Sunday, September 26, 2021

विषय

आर्टिकल 370

आर्टिकल 370 के खात्मे का भारत स्वप्न, जिसे मोदी सरकार ने पूरा किया: जानिए इससे कितना बदला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

आर्टिकल 370 हटाने के मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले से न केवल जम्मू-कश्मीर में जमीन पर बड़े बदलाव आए हैं, बल्कि दशकों से उपेक्षित लद्दाख ने भी विकास के नए रास्ते देखे हैं।

370 बहाल होने तक नहीं लड़ूँगी चुनाव, जम्मू बनेगा ‘खेला होबे’ का गवाह: महबूबा मुफ्ती

महबूबा मुफ्ती ने तृणमूल कॉन्ग्रेस के 'खेला होबे' का जिक्र करते हुए कहा कि जम्मू भी जल्द ही इसका गवाह बनेगा।

जम्मू-कश्मीर में चुनाव से पहले परिसीमन: कितनी बदल जाएगी राजनीति, महबूबा की पार्टी को क्यों लगी है मिर्ची

क्या होता है परिसमीन? जम्मू-कश्मीर में परिसमीन क्यों? इससे क्या-क्या बदलेगा? सारे सवालों का जवाब एक साथ।

महबूबा मुफ्ती संतुष्ट नहीं फारूक अब्दुल्ला से, PM मोदी की बैठक में आर्टिकल 370 का मुद्दा नहीं उठाने पर हैं खफा: रिपोर्ट्स

कश्मीरी नेताओं के साथ पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक के दौरान अनुच्छेद 370 को बहाल करने पर महबूबा मुफ्ती का समर्थन नहीं करने के लिए...

पहले पाकिस्तान जैसी थी कश्मीर के दलित-हिंदुओं की स्थिति, 370 का छला हिन्दू समाज पीढ़ियों से उठा रहा था कचरा

नाले-पेशाब-पखाना साफ करते हिंदू दलितों की जो हालत आज पाकिस्तान में है, वही हालत अनुच्छेद 370 के उन्मूलन से पहले भारत के जम्मू-कश्मीर में थी।

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में अब कोई भी खरीद सकेगा जमीन, नहीं छिनेगा बेटियों का हक़: मोदी सरकार का बड़ा फैसला

जम्मू-कश्मीर में अब देश का कोई भी व्यक्ति जमीन खरीद सकता है और वहाँ पर बस सकता है। गृह मंत्रालय द्वारा मंगलवार को इसके तहत नया नोटिफिकेशन जारी किया गया है।

गुपकार गठबंधन के लीडर बने फारूक अब्दुल्ला: 370 की बहाली के लिए महबूबा, सज्जाद के साथ मिलकर खाई कसम

गुपकार गठबंधन का उद्देश्य अनुच्छेद 370 और 35A की बहाली के साथ ही जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा वापस दिलाने का है।

डाकुओं ने हमारा झंडा ले लिया.. J&K के अलावा नहीं उठाऊँगी कोई दूसरा झंडा- महबूबा मुफ्ती

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत सिर्फ़ जम्मू कश्मीर की जमीन चाहता है उसके लोगों को नहीं। इसलिए वह अनुच्छेद 370 के दोबारा बहाल होने तक कोई झंडा नहीं उठाएँगी।

क्यों मिलता है किसी गिलानी को ‘निशान-ए-पाकिस्तान’: कश्मीरियत को ‘पत्थरबाजी’ बनाने का यूँ रचा खेल

अब्दुल्ला और मुफ़्ती सईद खानदान की वंशवादी राजनीति से भी जम्मू-कश्मीर का आम नागरिक त्रस्त रहा है। दोनों ही खानदानों की तीसरी पीढ़ी...

जम्मू-कश्मीर: अब तक 3.7 लाख लोगों को डोमिसाइल सर्टिफिकेट, अरसे से बाट जोह रहे थे वाल्मीकि

जम्मू-कश्मीर में बीते हफ्ते तक करीब 3.7 लाख लोगों को डोमिसाइल सर्टिफिकेट दिया गया था। 22 जून से इसकी प्रक्रिया शुरू हुई थी।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,375FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe