Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'जब वक्त हमारा आएगा, तब सिर धड़ से अलग किए जाएँगे…': धमकी दे रहा...

‘जब वक्त हमारा आएगा, तब सिर धड़ से अलग किए जाएँगे…’: धमकी दे रहा था मोहम्मद कैफ, राम मंदिर तोड़ने की बात कर रहा था इरशाद: यूपी पुलिस ने दबोचा

बाबरी के नाम पर समाज में द्वेष फैलाने के खिलाफ यूपी पुलिस त्वरित कार्रवाई भी कर रही है। इस बीच अयोध्या के राम मंदिर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले इरशाद अहमद को बिजनौर और मोहम्मद कैफ को गोंडा से गिरफ्तार किया गया है।

अयोध्या में प्रभु श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा के बाद भी बाबरी का विलाप जारी है और ऐसा करने वालों की संख्या में कोई कमी नहीं आ रही है। हालाँकि, बाबरी के नाम पर समाज में द्वेष फैलाने के खिलाफ यूपी पुलिस त्वरित कार्रवाई भी कर रही है। इस बीच अयोध्या के राम मंदिर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले इरशाद अहमद को बिजनौर और मोहम्मद कैफ को गोंडा से गिरफ्तार किया गया है।

इरशाद ने बाबरी के नाम पर एक वीडियो बनाकर वायरल किया था। इसमें उसने राम मंदिर को तोड़कर फिर से बाबरी खड़ा करने की बात कही थी। इस मामले में बिजनौर पुलिस ने इरशाद के साथ-साथ उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार किया है। वहीं, गोंडा का मोहम्मद कैफ बाबरी को लेकर आतंकी संगठन आईएसआईएस की तर्ज पर ‘सर तन से जुदा’ करने की धमकी दे रहा था।

दरअसल, ये उन कट्टरपंथियों के बीच के कुछ नमूने हैं जो अदालत के आदेश के बाद बने राम मंदिर को तोड़कर फिर से बाबरी ढाँचा खड़ा करने का सपना पाले बैठे हैं। इसके लिए वे हिंदुओं को खुलेआम धमकी भी दे रहे हैं। हालाँकि, इनके सपनों के साथ ही इन्हें भी यूपी पुलिस जेल की चहारदीवारी के पीछे भेज रही है।

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, बिजनौर में एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ। इस वीडियो में इरशाद नाम का युवक बोल रहा है, “हम राम मंदिर तोड़ेंगे और फिर से बाबरी मस्जिद बनाएँगे।” इसके अलावा भी इरशाद ने अपने वीडियो में काफी कुछ कहा है। वो हिंदुओं को ललकारता भी दिख रहा है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर आया तो लोग भड़क उठे।

पुलिस ने मामले की संवेदनशीलता को भाँपते हुए तुरंत कार्रवाई की और इरशाद अहमद को गिरफ्तार कर लिया। इरशाद बिजनौर के धामपुर स्थित नई सराय का रहने वाला है। पुलिस ने उसके दो साथियों- भूरा और अजमल को भी गिरफ्तार किया है। तीनों के खिलाफ धारा 153 ए/295ए/505 (1) सी 502 और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत मुकदमा दर्ज करके जेल भेज दिया गया है।

वहीं, मोहम्मद कैफ गोंडा जिले के नवाबगंज स्थित चाईटोला मोहल्ले का रहना वाला है। वह कैफ_नवाबजादा नाम से इंस्ट्राग्राम आईडी चलाता है। मोहम्मद कैफ ने अपनी आईडी से 23 जनवरी 2024 को बाबरी ढाँचे की एक तस्वीर लगाई गई थी। इसके साथ ही हिंदुओं को धमकाया था, “सब्र… जब वक्त हमारा आएगा, तब सिर धड़ से अलग किए जाएँगे।”

मोहम्मद कैफ कैफ ने अपनी पोस्ट में लोगों को जान से मारने की भी धमकी दी थी। उसके तेवर और भाषा से साफ है कि वह ‘सर तन से जुदा’ गैंग से सिर्फ प्रेरित है। ऑपइंडिया के पास मौजूद एफआईआर की कॉपी में उसकी धमकियों के साथ ही उसके इंस्टाग्राम पर लगाए गए पोस्ट के बारे में भी बताया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -