Tuesday, October 19, 2021

विषय

इतिहास

‘भगवान राम-कृष्ण में आस्था नहीं, पिंडदान नहीं’: बौद्ध अंबेडकर के 22 शपथ, इस्लाम की घृणा को लेकर भी किया था आगाह

डॉ अंबेडकर ने 14 अक्टूबर 1956 को हिंदू धर्म में अपनी आस्था त्यागकर बौद्ध धर्म अपना लिया। ऐसा माना जाता है कि यह तिथि सम्राट अशोक के बौद्ध धर्म में परिवर्तन से जुड़ी है।

भाई तारू सिंह की उखाड़ ली गई थी खोपड़ी, 25000 सिखों का नरसंहार: बाबरी से 57 साल पहले लाहौर में ढहा था ‘ढाँचा’

पाकिस्तान सरकार और वहाँ के कट्टरपंथियों की साजिश है कि इस 'गुरुद्वारा शहीद गंज भाई तारू सिंह जी शहीदी स्थान' को मस्जिद में बदल दिया जाए।

लाहौर में हिंदुओं और सिखों का हो रहा था कत्लेआम, गाँधी ने कहा था – ‘नहीं भागिए… आपकी मृत्यु की खबर मुझे बुरी नहीं...

हर बार, हर स्थान पर गाँधी जी ने उनके अंतर्मन में आए हुए सन्देश को ही प्रमाण माना और वैसे ही मनमाने निर्णय लेते रहे। उनकी जीवनी में कई अटपटे व्यवहार।

‘हम क्षत्रिय, गुर्जर क्षेत्र का नाम’: सम्राट मिहिर भोज के वंशज का PM मोदी को पत्र, राजपूतों के आंदोलन को समर्थन

नागौद 'राजकुमार' अरुणोदय सिंह ने कहा कि कहा कि गुर्जर शब्द का अर्थ गुर्जर प्रदेश में राज करने वाले राजाओं से सम्बंधित है, न कि किसी जाति-समुदाय से।

‘CM योगी का करते हैं सम्मान, उन्हें पता है सही इतिहास’: मिहिर भोज को ‘गुर्जर’ बताए जाने पर क्यों गुस्से में है राजपूत समाज?

सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा को गंगाजल से किसने धोया और क्यों? राजपूत समाज के आक्रोश का कारण क्या? सीएम योगी को लेकर क्या सोचते हैं राजपूत?

जानिए ‘राजपूत सम्राट मिहिर भोज’ को लेकर क्या कहता है इतिहास: जाति नहीं, क्षेत्र था गुर्जर?

सम्राट मिहिर भोज के क्षत्रिय होने के पीछे कौन से तथ्य व सबूत हैं, जिसके आधार पर उन्हें 'राजपूत' कहा जा सकता है, 'गुर्जर' नहीं? आइए, देखते हैं।

मंदिर तोड़े, गाँव के गाँव मुस्लिम बना दिए, राजाओं का भी धर्मांतरण: बंद हो जिहादी सूफियों को ‘संत’ कहना, वामपंथियों ने किया गुणगान

उदाहरण से समझिए कि जिन सूफियों को 'संत' कहा गया, वो 'काफिरों के इस्लामी धर्मांतरण' के लिए आए थे। मंदिर तोड़े। सुल्तानों का काम आसान करते थे।

अंग्रेजों के खिलाफ क्रांति की अमर मिसाल प्रीतिलता वड्डेदार: महज 21 साल की उम्र में देश के लिए दिया सर्वोच्च बलिदान

मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले कई वीर स्वतंत्रता सेनानी गुमनामी में चले गए। इनमें से एक बंगाल की पहली महिला बलिदानी प्रीतिलता वड्डेदार भी हैं।

अंग्रेजों से रेवाड़ी को दिलाई मुक्ति, स्वतंत्रता के लिए दुनिया की खाक छानी: काबुल में राव तुला राम ने ली थी आखिरी साँस

सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नायकों में एक राव तुला राम की आज (23 सितंबर) पुण्यतिथि है। राव तुला राम का जन्म 9 दिसंबर 1825 के दिन रेवाड़ी में हुआ था।

‘मुस्लिमों का सबसे बड़ा दुश्मन’, शिव के भक्त: ‘आदिवराह’ के सामने अरबों ने भी टेक दिए थे घुटने, 50 साल तक किया राज

क्या आप भारत में 'इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन' के बारे में जानते हैं? मुद्दा ये नहीं कि वो गुर्जर थे या राजपूत, सम्राट मिहिर भोज एक हिन्दू थे, जिन्होंने मुस्लिम आक्रांताओं को फटकने भी न दिया।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,026FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe