Tuesday, July 23, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनपॉर्न मामले में जमानत पर बाहर गहना वशिष्ठ (वंदना तिवारी) ने अपनाया इस्लाम, बॉयफ्रेंड...

पॉर्न मामले में जमानत पर बाहर गहना वशिष्ठ (वंदना तिवारी) ने अपनाया इस्लाम, बॉयफ्रेंड फैज़ान अंसारी संग रचाया निकाह? – मीडिया में आई तस्वीरें

गहना वशिष्ठ फ़िलहाल पॉर्न फिल्मों की शूटिंग और उन्हें बेचने के मामले में जमानत पर बाहर हैं। गहना वशिष्ठ का असली नाम 'वंदना तिवारी' है।

अभिनेत्री गहना वशिष्ठ ने अपने बॉयफ्रेंड फैजान अंसारी के साथ निकाह कर लिया है। इन दोनों के निकाह की तस्वीरें भी सामने आई हैं। पिछले कई दिनों से दोनों एक-दूसरे को डेट कर रहे थे। हालाँकि, अभी तक दोनों ने निकाह के संबंध में कोई बयान नहीं दिया है। लेकिन, लोग इन्हें निकाह की शुभकामनाएँ दे रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि गहना वशिष्ठ ने बॉयफ्रेंड फैज़ान अंसारी से इस्लामी रीति-रिवाज से निकाह किया है।

ये भी कहा जा रहा है कि ‘गंदी बात’ फेम ऐक्ट्रेस ने होने बॉयफ्रेंड से निकाह के लिए इस्लाम भी अपनाया है। फैज़ान अंसारी भी अभिनेता और सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर हैं। फैजान अंसारी को हाल ही में अमेजन के मिनी रियलिटी शो ‘डेटबाजी’ में भी देखा गया था। वहीं गहना वशिष्ठ लगातार विवादों में रही हैं। उन्हें पॉर्न सामग्रियाँ शूट करने और उन्हें प्रसारित करने के लिए पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था। पॉर्न फ़िल्में बेचने के मामले में राज कुंद्रा के साथ भी उनका नाम जुड़ा था।

गहना वशिष्ठ फ़िलहाल पॉर्न फिल्मों की शूटिंग और उन्हें बेचने के मामले में जमानत पर बाहर हैं। गहना वशिष्ठ का असली नाम ‘वंदना तिवारी’ है। उन्हें पॉर्न रैकेट केस में मुंबई के वर्ली से 2021 में गिरफ्तार किया गया था। उन पर 3 अन्य पुरुषों के साथ मिल कर गैंगरेप के भी आरोप हैं। पीड़िता ने कहा था कि उसे जबरन पॉर्न फिल्म शूट करने को मजबूर किया गया, जिसकी निर्देशक गहना वशिष्ठ थीं। बाद में सफाई देते हुए अभिनेत्री ने कहा था कि बोल्ड और इरोटिक फिल्मों को पॉर्न नहीं कहा जा सकता।

इस प्रकरण के दौरान अगस्त 2021 में अभिनेत्री गहना वशिष्ठ अचानक से इंस्टाग्राम के लाइव वीडियो सेशन में न्यूड होकर आ गई थीं। उन्होंने कहा था, “मैं इस वीडियो में बिना कपड़ों के हूँ, लेकिन कोई इसे पॉर्न नहीं बता रहा।” उन्होंने दावा किया था कि जब इसके उलट वो कपड़े पहनती हैं तो लोग इसे पॉर्न बताने लगते हैं। उन्होंने इसे ‘दोहरे रवैये की पराकाष्ठा’ करार देते हुए अपने ऊपर लगे आरोपों पर सवाल उठाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -