Thursday, July 18, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेकअयोध्या धाम पर राहुल गाँधी के हर झूठ का CM योगी आदित्यनाथ ने किया...

अयोध्या धाम पर राहुल गाँधी के हर झूठ का CM योगी आदित्यनाथ ने किया फैक्ट चेक, कहा- प्रभावितों को ₹1733 करोड़ मुआवजा मिला: कॉन्ग्रेस को बताया झूठ का पुलिंदा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में मुआवजा न देने के राहुल गाँधी के बयान को भ्रम फैलाने वाला और अयोध्या को बदनाम करने की साजिश का हिस्सा बताया।

कॉन्ग्रेस नेता और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष राहुल गाँधी ने अयोध्या में विकास कार्यों के दौरान लोगों को बेघर करने और मुआवजा न देने की बात फर्जी बातें कहकर सरकार को घेरने की कोशिश की थी, जिसे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरी तरह से खारिज कर दिया और राहुल गाँधी के फर्जी दावों को पोल खोल दी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में मुआवजा न देने के राहुल गाँधी के बयान को भ्रम फैलाने वाला और अयोध्या को बदनाम करने की साजिश का हिस्सा बताया। उन्होंने अयोध्या के हर काम के दौरान दिए गए मुआवजे की पूरी जानकारी भी दी। सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या में 1733 करोड़ रुपए तो सिर्फ मुआवजे में दिए गए हैं।

सीएम योगी ने दिया मुआवजे का ब्यौरा

राहुल गाँधी और विपक्ष के दावों का खंडन करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में दिए गए मुआवजे के आँकड़े विस्तार से दिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने शहर और उसके आसपास विभिन्न विकास परियोजनाओं से विस्थापित व्यक्तियों को मुआवजे के रूप में 1,733 करोड़ रुपए दिए गए हैं।

  • भक्ति पथ से प्रभावित आवासीय घरों के लिए ₹23.66 करोड़।
  • हेलीपैड और सड़क परियोजना के लिए ₹119.20 करोड़।
  • एनएच 227बी परियोजना के लिए ₹21.09 करोड़।
  • अयोध्या बाईपास (रिंग रोड) के लिए ₹295 करोड़।
  • आवासीय और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों के लिए ₹114.69 करोड़।
  • राम जन्मभूमि से संबंधित विस्थापितों के लिए ₹14.12 करोड़।
  • पंचकोसी परिक्रमा पथ के लिए ₹29 करोड़।
  • एनएच 330ए के निर्माण के लिए ₹163.90 करोड़।
  • रुदौली-रोजागाँव रेलवे स्टेशन दोहरीकरण परियोजना के लिए ₹35.03 लाख।

सीएम योगी ने इस बात पर जोर दिया कि सरकार ने इस प्रक्रिया में अपनी जमीन, दुकान या घर खोने वाले सभी प्रभावित व्यक्तियों को पर्याप्त मुआवजा दिया है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों की दुकानें चली गईं, लेकिन उनके पास पुनर्निर्माण के लिए जमीन नहीं थी, उन्हें दूसरी जगह पर जमीन भी दी गई है। उन्होंने बताया कि अयोध्या में कुल 21,548 व्यक्तियों को मुआवजा दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “आज जब अयोध्या पुनः अपना गौरव स्थापित कर रही है और पूरी दुनिया को आकर्षित कर रही है, तो कॉन्ग्रेस इसे अच्छा कैसे मान सकती है? कॉन्ग्रेस झूठ का पुलिंदा है। सच्चाई यह है कि अयोध्या के लोगों को 1,733 करोड़ रुपए सिर्फ मुआवजे के रूप में दिए गए हैं। रामपथ हो, भक्तिपथ हो, जन्मभूमि पथ हो या फिर एयरपोर्ट, जिनकी जमीन, दुकान और मकान इसमें शामिल थे, उन्हें मुआवजा दिया गया है। जिनके पास पीछे दुकान बनाने के लिए जगह थी, उनकी दुकानें बनाई गईं और जिनके पास जगह नहीं थी, उन्हें मल्टीलेवल कॉम्प्लेक्स बनाकर दुकानें देने का काम आगे बढ़ाया गया।”

सीएम योगी ने राहुल गाँधी की आलोचना करते हुए कहा कि वे जानबूझकर जनता को गुमराह करने और अयोध्या की छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस पार्टी पर ऐतिहासिक रूप से पवित्र शहर के विकास की उपेक्षा करने और इसके सांस्कृतिक महत्व का विरोध करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी ने अपने शासन के दौरान अयोध्या को “निर्वासित” कर दिया और सरयू नदी को खून से रंग दिया।

माफी माँगें राहुल गाँधी: सीएम योगी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने राहुल गाँधी से सार्वजनिक रूप से माफ़ी माँगने की माँग की। उन्होंने राहुल गाँधी के बयान को भारत के लाखों हिंदुओं की भावनाओं को गहरी ठेस पहुँचाने वाला बताया। उन्होंने कॉन्ग्रेस नेता से अपनी अपरिपक्व टिप्पणियों के लिए माफ़ी माँगने के लिए कहा, साथ ही कहा कि ऐसे बयानों से राहुल की समझ और नेता के रूप में परिपक्वता की कमी का पता चलता है।

सीएम योगी ने यह भी कहा कि हिंदू धर्म भारत की पहचान और आत्मा का अभिन्न अंग है। यह जाति और समुदाय से परे है। तुष्टीकरण की राजनीति में लिप्त होने के लिए कॉन्ग्रेस की आलोचना करते हुए सीएम योगी ने कहा कि राहुल गाँधी से बेहतर उम्मीद रखने वालों को अब उनकी अपरिपक्वता को पहचानना चाहिए।

अयोध्या पर संसद में राहुल गाँधी का झूठा बयान

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर अपने “धन्यवाद प्रस्ताव” वक्तव्य के दौरान विपक्ष के नेता राहुल गाँधी ने कहा था, “मोदी ने अयोध्या के लोगों में डर पैदा किया, उन्होंने उनकी ज़मीन छीन ली। उनके घर तोड़ दिए और अयोध्या के ग़रीबों और किसानों को मंदिर के उद्घाटन में शामिल नहीं होने दिया। लोगों ने उन्हें सही संदेश दिया।”

राहुल गाँधी की टिप्पणियों को बीजेपी ने पूरी तरह से खारिज कर दिया। यही नहीं, राहुल गाँधी ने अपने बयान के दौरान हिंदुओं को हिंसक तक कह दिया था, जिसपर पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह तक को आपत्ति जताना पड़ा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -