Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'IFFI जूरी के मुखिया ने कश्मीरी हिन्दुओं के बलिदान का उड़ाया मजाक': सुप्रीम कोर्ट...

‘IFFI जूरी के मुखिया ने कश्मीरी हिन्दुओं के बलिदान का उड़ाया मजाक’: सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता ने दर्ज कराई पुलिस शिकायत, इजरायली राजदूत ने अनुपम खेर से माँगी माफ़ी

शोशानी ने एक संवाददाता सम्मेलन में अभिनेता अनुपम खेर के साथ मंच साझा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि 'द कश्मीर फाइल्स' प्रोपेगेंडा नहीं बल्कि एक शानदार फिल्म है, जो कश्मीर के लोगों की पीड़ा को व्यक्त करती है।

सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करने वाले एक वकील ने मंगलवार (29 नवंबर, 2022) को गोवा पुलिस के पास IFFI जूरी हेड नादव लैपिड (Nadav Lapid) के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने लैपिड पर कश्मीरी हिंदुओं के बलिदान का मजाक उड़ाने का आरोप लगाया है। एडवोकेट विनीत जिंदल (Vineet Jindal) ने नादव के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धाराओं 121, 153, 153A और B, 295, 298 और 505 के तहत शिकायत रजिस्ट्रेशन करने को कहा है।

वहीं, मुबंई में आज मिडवेस्ट इंडिया में इजरायल के महावाणिज्यदूत कोब्बी शोशानी ने कहा कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर बहस से भारत और इजरायल के बीच संबंध मजबूत होंगे। कोब्बी शोशानी ने ​नादव की विवादित टिप्पणी से खुद को अलग करते हुए कहा कि उन्होंने यह फिल्म देखी है, उनकी इस पर अलग राय है।

शोशानी ने एक संवाददाता सम्मेलन में अभिनेता अनुपम खेर के साथ मंच साझा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ प्रोपेगेंडा नहीं बल्कि एक शानदार फिल्म है, जो कश्मीर के लोगों की पीड़ा को व्यक्त करती है। शोशानी ने मीडियाकर्मियों से आगे कहा, “मैंने सुबह सबसे पहले अपने दोस्त अनुपम खेर को फोन किया था, वो भी सिर्फ माफी माँगने के लिए। मैं उस विवादित टिप्पणी के लिए माफी माँगता हूँ, जो (लैपिड की टिप्पणी) एक निजी राय थी। लैपिड की टिप्पणी से इजरायल का कोई लेना-देना नहीं है।”

इससे पहले ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर इजरायल के फिल्मकार और IFFI जूरी हेड के विवादित बयान पर उनके देश के राजदूत ने माफी माँगी थी। सिलसिलेवार कई ट्वीट करके उन्होंने जूरी हेड लैपिड को जम कर खरी-खोटी सुनाई। भारत में इजरायल के राजदूत नाओर गिलन ने लैपिड को खुला लेटर लिखा। उन्होंने अंग्रेजी में किए ट्वीट में लिखा कि कश्मीर फाइल्स पर उनकी आलोचना के बाद ऐसा लिखना पड़ रहा है और यह हिब्रू भाषा में नहीं है, क्योंकि वो चाहता हैं कि भारतीय भाई-बहन भी इसे समझ सकें।

उन्होंने लिखा, “यह काफी लंबा है इसलिए मैं चाहता हूँ कि आप मूल बात पहले जान लो। राजदूत ने कहा, “आपको शर्म आनी चाहिए।” गिलन ने आगे कहा कि भारतीय संस्कृति में मेहमान को भगवान की तरह माना जाता है। आपने IFFI में जजों के पैनल के हेड के रूप में भारतीय आमंत्रण का अपमान किया है। उनके भरोसे, सम्मान और गर्मजोशी के साथ किए गए स्वागत का भी मजाक बना दिया।”

बता दें कि नादव लैपिड ने गोवा में आयोजित इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (IFFI) में ​विवेक ​अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर विवादित टिप्पणी की। उन्होंने 1990 के दशक में घाटी से कश्मीरी पंडितों को निकाले जाने और उनके सामूहिक नरसंहार पर आधारित ‘द कश्मीर फाइल्स’ को अश्लील (Vulgar) और प्रोपेगेंडा (Propaganda) फिल्म बताया है। अभिनेता अनुपम खेर और विवेक अग्निहोत्री ने जहाँ इसका कड़ा विरोध किया है। वहीं कॉन्ग्रेस पार्टी, अभिनेत्री स्वरा भास्कर और शिवसेना नेता संजय राउत इसका समर्थन कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -