Saturday, October 16, 2021

विषय

Congress Party

प्रयागराज: समोसे के लिए आपस में भिड़े कॉन्ग्रेसी, एक-दूसरे को दी गंदी गालियाँ, हसीब अहमद ने इरशाद उल्लाह से ले लिए थे तीन समोसे

प्रयागराज में कॉन्ग्रेस सचिव इरशाद उल्लाह से हसीब अहमद ने तीन समोसे ले लिए, जिसके बाद दोनों आपस में ही भिड़ गए।

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर कॉन्ग्रेस की ‘मौन व्रत’ सभा में खूब हुई गुफ्तगू, नहीं पहुँचे सीएम गहलोत व पायलट

राजस्थान कॉन्ग्रेस द्वारा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के इस्तीफे की माँग को लेकर आयोजित हुआ था यह मौन व्रत।

‘पीड़ितों के जख्मों पर नमक मल रही सरकार’: AG/DG की नियुक्तियों से खफा सिद्धू को CM चन्नी ने दी नसीहत- पार्टी में रखिए अपनी...

नवजोत सिंह सिद्धू ने आरोप लगाया था कि जिस तरह से पिछली सरकार बेअदबी की घटनाओं और नशे पर रोक लगाने में विफल थी उसी तरह ये सरकार भी है।

बदल गया भारत पर कॉन्ग्रेस अभी 1990 के दशक में, सत्ता की छटपटाहट के बीच सिब्बल के सवाल कितने प्रासंगिक

प्रश्न यह है कि पार्टी जिस स्थिति में पहुँची है उसके लिए क्या इस ग्रुप में शामिल नेता जिम्मेदार नहीं हैं? इन नेताओं का अपना जनाधार कैसा है?

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

मुस्लिम ही राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष क्यों? मोदी सरकार ने तोड़ी कॉन्ग्रेसियों की ‘परंपरा’, वाजपेयी ने भी किया था

इक़बाल सिंह लालपुरा की आयोग के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति सरकार की नीयत और संविधान के प्रति उसकी आस्था, दोनों को दर्शाता है।

हिंदू वोट चाहिए, हिंदू भीड़ चाहिए लेकिन… देवी-देवता नहीं: कॉन्ग्रेसी राहुल गाँधी का यह राजनीतिक दर्शन या रणनीति?

हिंदू वोट लेने के लिए कॉन्ग्रेस असम में अपने मित्र बदरुद्दीन अज़मल से किनारा कर चुकी है पर उसके नेता हिंदुओं के साथ अपने संवाद में...

मोदी सरकार से टक्कर लेने के लिए कॉन्ग्रेस की ‘आंदोलन समिति’ लेगी खार खाए NGO, ‘एक्टिविस्ट’ और ‘बुद्धिजीवियों’ का सहारा: रिपोर्ट्स

कॉन्ग्रेस 'आंदोलन समिति' के जरिए मोदी सरकार से खार खाए सिविल सोसाइटी के सदस्यों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, गैर सरकारी संगठनों और बुद्धिजीवियों को अपने साथ जोड़कर उनका सरकार के खिलाफ उपयोग की योजना बना रही है।

झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए कमरे का आवंटन सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के नए अध्याय की शुरुआत, भविष्य और भी खतरनाक

प्रश्न यह है कि बार-बार ऐसा करने से जिस बात या माँग के सामान्यीकरण किए जाने का खतरा लगातार बढ़ेगा उसके हल का रास्ता कहाँ से होकर जाता है?

हिन्दू नरसंहारक ‘मोपला विद्रोह’ के 387 नामों को सूची से हटाना PM मोदी का ऐतिहासिक कदम: वामपंथियों के झूठ का हुआ अंत

केंद्र सरकार के फैसले का कॉन्ग्रेस, वामपंथियों और इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग द्वारा विरोध उनके दशकों के प्रयास से गढ़े गए नैरेटिव के ध्वस्त होने की छटपटाहट है और उस छटपटाहट की तुलना में बहुत छोटी है जो दशकों तक हिंदुओं ने झेली है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe