Tuesday, July 16, 2024
HomeराजनीतिCM योगी ने ज्ञानवापी के व्यासजी तहखाने में किए झाँकी दर्शन, बाबा विश्ननाथ-नंदी का...

CM योगी ने ज्ञानवापी के व्यासजी तहखाने में किए झाँकी दर्शन, बाबा विश्ननाथ-नंदी का पूजन: PM मोदी की काशी यात्रा को लेकर बैठक भी की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार (13 फरवरी 2024) को वाराणसी पहुँचे। यहाँ उन्होंने काशी विश्वनाथ के दर्शन किए, फिर व्यासजी तहखाने में झाँकी दर्शन करने के बाद नंदी की पूजा की।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार (13 फरवरी 2024) को वाराणसी का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने काशी विश्वनाथ की पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। सीएम योगी इसके बाद ज्ञानवापी ढाँचे के अंदर पहुँचे और व्यासजी के तहखाने में झाँकी दर्शन किए। इसके साथ ही उन्होंने बाहर आकर नंदी बाबा की पूजा की। दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगामी वाराणसी दौरे की तैयारियों के साथ ही वहाँ जारी विकास कार्यों की समीक्षा के लिए पहुँचे थे।

विधिन-विधान के साथ काशी विश्वनाथ की पूजा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जब से कोर्ट ने व्यासजी तहखाने में पूजा-अर्चना के आदेश दिए हैं, उसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार वाराणसी पहुँचे थे। उन्होंने काशी विश्ननाथ मंदिर में विधि-विधान से पूजा अर्चना की। इसके बाद वो ज्ञानवापी के व्यासजी तहखाने में पहुँचे और वहाँ रखी मूर्तियों के झाँकी दर्शन किए। सीएम योगी ने नंदी की भी पूजा की, जो ज्ञानवापी में ही स्थित हैं।

सिगरा स्टेडियम और रोप-वे प्रोजेक्ट का कामकाज देखा

वाराणसी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सिगरा में बन रहे अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम और काशी रोप-वे प्रोजेक्ट का कामकाज देखा। उन्होंने अधिकारियों से कामों का ब्यौरा लिया। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी कुछ ही समय में वाराणसी पहुँचने वाले हैं। इसके लिए तैयारियाँ की जा रही हैं। सीएम योगी ने अधिकारियों ने उसकी भी जानकारी ली।

प्रधानमंत्री मोदी की रैली पिंडरा के करखियाओं गाँव में होनी है। वो यहाँ से आगामी लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार का आगाज करेंगे। पीएम मोदी दो बार से वाराणसी के सांसद हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विश्व भूषण मिश्रा ने बताया कि प्रशासनिक कार्यों के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनात करीब 8 बजे रात को काशी विश्वनाथ मंदिर पहुँचे थे। यहाँ उन्होंने पूजा करने के बाद ज्ञानवापी परिसर का रुख किया। करीब आधे घंटे तक वो काशी विश्वनाथ और व्यासजी तहखाने में रहे।

बता दें कि कोर्ट ने 31 जनवरी को व्यासजी की पूजा अर्चना करने की अनुमति दी थी और कहा था कि जिला प्रशासन तहखाने के अंदर पूजा की व्यवस्था बनाए। इसके बाद से आम श्रद्धालु व्यासजी तहखाने में जाकर दर्शन कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -