Friday, July 10, 2020
44 कुल लेख

Nupur J Sharma

Editor, OpIndia.com since October 2017

रतन लाल की हत्या से पहले इस्लामी भीड़ ने 2 और पुलिसकर्मियों को बनाया था बंधक: दिल्ली दंगों की चार्जशीट

जिस भीड़ ने रतन लाल की निर्दयता से हत्या कर दी थी उसी इस्लामी भीड़ ने टेंट में दो अन्य पुलिसकर्मियों को भी बंधक बना लिया था।

रिक्शा दुकान की छत से हुआ था कारतूस का इस्तेमाल: कॉन्स्टेबल रतन लाल की हत्या में दायर चार्जशीट से खुलासा

दिल्ली में हुई व्यापक हिंसा एक साजिश थी जिसमें इस्लामिक भीड़ ने रतन लाल को मौत के घाट उतारा।

इजरायल को गाली और रोहिंग्या को ताली: दक्षिण अफ्रीका के एक अभियान में आनंद शर्मा का नाम, भारतीय हितों की अनदेखी

8 पैनलिस्टों में से 7 दक्षिण अफ्रीका के थे जबकि सिर्फ़ एक भारत से और वो हैं आनंद शर्मा। कॉन्ग्रेस के जाने-माने नेता। आनंद शर्मा ने डिस्कशन में हिस्सा भी लिया।

विकीपीडिया vs ऑपइंडिया: वामपंथी नैरेटिव और गिरोह की साजिश, ऑपइंडिया के खिलाफ यूँ खेला जा रहा खेल

विकीपीडिया पर ऑपइंडिया का पेज इतना नेगेटिव क्यों है? ये वो सवाल है जिसके बारे में लोगों ने हमसे कई बार पूछा। लेकिन, इस सवाल जवाब बेहद सरल है। वो ये कि हमने एक बने-बनाए इकोसिस्टम को चुनौती दी।

लेबर पार्टी और ईसाई संस्थाओं के टट्टुओं का समूह है ‘स्टॉप फंडिंग हेट’: भारत-विरोधी जेरेमी कोर्बिन से है सम्बन्ध

'स्टॉप फंडिंग हेट' एक ऐसी संस्था है,जो चाहती है कि मीडिया वही करे, जिसकी वह 'अनुमति' दे। ये वामपंथियों का एक समूह है, जो भारत में दखल दे रहा है।

हलाल पर सवाल उठाने पर ऑपइंडिया के खिलाफ दुष्प्रचार: रेवेन्यू का गम नहीं, पाठकों का समर्थन जरूरी

हलाल पर लेख के कारण 'स्टॉप फंडिंग हेट' नामक ट्विटर हैंडल ने हमारे खिलाफ़ दुष्प्रचार का ठेका ले लिया है। ऑपइंडिया के आर्थिक बहिष्कार करने का अभियान चला रखा है, लेकिन हम अपने लेख पर शत-प्रतिशत कायम हैं।

झूठइ लेना, झूठइ देना: SC की सुनवाई के बाद शेखर गुप्ता के द प्रिंट ने श्रमिक ट्रेनों के किराए पर परोसा झूठ

द प्रिंट ने विपक्ष को फेक न्यूज फैलाने के गुर बताए थे। इस पर अमल करते हुए उसने श्रमिक ट्रेनों के किराए को लेकर मनगढ़ंत कहानी पेश की है।

श्रमिक ट्रेनों में 31 नवजात शिशुओं की गूँजी किलकारियाँ: यात्रा के साथ चल रहा है जीवन चक्र

श्रमिक ट्रेनों में गृहराज्य जाने के रास्ते में 31 नवजात शिशुओं ने जन्म लिया। सबसे पहले 10 मई को सूरत से प्रयागराज जाते वक्त केतकी सिंह ने बच्चे को जन्म दिया।

हमसे जुड़ें

237,463FansLike
63,336FollowersFollow
272,000SubscribersSubscribe