Saturday, October 23, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनअब नुसरत जहाँ के 'पति' ने खोला मुँह, बताया- अगस्त की शूटिंग के बाद...

अब नुसरत जहाँ के ‘पति’ ने खोला मुँह, बताया- अगस्त की शूटिंग के बाद बदल गई, नवंबर में छोड़ा घर; कुछ पैसा भी बकाया

“मेरे परिवार ने नुसरत को दोनों हाथों से बेटी की तरह प्यार दिया। उन्हें क्या मालूम था ये दिन देखना होगा।”

टॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री और तृणमूल कॉन्ग्रेस की सांसद नुसरत जहाँ इन दिनों अपनी शादी को अवैध बताने के कारण चर्चा में हैं। उन्होंने निखिल जैन के साथ अपनी सारी तस्वीरों को भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम से डिलीट कर दिया है। उनका कहना है कि निखिल जैन के साथ उनका रिश्ता भारतीय कानून के अनुसार मान्य नहीं है। वहीं निखिल का कहना है कि मामला कोर्ट में है वह इस पर ज्यादा कुछ नहीं कह सकते।

नुसरत के चौंकाने वाले बयान के बाद भाजपा नेता अमित मालवीय ने इसको लेकर सवाल उठाया है। बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख ने इस संबंध में संसद में नुसरत जहाँ का एक वीडियो ट्वीट करते हुए सवाल उठाया,

“टीएमसी सांसद नुसरत जहाँ रूही जैन की अपनी व्यक्तिगत जिंदगी है। वह, किसके साथ शादी करती हैं, किसके साथ रहती हैं इससे किसी को मतलब नहीं होना चाहिए। लेकिन वह एक चुनी हुई जन प्रतिनिधि हैं। साथ ही संसद के रिकॉर्ड में निखिल जैन के साथ शादी की बात दर्ज है। ऐसे में क्या उन्होंने सदन में झूठ बोला है।”

निखिल जैन का बयान

एक्ट्रेस के साथ तुर्की में शादी करने वाले निखिल जैन का कहना है कि प्रेम में उन्होंने नुसरत को प्रपोज किया और दोनों ने साल 2019 में तुर्की में जाकर डेस्टिनेशन वेडिंग की। शादी का रिसेप्शन कोलकाता में हुआ था। अपने बयान में निखिल कहते हैं कि उन लोगों ने समाज में खुद को शादीशुदा कपल के तौर पर पेश किया। उनकी ओर से नुसरत को हर समर्थन देने की कोशिश की गई। हालाँकि कुछ समय बाद चीजें बदल गई।

निखिल कहते हैं कि नुसरत का बर्ताव अगस्त 2020 में फिल्म शूटिंग के बाद बदला। इस बीच उन्होंने कई बार नुसरत से कहा कि शादी को रजिस्टर करवा लेते हैं, लेकिन हर बार उनकी ये बात टाल दी गई। 5 नवंबर को नुसरत ने निखिल का फ्लैट अपने सामान के साथ छोड़ा और अपने Ballyguge फ्लैट पर शिफ्ट हो गईं। इसके बाद दोनों कभी पति-पत्नी बनकर नहीं रहे। नुसरत के जाने के बाद निखिल ने नुसरत से जुड़े दस्तावेज भी उनके पास भिजवा दिया। जब मीडिया में नुसरत के बाहर आने-जाने की खबरें छपी तो उन्हें ऐसा लगा जैसे उन्हें धोखा मिला है।

8 मार्च 2021 को इस मामले में अलीपुर कोर्ट के सामने शादी रद्द कराने के लिए एक सिविल सूट दायर हुआ और तबसे ये मामला कोर्ट में ही है। निखिल कहते हैं कि जब तक मामला कोर्ट में है वह कुछ नहीं कह सकते। उनके मुताबिक अगर नुसरत इस संबंध में कुछ न कहतीं तो उन्हें भी ये तथ्य नहीं बताने पड़ते।

निखिल ने बताया कि कैसे नुसरत का होम लोन कर्जा चुकाने के लिए वह अपने परिवार के अकाउंट से उनके अकाउंट में पैसे डालते थे। उन्हें लगता था कि ये पैसे वह धीरे-धीरे इन्टॉलमेंट में चुका देंगी। बयान में निखिल ने कहा है, “अगर उसके अकाउंट से मेरे परिवार के अकाउंट में कोई पैसा आया है तो वह केवल रीपेमेंट हैं जिसे अच्छी नीयत से उन्हें दिया गया था। कुछ पैसा अब भी बकाया है।”

नुसरत के सभी आरोपों को खारिज करते हुए निखिल ने इन्हें निराधार, अपमानजनक और सत्य से कोसों दूर कहा है। निखिल कहते हैं, “मेरे परिवार ने नुसरत को दोनों हाथों से बेटी की तरह प्यार दिया। उन्हें क्या मालूम था ये दिन देखना होगा।”

नुसरत जहां के आरोप

गौरतलब है कि इससे पहले नुसरत जहाँ ने कहा था कि कारोबारी निखिल जैन के साथ उनकी शादी तुर्की में हुई थी, जो भारतीय कानून के हिसाब से अमान्य है। ये पहली बार है जब निखिल जैन से अलग होने को लेकर उन्होंने चुप्पी तोड़ी थी। नुसरत ने अपने बयान में कहा कि वो भारतीय सरजमीं पर हैं, इसीलिए ‘तुर्किश मैरिज रेगुलेशन’ के तहत हुई ये शादी समारोह अमान्य है। साथ ही उन्होंने बताया कि ये एक इंटरफेथ मैरिज था, इसे भारत के ‘स्पेशल मैरिज एक्ट’ के तहत मान्यता नहीं दिलाई गई। निखिल जैन को लेकर नुसरत का कहना था कि जैन ने बिना उनकी जानकारी के उनके बैंक एकाउंट्स और उसके फंड्स का दुरुपयोग किया। उन्होंने कहा कि वो अब भी बैंक से इस सम्बन्ध में बात कर रही हैं और ज़रूरत पड़ने पर सबूत भी देंगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति की बेटी सुकमावती इस्लाम छोड़ रहीं, अपनाएँगी हिंदू धर्म: सुधी वदानी रस्म की होगी प्रक्रिया

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो की बेटी ने इस्लाम से वापस हिंदू धर्म अपनाने का फैसला किया है। सुधी वदानी नाम की रस्म होगी।

सोनिया गाँधी साथ पाकिस्तानी अरूसा आलम, पूर्व PM मनमोहन भी लपेटे में: कैप्टन अमरिंदर ने पंजाब के बहाने पूरे कॉन्ग्रेस को घेरा

अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार ने एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और अरूसा आलम को हाथ मिलाते हुए दिखाया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,940FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe