअंत सिंह और केहर सिंह ने घर की छत पर इंदिरा गाँधी की हत्या की साजिश रची।

बांग्लादेश में PM मोदी के भाषण पर ट्वीट कर फँसे कॉन्ग्रेस के MP शशि थरूर, कहना पड़ा ‘सॉरी’

कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर ने अपने एक ट्वीट को लेकर माफी माँग ली है। यह ट्वीट उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बांग्लादेश दौरे के दौरान दिए गए एक भाषण को लेकर किया था।

‘बॉलीवुड माफिया’ को चुनौती देने वालीं कंगना रनौत बनेंगी इंदिरा गॉंधी

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत साईं कबीर द्वारा अभिनीत पॉलिटिकल ड्रामा में पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की भूमिका निभाने जा रही हैं।

दादी इंदिरा के बाद प्रियंका को याद आई गाय: CM योगी को मात देने गाय बचाओ यात्रा… लेकिन पैदल मार्च करेंगे कोई और नेता!

कॉन्ग्रेस उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर पदयात्रा की योजना बना रही है और निशाने पर होंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। इस पदयात्रा के ज़रिए कॉन्ग्रेस एक और मुद्दे को साधना चाहती है, ‘गौरक्षा’।

‘इंदिरा सरकार के कारण देश छोड़ना पड़ा, पति ने दम तोड़ दिया’: आपातकाल के जख्म लेकर 94 साल की विधवा पहुँचीं सुप्रीम कोर्ट

आजाद भारत के इतिहास में आपातकाल का काला दौर आज भी लोगों की स्मृतियों से धुँधला नहीं हुआ है। यही वजह है कि 94 साल की विधवा वीरा सरीन 45 साल बाद इंसाफ माँगने सुप्रीम कोर्ट पहुँची हैं।

ये कौन से किसान हैं जो कह रहे ‘इंदिरा को ठोका, मोदी को भी ठोक देंगे’, मिले खालिस्तानी समर्थन के प्रमाण

मीटिंग 3 दिसंबर को तय की गई है और हम तब तक यहीं पर रहने वाले हैं। अगर उस मीटिंग में कुछ हल नहीं निकला तो बैरिकेड तो क्या हम तो इनको (शासन प्रशासन) ऐसे ही मिटा देंगे।

डूब कर मर गया जयप्रकाश, जिंदा है सोनकलिया, दोनों को दादी ने छला; हाथरस में वही हाथ दिखा रहे पोता-पोती

वादा तो टूट जाता है... बाकी उनके किए वादे कितनी जल्दी टूटते हैं, ये तो बिहार चुनावों के बीतने तक दिख ही जाएगा!

सुपर कम्युनिस्ट शास्त्री: बेटी इंदिरा के हाथ में देश सौंपने के लिए नेहरू ने मृत्यु से पहले ही कर लिए थे पूरे इंतजाम

"..अपनी बेटी को PM पद के लिए तैयार किया जाना था, फिर मोरारजी देसाई और जगजीवन राम – दो महत्वाकांक्षी, सक्षम और प्रभावशाली प्रतिद्वंद्वियों को हटाना, और अंत में.."

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,739FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe