Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीति'नवाबों-सुल्तानों के खिलाफ बोलने की हिम्मत नहीं, राजा-महाराजाओं का अपमान करते हैं कॉन्ग्रेस के...

‘नवाबों-सुल्तानों के खिलाफ बोलने की हिम्मत नहीं, राजा-महाराजाओं का अपमान करते हैं कॉन्ग्रेस के शहजादे’: राहुल गाँधी को PM मोदी का जवाब, याद दिलाया किसने मंदिरों को तोड़ा

दरअसल, राहुल गाँधी ने लोकसभा चुनावों के प्रचार के दौरान देश के राजा-महाराजाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था, राजाओं-महाराजाओं का राज था। जो भी वो चाहते थे, कर देते थे। किसी की जमीन चाहिए होती थी, उसे उठाकर ले जाते थे।" इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। अब उनके इस बयान पर पीएम मोदी ने हमला बोला है।

देश के राजा-महाराजाओं पर विवादास्पद टिप्पणी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी पर हमला बोला है। पीएम मोदी ने राहुल गाँधी का नाम लिए बिना कहा कि कॉन्ग्रेस के शहजादे देश के राजा-महाराजाओं का अपमान करते हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केरल के वायनाड सीट से जीतने के लिए कॉन्ग्रेस ने प्रतिबंधित इस्लामी संगठन PFI की मदद ली।

कर्नाटक के बेलगाम (बेलगावी) में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “कॉन्ग्रेस के शहजादे को हमारे राजा-महाराजाओं के योगदान याद नहीं आते। ये वोट बैंक की राजनीति के लिए राजा-महाराजाओं के खिलाफ बोलने की हिम्मत करते हैं और नवाबों, बादशाहों और सुल्तानों के खिलाफ एक शब्द बोलने की ताकत नहीं है।”

आक्रमणकारी मुगलों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “कॉन्ग्रेस को औरंगजेब के अत्याचार याद नहीं आते, जिसने हमारे सैकड़ों मंदिरों को तोड़ा, अपवित्र किया। कॉन्ग्रेस औरंगजेब की गुणगान करने वाली पार्टियों के साथ खुशी से गठबंधन करती है। ये भूल गए, जिन्होंने हमारे तीर्थों को तहस-नहस किया, लूटपाट किया, गौ हत्याएँ कीं।”

दरअसल, राहुल गाँधी ने लोकसभा चुनावों के प्रचार के दौरान देश के राजा-महाराजाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था, राजाओं-महाराजाओं का राज था। जो भी वो चाहते थे, कर देते थे। किसी की जमीन चाहिए होती थी, उसे उठाकर ले जाते थे।” इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। अब उनके इस बयान पर पीएम मोदी ने हमला बोला है।

रामेश्वर ब्लास्ट की चर्चा करते हुए पीएम ने कहा, “जब बेंगलुरु के कैफे में बम धमाका हुआ, तभी कॉन्ग्रेस ने गंभीरता से नहीं लिया। यही नहीं, कॉन्ग्रेस ने वोट के लिए पीएफआई… जो आतंकवाद को पनाह देने वाला देश विरोधी संगठन है, जिस पर मोदी सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है। कॉन्ग्रेस सिर्फ एक सीट वायनाड जीतने के लिए ऐसे पीएफआई आतंकी संगठन का बचाव करने में लगी है।”

पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस की सरकार तुष्टिकरण को प्राथमिकता देती है। उनके लिए नेहा जैसी बेटियों की जिंदगी की कोई कीमत नहीं है। उनको सिर्फ अपनी वोटबैंक की चिंता है। बता दें कि कर्नाटक के कॉन्ग्रेस पार्षद निरंजन हिरेमथ की बेटी नेहा की सरेआम हत्या फयाज ने कर दी थी। तब हिरेमथ से इसे लव जिहाद बताया था, लेकिन कॉन्ग्रेस ने इसे लव स्टोरी कहा था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत जब आगे बढ़ता है… भारत जब मजबूत होता है तो हर भारतीय खुश होता है, लेकिन कॉन्ग्रेस देशहित से इतना दूर हो चुकी है… परिवार हित में इतना उलझ गई है कि उसे देशहित की उपलब्धियाँ अच्छी नहीं लगती है। उन्होंने कहा कि EVM पर सवाल उठाकर कॉन्ग्रेस ने लोकतंत्र पर सवाल उठाया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भीखू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भीखू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -