Tuesday, October 19, 2021

बकैत की रिपोर्ट

S02E09: क्या बकैत को पता था लाल किला और दंगों का?

बकैत के पोस्ट और प्राइम टाइम से पता चलता है कि उसे मालूम था कि किसान क्या करने वाले हैं!

बकैत की नई रिपोर्ट (S02E08): मोदी की फोटो से दिक्कत, टोपी से प्रेम?

मोदी समर्थकों की भीड़ से समस्या, आंदौलनकारी किसानों, बुर्कावालियों की भीड़ से प्रेम? भारतीय कोवैक्सिन से दिक्कत, कोवीशील्ड से प्रेम? कैसे कर लेते हैं बकैताधीश?

S02E07: 2015 में मंडी के खिलाफ, ’20 में वही सही है बकैत? | Ravish u-turns on mandi, adhatiyas

अप्रैल 2015 में मंडी, आढ़तिया किसान के शोषक थे, अब पोषक हैं! जेनरेटर चुराने वाले किसानों पर चुप... 1500 टावर को क्षति पहुँचाने वालों पर चुप...

S02E06: बकैत कुमार मुहल्ले का चुगलखोर लौंडा है | Ajeet Bharti mocks Ravish’s propaganda on farmers

फेक न्यूज़ पर माफ़ी कब माँगेगा रवीश? किसान आंदोलन पर चुगलखोरी और प्रोपेगंडा कब बंद होगा?

S02E05: किसान आंदोलन पर 14 दिन से बकैती | Ravish Kumar’s continuous propaganda on farmer protest

लगातार दो सप्ताह से बकैत रवीश कुमार ने वैसा ही प्रपंच फैलाना जारी रखा है जैसे वो शाहीन बाग के समय कर रहा था।

रवीश की नई रिपोर्ट- भोजपुरिया बकैत कुमार: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Bhojpuri Ravish

रवीश के लिए लॉकडाउन करो तो समस्या है, नहीं करो तो समस्या है। रवीश ने नवंबर 2019 से लेकर सितंबर के तीसरे सप्ताह तक बिहार के बारे के बारे में कुछ नहीं बोला।

आर्थिक पैकेज की समझ नहीं है तो बोलता क्यों है? अजीत भारती का वीडियो । Ajeet Bharti on Ravish kumar

रवीश कुमार की आर्थिक पैकेज पर अज्ञानता; श्रमिकों की चिंता है, लेकिन योगी बस की स्थिति चेक न करे; Y2K पर विशुद्ध झूठ; लोगों को भड़काने की कोशिश जारी है।

फेक न्यूज के सहारे अकेले लगा हुआ है रवीश: अजीत भारती का वीडियो | Ravish Kumar spreading ONLY negativity & fake news

रवीश कुमार ने कई मुद्दों पर बात की, लेकिन उनका मुख्य फोकस यही रहा है कि भारत बर्बाद हो चुका है। टेस्टिंग महीं हो रही है। हम कोविड से नहीं लड़ पा रहे हैं। इस आदमी ने लिखना तो कम किया है, लेकिन जितना लिख रहा है प्रपंच और फ़र्ज़ी बातें ही कर रहा है।

नेहरू और माइनॉरिटी की परिभाषा पर खेला गेम: अजीत भारती का वीडियो | Ravish lies on Nehru-Liyaqat pact, blames Modi

स्वास्तिक जलाना, गाय को काट कर कमल पर दिखाना, आजादी के नारे, तेरा बाप भी देगा आजादी, खिलाफत की बातें, बुर्के में हिंदू औरतों को दिखाना, ये भी एक तरह की हिंसा है। इसे वैचारिक हिंसा कहते हैं।

दिल्ली की शिक्षा पर रवीश ने क्या छुपाया? डेटा से कैसे खेले? अजीत भारती का वीडियो | Ravish lies on Delhi education

रवीश को ये भी बताना था कि दिल्ली की पूरी जीडीपी का कितना प्रतिशत शिक्षा को जा रहा है। वो बताएँगे तो पता चल जाएगा कि यह 2 प्रतिशत से कम है, लेकिन रवीश यह नहीं बताएँगे।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe