Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजAIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज, माफी माँगते हुए कहा-...

AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज, माफी माँगते हुए कहा- ठेस पहुँची, तो शब्द वापस लेता हूँ; पहले बोला था- ‘हिंदू 40 की उम्र तक रखते हैं कई बीवियाँ’

हिंदुओं पर अजमल की विवादित टिप्पणी के बाद हिंदू युवा छात्र परिषद ने बदरुद्दीन अजमल के खिलाफ नौगाँव सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में हिंदुओं के खिलाफ गलत बयानबाजी करने की बात कही गई है।

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के अध्यक्ष मौलाना बदरुद्दीन अजमल के हिंदुओं पर दिए विवादित बयान के बाद असम में बवाल मच गया है। हिंदू लड़कियों पर की गई विवादित टिप्पणी को लेकर अजमल फँसते नजर आ रहे हैं। असम के हिंदू युवा छात्र परिषद ने अजमल की टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ नौगाँव सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। विवाद बढ़ने के बाद बदरुद्दीन अजमल ने माफी भी माँगी है।

बदरुद्दीन अजमल ने हिंदुओं के खिलाफ दिया था विवादित बयान

शुक्रवार (03 दिसंबर, 2022) को अजमल ने हिंदुओं पर विवादित बयान देते हुए हिंदुओं को बच्चों के मामले में मुसलमानों का फॉर्मूला अपनानने की नसीहत दी थी। अजमल ने कहा था कि हिंदू लड़कियों का 40 साल की उम्र तक विवाह नहीं होता। वो (हिंदू) लोग 40 साल से पहले गैरकानूनी तरीके से 2-3 बीवियाँ रखते हैं। 40 साल के बाद उनमें बच्चा पैदा करने की क्षमता नहीं रहती है। उनको (हिंदुओं) को मुसलमानों के फॉर्मूले को अपनाकर अपने बच्चों की 18-20 साल की उम्र में शादी करा देनी चाहिए।

अजमल के खिलाफ शिकायत दर्ज

हिंदुओं पर इस विवादित टिप्पणी को लेकर हिंदू युवा छात्र परिषद ने बदरुद्दीन अजमल के खिलाफ नौगाँव सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में हिंदुओं के खिलाफ गलत बयानबाजी करने की बात कही गई है।

AIUDAF चीफ ने माँगी माफी

विवाद बढ़ने के बाद बदरुद्दीन अजमल ने माफी माँगी है। अजमल ने कहा, “अगर मेरे शब्दों से किसी की भावना को ठेस पहुँची है तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूँ।” उन्होंने कहा, “मेरा इरादा किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाने का नहीं था। मैं सिर्फ इतना चाहता हूँ कि सरकार अल्पसंख्यकों के साथ भी न्याय करे और उन्हें शिक्षा और रोजगार दे।”

बयान के बाद से ही बीजेपी हमलावर

अजमल का विवादित बयान सामने आने के बाद से ही भाजपा हमलावर है। बीजेपी एमएलए दिगंत कलिता के बाद भाजपा प्रवक्ता रंजीव कुमार शर्मा ने भी बदरुद्दीन अजमल के बयान की निंदा की है। शर्मा ने कहा कि अजमल औरंगजेब का दूसरा संस्करण है और उनकी इन बातों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भाजपा सांसद पबित्रा मार्गेरिता ने कहा, ये शब्द असंवैधानिक हैं और सभ्य समाज में स्वीकार नहीं किए जा सकते। उन्होंने कहा कि सरकार को इस इस्लामी एजेंडे के खिलाफ कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। ऐसे लोगों को खुले में नहीं छोड़ा जा सकता। भाजपा ने अजमल से मौलाना की पदवी भी वापस लेने की माँग की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -