Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिउत्तर-पूर्व को भी मिली वन्दे भारत की रफ्तार, असम-मेघालय में 425 किमी रेलवे ट्रैक...

उत्तर-पूर्व को भी मिली वन्दे भारत की रफ्तार, असम-मेघालय में 425 किमी रेलवे ट्रैक का बिजलीकरण पूरा: PM मोदी बोले- इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण सच्चा सेक्युलरिज़्म

"इंफ्रास्ट्रक्चर सबके लिए है, समान रूप से है, बिना भेदभाव के है। इसलिए ये इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण भी एक तरह से सच्चा सामाजिक न्याय है, सच्चा सेकुलरिज्म है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार (29 मई, 2023) को नॉर्थ ईस्ट को पहली मेड इन इंडिया ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ ट्रेन की सौगात दी। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए असम से वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई। इस खास मौके पर रेल मंत्री अश्विणी वैष्णव और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा भी मौजूद रहें। यह ट्रेन असम के गुवाहाटी से पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के बीच दौड़ेगी। साथ ही असम और बंगाल के बीच सदियों पुराने संबंधों को और मजबूत करेगी। इससे लोगों का सफर आसान होगा, पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और लोगों को रोजगार मिलेगा।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आज असम सहित पूरे नॉर्थ ईस्ट की रेल कनेक्टिविटी के लिए एक बहुत बड़ा दिन है। नॉर्थ ईस्ट की कनेक्टिविटी से जुड़े तीन काम एक साथ हो रहे हैं। आज नॉर्थ ईस्ट को अपनी पहली मेड इन इंडिया वंदे भारत एक्सप्रेस मिल रही है। असम और मेघालय के लगभग 425 किलोमीटर रेलवे ट्रैक पर बिजलीकरण का काम पूरा हो गया है।

उन्होंने कहा कि गति के साथ-साथ भारतीय रेल आज दिलों को जोड़ने, समाज को जोड़ने और लोगों को अवसरों से जोड़ने का भी माध्यम बन रही है। ‘वन स्टेशन, वन प्रोडक्ट’ योजना के तहत नॉर्थ ईस्ट के रेलवे स्टेशनों पर स्टॉल बनाए गए हैं। ये ‘वोकल फॉर लोकल’ को बल दे रहे हैं। इससे हमारे स्थानीय कारीगर, कलाकार, शिल्पकार, ऐसे साथियों को नया बाजार मिला है।

‘हमारी सरकार ने सबसे ज्यादा गरीब कल्याण को प्राथमिकता दी’

पीएम ने यह भी कहा, “बीते 9 साल, भारत के लिए अभूतपूर्व उपलब्धियों के रहे हैं। नए भारत के निर्माण के रहे हैं। कल (28 मई 2023) ही देश को आजाद भारत की भव्य-दिव्य आधुनिक संसद मिली है। ये भारत के हजारों वर्ष पुराने लोकतांत्रिक इतिहास को हमारे समृद्ध लोकतांत्रिक भविष्य से जोड़ने वाली संसद है। हमारी सरकार ने आने के बाद सबसे ज्यादा गरीब कल्याण को प्राथमिकता दी। गरीबों के घर से लेकर महिलाओं के लिए टॉयलेट तक, पानी की पाइपलाइन से लेकर बिजली कनेक्शन तक, गैस पाइपलाइन से लेकर एम्स मेडिकल कॉलेज तक, रोड, रेल, जलमार्ग, पोर्ट, एयरपोर्ट, मोबाइल कनेक्टिविटी, हमने हर क्षेत्र में पूरी शक्ति से काम किया।”

‘इंफ्रास्ट्रक्चर जीवन आसान बनाता है’

पीएम मोदी ने इंफ्रास्ट्रक्चर को सच्चा सेकुलरिज्म बताते हुए कहा, “इंफ्रास्ट्रक्चर सबके लिए है, समान रूप से है, बिना भेदभाव के है। इसलिए ये इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण भी एक तरह से सच्चा सामाजिक न्याय है, सच्चा सेकुलरिज्म है। आज भारत में हो रहे इंफ्रास्ट्रक्चर के काम की पूरी दुनिया में बहुत चर्चा हो रही है। क्योंकि यही इंफ्रास्ट्रक्चर तो जीवन आसान बनाता है। यही इंफ्रास्ट्रक्चर तो रोज़गार के अवसर बनाता है। यही इंफ्रास्ट्रक्चर तेज़ विकास का आधार है। यही इंफ्रास्ट्रक्चर गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी, ऐसे हर वंचित को सशक्त करता है। इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण के इस काम से सबसे अधिक लाभ पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भारत को हुआ है।”

नॉर्थ ईस्ट के लोगों ने बड़ा नुकसान उठाया: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए आगे कहा कि अपने अतीत की नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए कुछ लोग कहते हैं कि पहले भी तो नॉर्थ ईस्ट में बहुत काम हुआ था। इन लोगों ने नॉर्थ ईस्ट के लोगों को मूल सुविधाओं के लिए भी दशकों तक इंतजार करवाया। इस अक्षम्य अपराध का बहुत बड़ा नुकसान नॉर्थ ईस्ट ने उठाया है।

बता दें कि 28 मई को नए संसद भवन के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सदन को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत न सिर्फ लोकतंत्र का सबसे बड़ा देश है, बल्कि मदर ऑफ डेमोक्रेसी (लोकतंत्र की जननी) भी है। नए भवन को लेकर उन्होंने कहा था, “यह भवन आधुनिक सुविधाओं और नवीनतम उपकरणों से सुसज्जित है। इसने 60,000 से अधिक मजदूरों को रोजगार दिया है। हमने उनकी कड़ी मेहनत का सम्मान करने के लिए एक डिजिटल गैलरी बनाई है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -