Monday, May 20, 2024
18 कुल लेख

Harish Chandra Srivastava

Spokesperson of Bharatiya Janata Party, Uttar Pradesh

राम अनादि अखंड अनंता: वातावरण में प्रभु श्री राम हैं व्याप्त, सनातन संस्कृति का पुनर्जागरण काल

वातावरण में प्रभु श्री राम व्याप्त हैं। अयोध्या में दिव्य, भव्य मंदिर का होने वाला लोकार्पण सुखद क्षण है। भारत के लिए यह अमृत काल है।

5 साल में एक भी दंगा नहीं, महिला सुरक्षा भी अभूतपूर्व: योगी सरकार 2.0 के पहले बजट में रफ्तार और भी तेज

वर्ष 2022-23 के बजट में कानून-व्यवस्था और महिला सुरक्षा योगी सरकार की प्राथमिकता है। 1535 थानों पर 'महिला हेल्प डेस्क' की स्थापना और...

28000 शिवालयों में पूजा, 5 लाख घरों में प्रसाद वितरण: PM मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट से यूँ बदल गई अवधूत की क्रीड़ास्थली, दिखेगा इतिहास

एक समय में लगभग 4000 लोग इस रोप-वे पर यात्रा कर पाएँगे। विश्व में यह सेवा अभी तक केवल बोलीविया के लाल पाज और मेक्सिको की राजधानी में ही है।

‘अब मथुरा की तैयारी…’ यह आह्वान भगवान श्रीकृष्ण की चेतना को जन-जन तक पहुँचाने का सराहनीय प्रयास

तुष्टीकरण की नीति के कारण हिंदुओं के संवैधानिक अधिकारों का हनन अनुचित है और संवैधानिक रूप से इस अन्याय से मुक्ति मिलनी चाहिए।

70 साल में 160 Km और साढ़े 4 साल में 1500 Km सड़कें, बेरोजगारी दर 17 से सीधा 4 पर: यूपी में यूँ कमाल...

उत्तर प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2015-16 के 43,000 रुपए की तुलना में वर्ष 2021 में आज दोगुने से भी अधिक 95,000 रुपए हो गया है।

आत्मनिर्भर प्रदेश से हासिल होगा आत्मनिर्भर भारत का लक्ष्य, टूटेगी चीन की कमर: वॉलेट से साजिशों को जवाब देने का अभियान

आत्मनिर्भर उत्तरप्रदेश रोजगार अभियान अन्य राज्यों के लिए अनुकरणीय उदाहरण बन सकता है। चीन के षड्यंत्र को दिया जा सकता है समुचित प्रत्युत्तर।

कोरोना संकट में भी सरकार का साथ देती नजर आई जनता, विपक्ष उलझा रहा राजनीति में

जनता ने इस महामारी से निपटने में जितनी समझदारी, संयम और सहयोग दिया है, विपक्षी राजनीतिक दलों की ओर से उतना ही असहयोगी रूख रहा है।

बाबासाहब आजादी से पहले ही भाँप गए थे वहाबियों के खतरे को, चंद कॉन्ग्रेसी नेताओं ने दबा दी थी उनकी आवाज

"मुस्लिमों के लिए हिंदू काफिर है। मुस्लिमों की दृष्टि में काफिर सम्मान के योग्य नहीं होता है, उसकी कोई सामाजिक स्थिति भी नहीं होती है। अत: जिस देश में काफिरों का शासन हो, वह स्थान म्मुस्लिमों के लिए दारुल-हर्ब है। ऐसी स्थिति में यह सिद्ध करने की आवश्यकता नहीं बचती कि मुस्लिम गैर-मुस्लिम के शासन को स्वीकार नहीं कर पाएँगे। इसलिए भारत और पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की पूर्ण अदला-बदली ही क्षेत्र में शांति व सौहार्द रख सकती है।''