Friday, June 18, 2021

विषय

Schedule Caste

महिला ने ब्राह्मण व्यक्ति पर लगाया था रेप का झूठा आरोप: SC/ST एक्ट में 20 साल की सज़ा के बाद हाईकोर्ट ने बताया निर्दोष

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा, "पाँच महीने की गर्भवती महिला के साथ किसी भी तरह की ज़बरदस्ती की जाती है तो उसे चोट लगना स्वाभाविक है। लेकिन पीड़िता के शरीर पर इस तरह की कोई चोट मौजूद नहीं थी।”

खेत में काम करने गई 13 साल की दलित लड़की से गैंगरेप: आरोपित रेहान, तस्लीम, दानिश और अब्दुल गिरफ्तार

घटना के समय लड़की अपनी दादी के साथ खेत में काम कर रही थी। कथिततौर पर उसी दौरान 4 लड़के उसे घसीट कर पास के खेत में ले गए और गैंगरेप किया।

इस्लाम अपनाने को मजबूर दलित महिला ऑटो-चालक, केरल की वामपंथी सरकार पर लगाया जातिगत भेदभाव का आरोप

दलित महिला ऑटो चालक ने कहा कि वह केरल की वामपंथी सरकार के हाथों जातिगत भेदभाव का सामना करने के बाद इस्लाम में धर्मांतरण करने जा रही हैं।

SC/ST और OBC का ‘कॉमेडियन’ कुणाल कामरा ने उड़ाया मजाक, संजय राउत के इंटरव्यू में बताया ‘चूहा’

कॉमेडियन कुणाल कामरा एक बार फिर विवादों में है। उसने संजय राउत का जो इंटरव्यू लिया है उसमें SC, ST, OBC की तुलना चूहों से की है।

हर अपमान SC/ST अधिनियम का उल्लंघन नहीं, जब तक वह ‘सार्वजनिक रूप से’ जातिगत न हो: सर्वोच्च न्यायालय

सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि SC/ST अत्याचार निरोधक अधिनियम के तहत दर्ज की जाने वाली शिकायतें सिर्फ इस आधार पर पंजीकृत नहीं की जा सकती हैं क्योंकि शिकायतकर्ता SC/ST समुदाय से आता है।

कॉन्ग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने ट्विटर पर जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया, यूजर्स ने घेरा

कॉन्ग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने रविवार को एक ट्वीट में जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया। इसकी वजह से उन्हें सोशल मीडिया में कड़ी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ा और आखिर में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

कुंभ में पैर धोने से भूमिपूजन का प्रथम प्रसाद तक, मोदी राज में दलितों का बज रहा डंका

कोई दिन नहीं जाता जब वामपंथी मीडिया और विपक्ष मोदी सरकार को दलित विरोधी न बताता हो। पर जमीनी हकीकत कुछ अलग ही तस्वीर पेश करते हैं।

SC/ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने पलटा अपना फैसला, केंद्र सरकार के संशोधन को मंजूरी: मूल रूप में बना रहेगा कानून

एससी-एसटी एक्ट के प्रावधानों में पिछले साल केंद्र सरकार द्वारा किए गए संशोधनों को सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है। अर्थात यदि किसी के खिलाफ इस कानून के तहत केस दर्ज किया जाता है, तो बगैर जाँच के उसकी गिरफ्तारी हो सकेगी।

यह मकान बिकाऊ है: SC/ST एक्ट के फर्जी मुकदमों के कारण यूपी के एक गाँव के लोग पलायन को मजबूर

गोथुआ में 27 जनवरी को बच्चों के बीच हुए झगड़े ने तूल पकड़ा था और दो पक्षों में इसे लेकर मारपीट भी हुई। इसके बाद एक पक्ष ने गाँव के ही कई लोगों पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने और अन्य अनर्गल आरोप लगाकर उनके खिलाफ थाने में तहरीर दे दी।

SC/ST ACT: अब फिर से पहले की तरह होगी तुरंत गिरफ्तारी, सुप्रीम कोर्ट ने बदला अपना पुराना फैसला

कानून के दुरुपयोग और झूठे मुकदमों से बेहाल लोगों के बारे में सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने बताया कि यह "मानवीय असफलता" ("human failure") के चलते होता है न कि जातिवाद या जाति व्यवस्था के चलते।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,667FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe