Thursday, January 27, 2022

विषय

Subhas Chandra Bose

1942 में पहली बार नेताजी सुभाषचंद्र बोस के सामने गाया गया था ‘जन गण मन’, 1950 से पहले देश के पास नहीं था राष्ट्रगान

1942 में जर्मनी के हैम्बर्ग में इंडो-जर्मन एसोसिएशन की शुरुआत के दौरान हैम्बर्ग के मेयर और नेताजी की उपस्थिति में पहली बार इसे बजाया गया।

‘मेरे पिता जीवित होते तो पाकिस्तान नहीं बन पाता’: नेताजी बोस की बेटी ने PM मोदी के फैसले का किया स्वागत

सुभाष चंद्र बोस की बेटी अनीता बोस अपने पिता की इंडिया गेट पर होलोग्राम प्रतिमा स्थापित किए जाने पर खुश हैं। उन्होंने इसे स्वागत योग्य बताया।

‘योगदान को मिटाने की हुई कोशिश, अब डंके की चोट पर…’: इंडिया गेट पर नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा का PM मोदी ने किया अनावरण

"ये दुर्भाग्य रहा कि आजादी के बाद देश की संस्कृति और संस्कारों के साथ ही अनेक महान व्यक्तित्वों के योगदान को मिटाने का काम किया गया।"

‘हमारे पास ऐसे दस्तावेज, जो बहुत कम लोगों को पता होंगे’: ताइवान ने भारतीय शोधार्थियों के लिए नेताजी पर रिसर्च के लिए अपने अभिलेखागार...

ताइवान के राजनयिक ने कहा कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस और स्वतंत्रता आंदोलन पर कई ऐतिहासिक दस्तावेज हैं, जिनके बारे भारतीयों को पता नहीं होगा।

जहाँ कभी थी ब्रिटिश सम्राट जॉर्ज पंचम की स्टैच्यू, वहाँ अब नेताजी बोस की भव्य प्रतिमा: ‘पराक्रम दिवस’ पर PM मोदी ने किया अनावरण

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया गेट पर उनकी आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया।

‘गाँधी के शांति आंदोलन के कारण नहीं, नेताजी की वजह से मिली स्वतंत्रता’: नेताजी के भतीजे अर्धेंदु बोस ने कहा- इंग्लैंड के पूर्व PM...

सुभाष चंद्र बोस के भतीजे अर्धेंदु बोस ने कहा, "गाँधी के शांति आंदोलन के कारण नहीं, नेताजी और आजाद हिंद फौज के कराण भारत को स्वतंत्रता मिली।"

नेहरू ने नेताजी पर द्वीप का नाम रखने का प्रस्ताव ठुकरा दिया, संसद में कॉन्ग्रेस ने बोस को बताया था ‘आतंकी’: PM मोदी दे...

आज़ादी के आबाद अंडमान द्वीप का नाम परिवर्तित कर उसे सुभाष चन्द्र बोस के नाम पर ‘सुभाष-द्वीप’ रखने के सुझाव को नेहरू ने अनदेखा कर दिया।

नेताजी को काबू नहीं कर पा रहे थे गाँधी, नेहरू का पक्ष लिया: सुभाष चंद्र बोस की बेटी अनीता बोस बोलीं- कॉन्ग्रेस ने उनके...

नेताजी की बेटी अनीता बोस के मुताबिक, नेताजी सुभाषचंद्र बोस का एकमात्र उद्देश्य देश को आजाद कराना था। इसीलिए वो हिटलर और मुसोलिनी से मिले थे।

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद नेताजी को जहर दिया? उन पर किताब लिखने वाले अनुज धर का संदेह

पूर्व पत्रकार अनुज धर ने एक ट्वीट कर सोशल मीडिया पर विवाद खड़ा कर दिया है। धर ने नेताजी पर 'कुन्ड्रम: सुभाष बोस लाइफ आफ्टर डेथ' नाम से किताब लिखी है।

नेताजी के बदले एक्टर प्रसनजीत चटर्जी के पोट्रेट का राष्ट्रपति कोविंद ने कर दिया अनावरण? फैक्टचेक

लिबरल गिरोह नेताजी की उस पोट्रेट पर सवाल उठा रहे हैं जिसका अनावरण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनकी 125वीं जयन्ती के मौके पर 23 जनवरी को किया था।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,925FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe