Saturday, April 13, 2024
334 कुल लेख

जयन्ती मिश्रा

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

एक ‘राहुल जी’ की नजर को बेताब, दूजी टिकट की आस में बौराई… प्रज्ञा मिश्रा और नेहा सिंह राठौर ई का बा

एक 'पत्रकार' तो दूसरी 'लोकगायिका' के नकाब में बलजोरी करती हैं। जब कोई आलोचना करता है दोनों महिला वाला विक्टिम कार्ड निकाल लेती हैं।

चीन से आई बीमारी, मोदी सरकार ने की नसबंदी, फिर भी रिश्ते तक को रहा लील: जिंदगी छीन रहा मनोरंजन का यह ट्रेंड

टिकटॉक ने ऐसा वर्ग को पैदा किया जो फेमस होने के लिए कुछ भी करने को तैयार थे। अब वो ऐप बैन है लेकिन इससे प्रभावित लोग अब भी वर्चुअल दुनिया के गुलाम हैं।

‘पाकिस्तान में आतंकियों को मरवा रहा है भारत’: चुनाव के समय ‘प्रोपेगेंडा’ खड़ा करने चला था हिंदू विरोधी विदेशी मीडिया, आम लोगों में PM...

द गार्जियन ने आर्टिकल लिखा था ये सोचकर कि इससे मोदी सरकार पर सवाल उठेंगे लेकिन सवाल उठना तो दूर, लोग अब पीएम मोदी की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

रमजान में हिंदू बच्चों के हत्यारे को बचाने निकली RJ सायमा निभा रही मुस्लिम ब्रदरहुड, ‘काफिर’ अजीत अंजुम लेकिन क्यों कर रहा ऐसा?

आरजे सायमा का मतलब इससे नहीं है कि बदायूँ में जो हुआ वो किस कारण हुआ, उनका मकसद है कि कैसे लोग इस पर बात करना बंद करें कि हत्यारा साजिद है।

मतुआ, राजबंशी, नामशूद्र: पश्चिम बंगाल में रहने वाले 4 करोड़ प्रताड़ित हिंदुओं पर नहीं जागी ‘ममता’, PM मोदी बने आवाज – मना रहे दूसरा...

सीएए लागू होने के बाद बंगाल के मतुआ, नामशूद्र और राजबंशी समुदाय के लोग खुशी मना रहे हैं। मतुआ समुदाय ने इसे दूसरा स्वतंत्रता दिवस बताया है।

जिस ‘शंकराचार्य पर्वत’ को PM मोदी ने श्रीनगर में किया प्रणाम, उसे इस्लामी कट्टरपंथी बुलाते हैं ‘तख्त-ए-सुलेमान’ : नाम बदलकर हिंदू इतिहास मिटाने की...

कश्मीर में इस्लामी कट्टरपंथी शंकराचार्य पर्वत को तख्त-ए-सुलेमान कहते हैं। ऐसे ही अनंतनाग जिला उनके लिए इस्लामाबाद है।

नाचती ऐश्वर्या राय, ₹25 लाख में आई तृषा कृष्णन… उत्तर से दक्षिण तक राजनीति का वही कीचड़: हिरोइन भी किसी की माँ, किसी की...

राहुल गाँधी ने अपने भाषण को दमदार दिखाने के लिए ऐश्वर्या रॉय जैसी नामी अभिनेत्री का नाम उछाला। लेकिन, ऐसा करते समय वो भूल गए कि ऐश्वर्या का अपमान भी नारी का अपमान है।

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe