Wednesday, July 24, 2024
22 कुल लेख

रचना वर्मा

पहाड़ की स्वछंद हवाओं जैसे खुले विचार ही जीवन का ध्येय हैं।

इसरो के वैज्ञानिकों ने भगवान वेंकटेश्वर को किया नमन, सूरज को छूने के लिए तैयार है आदित्य एल-1: जानिए भारत के सूर्य मिशन के...

2 सितंबर को इसरो के सूर्य मिशन की लॉन्चिंग होंगी। चंद्रयान-3 की कामयाबी के बाद आदित्य एल-1 की हुई थी घोषणा। जानिए सब कुछ।

स्वीडन में ईराकी ने फिर जलाई कुरान, देख कर रो पड़ा पाकिस्तानी: सलवान मोमिका के बारे में यहाँ जानिए सब कुछ

इराकी शरणार्थी सलवान मोमिका ने राजधानी स्टॉकहोम में पाकिस्तानी दूतावास के सामने फिर से कुरान जलाई। इस पर एक पाकिस्तानी फफक-फफक कर रो पड़ा।

50 करोड़ अकाउंट, ₹2 लाख करोड़ डिपॉजिट, लाभार्थियों में 55% महिला… ‘प्रधानमंत्री जन धन योजना’ के 9 साल: जिन्होंने देखा नहीं था बैंक, अब...

इसकी सबसे बड़ी खासियत जीरो बैलेंस पर बगैर किसी चार्ज के खाते खोलने की सुविधा है। इसके जरिए सरकारी योजनाओं का फायदा सीधे गाँव और सुदूर इलाकों के लोगों तक पहुँच पाया।

कैसे भगवान शिव के मस्तक का आभूषण बन गया चन्द्रमा: पौराणिक कथा में झलकता है हमारे मनीषियों का ज्ञान, ‘चंद्रयान 3’ का लैंडिंग पॉइंट...

इस पौराणिक कथा में प्रजापति दक्ष भी हैं, चंद्रदेव भी हैं और भगवान शिव भी। 'शिव शक्ति पॉइंट' के नामकरण के बाद आइए जानते हैं क्यों चन्द्रमा को धारण करते हैं शिव।

जरा थमिए, कहीं नहीं जा रहा रेनॉल्ड्स 045: सचिन तेंदुलकर के लिए था कामयाबी का रंग, हमारी पीढ़ी के लिए है बचपन का प्यार

भले आज की पीढ़ी के लिए 045 बॉल पेन जाना-पहचाना नाम न हो, लेकिन रेनॉल्ड्स हमारी पीढ़ी के ​बचपन की पोटरी में सहेजी स्मृति है।

कहीं पेट के बहाने छाती दबाता वार्ड ब्वाय, कहीं प्राइवेट पार्ट टच करता टीचर तो कहीं दोस्त की बेटी से रेप करता अधिकारी… मासूमियत...

दिल्ली सरकार के बाल विकास विभाग का अधिकारी रहते प्रेमोदय खाखा ने दोस्त की बेटी का जिस तरीके से शोषण किया, उसका दर्द जिस्मानी से कहीं अधिक जेहनी होता है, जो ताउम्र नासूर सा सालता रहता है।