Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीतिलोकसभा चुनाव 2024: दूसरे चरण की 89 सीटों पर मतदान, 1198 उम्मीदवारों का फैसला...

लोकसभा चुनाव 2024: दूसरे चरण की 89 सीटों पर मतदान, 1198 उम्मीदवारों का फैसला करेंगे मतदाता, मैदान में 5 केंद्रीय मंत्री और 3 राजघरानों के वारिस

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा के बेटे और पूर्व सीएम एचडी कुमार स्वामी, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राजस्थान में पूर्व सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत की किस्मत का फैसला भी ईवीएम में कैद हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव 2024 के दूसरे चरण के लिए शुक्रवार को मतदान कराया जाएगा। इस चरण में लोकसभा की 89 (88 + 1 मणिपुर) क्षेत्रों में मतदान होगा। इस चरण के मतदान में 5 केंद्रीय मंत्रियों की सियासत दाँव पर है, तो 3 राजघरानों के वारिस भी लोकतंत्र के इस पर्व में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। देश की कुल 89 लोकसभा सीटों पर शुक्रवार की शाम तक उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला ईवीएम में कैद हो जाएगा। लोकसभा चुनाव के दूसरे दौर के लिए सर्वाधिक 20 सीटें केरल में हैं, जिसमें राहुल गाँधी की वायनाड सीट भी शामिल है।

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा के बेटे और पूर्व सीएम एचडी कुमार स्वामी, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राजस्थान में पूर्व सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत, केरल में पूर्व सीएम और पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी के बेटे अनिल एंटनी के बेटे की किस्मत का फैसला भी ईवीएम में कैद हो जाएगा। इसके साथ ही 3 राजपरिवारों के वारिसों का फैसला भी ईवीएम में कैद होगा, उनके नाम हैं- झालावाड़-बारां से BJP उम्मीदवार दुष्यंत सिंह, जो धौलपुर राजपरिवार से हैं। इसके अलावा कर्नाटक के मैसूर से राजपरिवार के यदुवार कृष्ण दत्त वाडियार और बीजेपी की तरफ से ही त्रिपुरा राजपरिवार के कृति देव बर्मन।

मैदान में 5 केंद्रीय मंत्री

दूसरे चरण में 5 केंद्रीय मंत्री चुनाव मैदान में हैं, जिसमें केरल की अटिंगल सीट से वी. मुरलीधरन, केरल की तिरुवनंतपुरम सीट से राजीव चंद्रशेखर, राजस्थान की जोधपुर लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, राजस्थान के बाड़मेर से केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी और बेंगलुरु उत्तर सीट से केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे चुनाव मैदान में हैं। इस चरण के मतदान में कुल 1198 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर है। बाहरी मणिपुर लोकसभा के भी चार उम्मीदवारों को जोड़ें तो कुल संख्या 1202 हो जाती है। चूँकि बाहरी मणिपुर लोकसभा सीट पर दो चरणों में मतदान कराया जा रहा है, जिसमें आधे इलाकों में पहले चरण में मदतान कराया जा चुका है।

इन राज्यों में होगा मतदान

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 89 सीटों पर 26 अप्रैल को मतदान होना है, इनमें केरल की (20) सीटों, कर्नाटक (14), राजस्थान (13), महाराष्ट्र (8), उत्तर प्रदेश (8), मध्य प्रदेश (7), असम (5), बिहार (5) हैं, तो छत्तीसगढ़ (3), पश्चिम बंगाल (3), मणिपुर, त्रिपुरा और जम्मू-कश्मीर में 1-1 सीट पर भी मतदान कराया जाएगा। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में इन 88 में से 52 सीटें भाजपा ने जीतीं थीं। वहीं कांग्रेस को 18 और शिवसेना और जदयू को चार-चार सीटों पर सफलता मिली थी। इसके अलावा 10 सीटें अन्य के खाते में गई थी।

उत्तर प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों पर चुनाव

लोकसभा चुनाव में दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर शुक्रवार को मतदान होगा। अमरोहा, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बुलंदशहर, अलीगढ़ और मथुरा लोकसभा सीट के 1.67 करोड़ मतदाता 91 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे, जिसमें 10 महिला प्रत्याशी हैं। गौतम बुद्ध नगर व मथुरा सीट पर सर्वाधिक 15-15 और बुलंदशहर में सबसे कम छह प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। पिछले चुनाव में इन आठ सीटों में से सात भाजपा और एक बसपा की झोली में गई थीं।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव सात चरणों में हो रहे हैं। पहले चरण में 102 सीटों पर 19 अप्रैल को वोटिंग हुई थी। सातवें और अंतिम चरण में 1 जून को वोटिंग होनी है। लोकसभा चुनाव के नतीजे 4 जून को मतगणना के बाद आएँगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -