हरियाणा में खट्टर खड़ी करेंगे कॉन्ग्रेस की खटिया, 71-75 सीटों से सत्ता में लौटेगी भाजपा: Exit Polls

सीएनएन-न्यूज 18 द्वारा किए गए एग्जिट पोल के मुताबिक, हरियाणा में बीजेपी कुल 90 विधानसभा सीटों में 75 तक जीत सकती है। कॉन्ग्रेस के खाते में 15 और आईएनएलडी को शून्य सीट मिलने का अनुमान है।

लोकसभा चुनाव के बाद देश दो राज्यों के चुनाव का बेसब्री से इंतजार कर रहा था। इसमें हरियाणा और महाराष्ट्र राज्य के विधानसभा चुनाव शामिल हैं जहाँ की जनता ने आज अपने-अपने राज्य के अगले पाँच साल के शासन का भविष्य तय कर दिया। हरियाणा में कुल 90 सीटें हैं जिनपर करीब 1169 उम्मीदवारों ने मैदान में बाज़ी लगाई। इन सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी और कॉन्ग्रेस बिना किसी चुनाव पूर्व गठबंधन के साथ लड़ने के लिए मैदान में उतरी हैं। बता दें कि इस राज्य में करीब 1 करोड़ 82 लाख 82 हज़ार 570 वोट हैं। वहीं सरकार बनाने के लिए बहुमत का ज़रूरी आँकड़ा 46 है।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस एग्जिट पोल में तो कॉन्ग्रेस पार्टी को महज़ 15 से 19 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं दुष्यंत चौटाला की जेजेपी पार्टी और आईएनएलडी की स्थिति ठीक नहीं बताई जा रही है, विश्लेषकों का मानना है कि उसके खाते में 0 से 1 सीट आ रही है।

रिपब्लिक के अनुसार बीजेपी को 52, कॉन्ग्रेस पार्टी को 15 से 19 सीटें मिल सकती हैं। वहीं इसी सर्वे में दुष्यंत चौटाला की पार्टी को 5-9 सीटें मिल सकती हैं साथ ही अन्य के खाते में 10 सीटों का अनुमान लगाया गया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

सीएनएन-न्यूज 18 द्वारा किए गए एग्जिट पोल के मुताबिक, हरियाणा में बीजेपी कुल 90 विधानसभा सीटों में 75 तक जीत सकती है। कॉन्ग्रेस के खाते में 15 और आईएनएलडी को शून्य सीट मिलने का अनुमान है।

एबीपी के सर्वे के मुताबिक एग्जिट पोल में हरियाणा में बीजेपी 72 और कॉन्ग्रेस 8 सीटें जीत सकती है। वहीं बताया यह भी जा रहा है कि अन्य के खाते में 10 सीटें जाने का अनुमान है।

टाइम्स नाऊ ने अपने एग्जिट पोल में बीजेपी को 71 और कॉन्ग्रेस को 11 सीटें दी हैं वहीं अन्य के खाते में 8 सीटें जाती दिख रही हैं। इसी तरह TV9 भारतवर्ष-सिसेरो के एग्जिट पोल में बीजेपी को 69 और कॉन्ग्रेस को 11 सीटें मिलने का अनुमान है, जबकि अन्य के खाते में 10 सीटें जाने का अनुमान लगाया जा रहा है। बता दें कि हरियाणा के चुनाव के लिए आज यानी सोमवार (21 अक्टूबर) को मतदान किया गया। इस चुनावी मैदान में दो राष्ट्रीय पार्टियाँ भाजपा और कॉन्ग्रेस को जाट-बहुल सीटों पर राज्य की स्थानीय पार्टियों से सीढ़ी टक्कर का सामना करना है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"हिन्दू धर्मशास्त्र कौन पढ़ाएगा? उस धर्म का व्यक्ति जो बुतपरस्ती कहकर मूर्ति और मन्दिर के प्रति उपहासात्मक दृष्टि रखता हो और वो ये सिखाएगा कि पूजन का विधान क्या होगा? क्या जिस धर्म के हर गणना का आधार चन्द्रमा हो वो सूर्य सिद्धान्त पढ़ाएगा?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

115,259फैंसलाइक करें
23,607फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: