Tuesday, June 28, 2022

विषय

बाबरी

तालिबान समर्थक NGO ‘मुल्ला बोर्ड’, जिसके कारण राजीव गाँधी ने पलट दिया सुप्रीम कोर्ट का फैसला: UCC के है खिलाफ, कहा था – फिर...

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भारत में शरिया कानून को स्थापित करने के लिए मुस्लिमों के बीच भड़काने का करता है।

‘बाबरी की तरह जामिया मस्जिद को ध्वस्त कर देना चाहिए, यहाँ पहले हनुमान मंदिर था’: कर्नाटक में संत गिरफ्तार

अदालत में संत के वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल का बयान विवादास्पद नहीं है। मस्जिद में मंदिरों के निशान देखकर उन्होंने अपना दर्द बयां किया था।

‘हिंदुओं को मुस्लिमों ने सभ्य बनाया, उनसे बाबरी मस्जिद वापस लो’: ISIS ने कहा- भारत सरकार के खिलाफ करें हिंसक जिहाद

ISIS की प्रोपेगेंडा डिजिटल पत्रिका ‘वॉयस ऑफ हिंद’ ने अपने नए संस्करण में मुस्लिमों को ‘हिंदुओं से बाबरी वापस लेने’ के लिए उकसाया है।

‘…फिर बनाओ बाबरी’: JNU में वामपंथी छात्रों ने मस्जिद के समर्थन में निकाला जुलूस, ‘न्याय की लड़ाई’ के नाम पर जमकर आपत्तिजनक नारेबाजी

6 दिसंबर को JNU के वामपंथी छात्रों ने बाबरी के समर्थन आपत्तिजनक नारेबाजी की और जुलूस निकाला। इस दौरान ''नहीं सहेंगे हाशिमपुरा, नहीं सहेंगे दादरी, फिर बनाओ, फिर बनाओ बाबरी" जैसे नारे लगने की खबर है।

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल के एक 'सेंट जॉर्ज स्कूल' की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें एक SDPI कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बाबरी वाला बैज लगाता हुआ दिख रहा।

एक लड़के के पीछे पागल था बाबर, लिखने लगा था आशिकाना शेरो-शायरी: बाबर के ‘समलैंगिक प्यार’ की वो कहानी, जो आज तक छिपाई गई

आज हम आपको 17 साल के एक लड़के के प्रति बाबर के समलैंगिक यौन-आकर्षण के बारे में बता रहे हैं, जिसका जिक्र उसने खुद 'बाबरनामा' में किया है।

छावनी सी अयोध्या, राम राज्य सी व्यवस्था और एक साधु… 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में क्या-कैसे हुआ, एक महंत की जुबानी

6 दिसंबर 1992। अयोध्या में राम जन्मभूमि पर खड़ा एक ढाँचा ध्वस्त कर दिया गया। यह कैसे संभव हुआ? उस समय युवा साधु रहे महंत ब्रजमोहन दास की आँखों देखी।

चेतावनी के बावजूद JNU में बाबरी पर आधारित विवादित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग, सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने वालों पर कार्रवाई की तैयारी

जेएनयू के वामपंथी छात्रों ने शनिवार को न सिर्फ फिल्म की स्क्रीनिंग की, बल्कि इसे देखने के लिए सैकड़ों छात्रों को परिसर में एकत्रित भी किया।

JNU छात्र संघ ने बाबरी पर आधारित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की घोषणा की, यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कार्रवाई की चेतावनी दे कहा- माहौल बिगड़ेगा

जेएनयू के लेफ्ट यूनियन ने बाबरी पर बनी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की घोषणा की है। इस पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने कार्रवाई की चेतावनी दी है।

‘तालिबान द्वारा बामियान बौद्ध स्मारक को नष्ट करना बाबरी विध्वंस से प्रेरित’: आरफा खानम ने किया जिहादियों का बचाव

यह ध्यान देना चाहिए कि बामियान में बौद्ध स्मारकों के साथ जो हुआ वह कट्टरपंथी इस्लामिक विचारधारा का नतीजा था जो हिन्दू, बौद्धों और जैनों के धर्म स्थानों के विनाश का कारण बनी।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,941FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe