Tuesday, October 19, 2021

विषय

आपदा प्रबंधन

40+ लोग मलबे में दबे: हिमाचल के किन्नौर में फिर बड़ा लैंडस्लाइड, HRTC बस समेत कई गाड़ियाँ खाई में, देखें वीडियो

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में नेशनल हाईवे-5 पर चील जंगल के पास चट्टान गिरने से बड़ा हादसा सामने आया है। इस हादसे में एचआरटीसी बस सहित कई गाड़ियों के चपेट में आने की सूचना है।

अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, SDRF की 3 टीमें तैनात: होंजार गाँव में लोगों को बचाने पहुँची सेना, देखें वीडियो

अधिकारियों ने बताया है कि गुफा के पास पहले से ही राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) की दो टीमें वहाँ मौजूद थी। अब एक और टीम को तैना किया गया है।

महाराष्ट्र में बारिश-बाढ़ से तबाही: अब तक 138 की मौत, 99 लापता – अगले 2 दिन बारिश का रेड अलर्ट

महाराष्ट्र में आई बारिश ने ऐसी तबाही मचाई कि अब तक अलग-अलग घटनाओं में 138 से अधिक लोगों की मौतें हो चुकी हैं।

महाराष्ट्र में बारिश से हाहाकार: 2 दिन में 129 लोगों की मौत, 70 से अधिक हैं गायब

महाराष्ट्र में बारिश की वजह से पिछले दो दिनों में 129 लोगों की मौत हो गई है। कुछ लोगों के अभी भी मलबे में दबे होने की आशंका है।

1999 में 10000+ मौतों से लेकर Yaas में सिर्फ 6: आपदा से निपटने और राहत बचाव में भारत का लंबा सफर

भारत ने आपदा से निपटने में काफी सुधार किया है। यही कारण है कि राज्यों और केंद्र ने आपसी सहयोग के साथ बड़े स्तर पर राहत और बचाव...

क्यों पड़ा Cyclone का नाम Tauktae, क्यों तबाही मचाने आते हैं, जमीन पर क्यों नहीं बनते? जानिए चक्रवातों से जुड़ा सब कुछ

वर्तमान में अरब सागर से उठने वाले चक्रवाती तूफान Tauktae का नाम म्याँमार द्वारा दिया गया है। Tauktae, गेको छिपकली का बर्मीज नाम है। यह छिपकली बहुत तेज आवाज करती है।

उत्तराखंड: देवप्रयाग में बादल फटने से मची तबाही, आईटीआई भवन सहित कई दुकानें ध्वस्त, लॉकडाउन की वजह से बचे लोग

एसएचओ ने बताया कि आज शाम पाँच बजे बादल फटने की खबर मिली। इसमें 12-13 दुकानें और अन्य संपत्ति को नुकसान पहुँचा है।

चमोली आपदा: 10 दिन में मिले 58 शव, 146 लापता – जिंदगी की तलाश अब भी जारी

उत्तराखंड में आए जल प्रलय के दसवें दिन तपोवन जल विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन सुरंग में मलबा हटाने का कार्य जारी है। मलबे में से...

सिर्फ 2 मिनट का मोबाइल कनेक्शन, लटकने के लिए लोहे की रॉड: उत्तराखंड त्रासदी में ऐसे बचे 12 लोग

बसंत बताते हैं कि वह तपोवन में तीन साल से काम कर रहे हैं। उस दिन भी उन्होंने 8 बजे से काम शुरू किया और साढ़े 10 बजे उन्हें एक भयानक आवाज सुनाई दी। उन्हें भागने का मौका ही नहीं मिला।

तेजी से अलीबाग की तरफ बढ़ रहा चक्रवाती तूफान निसर्ग: रायगढ़, ठाणे, मुंबई, पालघर में भारी बारिश की संभावनाएँ

चक्रवाती तूफान निसर्ग के कारण PM नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र, गुजरात, दमन दीव, दादरा और नगर हवेली को आश्वासन दिया है कि वे सभी तरह से उनकी सहायता करेंगे।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe