Saturday, June 15, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'तेलंगाना में कॉन्ग्रेस को प्रचंड बहुमत, चुनाव से पहले ही IB ने गृह मंत्रालय...

‘तेलंगाना में कॉन्ग्रेस को प्रचंड बहुमत, चुनाव से पहले ही IB ने गृह मंत्रालय को सौंप दी रिपोर्ट’: सोशल मीडिया पर वायरल हुआ किसको कितनी सीटें, जानें सच्चाई

खुद को पुडुच्चेरी में कॉन्ग्रेस पार्टी का सोशल मीडिया विभाग का चेयरमैन बताने वाले कोरकाडू अशोक ने इस लिस्ट को IB की रिपोर्ट बता कर शेयर किया है।

गुरुवार (30 नवंबर, 2023) गुरुवार को होने जा रहे तेलंगाना विधानसभा चुनावों को ले कर सोशल मीडिया पर ‘इंटेलिजेंस ब्यूरो’ (IB) के नाम से एक लिस्ट वायरल की जा रही है। इस लिस्ट में विधानसभा चुनावों में कॉन्ग्रेस की जीत और पूर्ण बहुमत का दावा किया जा रहा है। इस लिस्ट को कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ उनके समर्थक भी अपने X हैंडल पर शेयर कर रहे हैं। कांफिडेंशियल का ठप्पा लगी इस लिस्ट में तारीख 23 नवंबर, 2023 की पड़ी हुई है।

क्या है इस लिस्ट में

लिस्ट को बाकायदा प्रेसनोट बता कर शेयर किया जा रहा है जो कि उसमें लिखा भी हुआ है। ऊपर अंग्रेजी के बड़े-बड़े शब्दों में ‘इंटेलिजेंस ब्यूरो’ लिखा होने के साथ बगल IB का आधिकारिक Logo भी लगा दिख रहा है। नीचे तेलंगाना राज्य विधानसभा चुनाव 2023 लिखा गया है। पहले पैराग्राफ में ही घोषणा कर दी गई है कि कॉन्ग्रेस पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत से आ रही है। साथ ही कॉन्ग्रेस को 44% वोट शेयर के साथ 72 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है।

लिस्ट के दूसरे पैराग्राफ में भाजपा और AIMIM को वोट कटुआ पार्टी बताया गया है। इन दोनों पार्टियों पर BRS का वोट खा जाने का दावा किया गया है। भाजपा और अन्य दलों को 12 से नीचे सीटें मिलने का दावा इस लिस्ट में किया गया है। लिस्ट में BRS की हार की वजह किसानों का गुस्सा, सत्ता विरोधी लहर और राज्य में फैला भ्र्ष्टाचार बताया गया है। की पॉइंट में यह भी दावा किया गया है कि इस सर्वे को ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में किया गया है।

इन दावों के नीचे एक तालिका बनाई गई है। तालिका में BRS को 34 से 37, कॉन्ग्रेस को 71 से 74, भाजपा को 2 से 4 और अन्य को 6 से 8 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। वोट शेयर के हिसाब से BRS को 34 से 37%, कॉन्ग्रेस को 43 से 46%, भाजपा को 7 से 9% और अन्य को 8 से 10% मत मिलने का अनुमान जताया गया है। इस तालिका के नीचे ‘की पॉइंट’ नाम से सबहेड दिया गया है जिसमें इस सर्वे को 7 से 22 नवंबर 2023 के बीच का बताया गया है। दावा किया गया है कि सर्वे के दौरान 17,850 लोगों से मिल कर उनकी राय ली गई।

खास बात ये है कि प्रेसनोट लिखे सबहेड में लिखा गया है कि ऊपर कही गई बातें आंतरिक जानकारी के लिए ही हैं। साथ ही पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट 23 नवंबर को ऑफिस में जमा करने का दावा किया गया है।

कॉन्ग्रेस पदाधिकारी और उसके कार्यकर्ता कर रहे हैं वायरल

इस लिस्ट को पूरे आत्मविश्वास के साथ कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और उसके समर्थक शेयर कर रहे हैं। अपने ‘X’ हैंडल पर खुद को पुडुच्चेरी में कॉन्ग्रेस पार्टी का सोशल मीडिया विभाग का चेयरमैन बताने वाले कोरकाडू अशोक ने इस लिस्ट को IB की रिपोर्ट बता कर शेयर किया है।

तेलंगाना के नागार्जुन सागर से कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता अभिषेक बिक्कू ने यह लिस्ट शेयर करने के साथ यह भी दावा किया है कि इसे भारत सरकार के गृह मंत्रालय में जमा किया जा चुका है।

राहुल गाँधी की कवर फोटो और वेरिफाइड हैंडल वाली गीता ऐनाला ने भी इस लिस्ट को X हैंडल पर शेयर किया है। उन्होंने कैप्शन में BRS का गेम ओवर बताया है।

कॉन्ग्रेस के एक अन्य कार्यकर्ता तुम्मला नागेश्वर राव ने भी इसे शेयर करते हुए BRS की विदाई का दावा किया है।

इसके अलावा कॉन्ग्रेस पार्टी से जुड़े कई अन्य लोग भी है जो इस स्क्रीनशॉट को शेयर करने में जुटे हुए हैं। यह शेयरिंग मतदान से 1 दिन पहले 29 नवंबर को खासतौर पर जोर पकड़ चुकी है।

कॉन्ग्रेस जीत रही तेलंगाना, जानिये सच्चाई

ऑपइंडिया की पड़ताल में यह बात निकल कर आई है कि कॉन्ग्रेस पदाधिकारियों और उनके समर्थकों द्वारा इंटेलिजेंस ब्यूरो के नाम से शेयर की जा रही ये लिस्ट फर्जी है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) का काम राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों की सूचनाएँ जमा करना है। IB राजनैतिक मामलों से जुड़े इस प्रकार के एक्जिट पोल नहीं जारी करती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी के बहाने झूठ फैला कर किसी को बदनाम नहीं कर सकते’: दिल्ली हाईकोर्ट से कॉन्ग्रेस नेताओं को झटका, कहा – हटाओ...

कोर्ट ने टीवी डिबेट का फुटेज देख कर कहा कि प्रारंभिक रूप से लगता है कि रजत शर्मा ने किसी गाली का इस्तेमाल नहीं किया। तीनों कॉन्ग्रेस नेताओं ने फैलाया झूठ।

साथ काम करने वाले और एक जैसा सोचने वाले एक-दूसरे के दीवाने होते हैं? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इटली की PM मेलोनी की मीम...

सोशल मीडिया पर यह देखने में आया है कि पीएम मोदी और इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी को लेकर मजाक में अजीबोगरीब मीम एवं चुटकुले बनाए जा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -