Thursday, July 18, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'OTT पर गे और लेस्बियन कंटेंट की भरमार, चला गया स्वच्छ मनोरंजन का जमाना':...

‘OTT पर गे और लेस्बियन कंटेंट की भरमार, चला गया स्वच्छ मनोरंजन का जमाना’: अमीषा पटेल के बयान पर भड़कीं उर्फी जावेद, कहा – 25 साल से काम नहीं मिल रहा तो…

उर्फी जावेद ने लिखा कि जब सार्वजनिक हस्तियाँ बिना खुद को शिक्षित किए संवेदनशील मुद्दों पर इस तरह के बयान देती हैं तो उन्हें खासी परेशानी होती है।

OTT और बॉलीवुड कंटेंट को लेकर अभिनेत्री अमीषा पटेल और मॉडल उर्फी जावेद के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है। ‘ग़दर 2’ की अभिनेत्री ने कहा था कि OTT प्लेटफॉर्म्स गे और लेस्बियन कंटेंट्स से भरे पड़े हैं। अब उर्फी जावेद ने कहा है कि वो अमीषा पटेल के इस बयान से क्षुब्ध हैं। उर्फी जावेद ने शनिवार (8 जुलाई, 2023) को इंस्टाग्राम स्टोरीज के माध्यम से कहा कि पूछा कि ये Gayism और Lesbianism क्या होता है? उन्होंने पूछा कि क्या अपने बच्चों को इससे दूर रखना है?

उर्फी जावेद ने कहा कि जब अमीषा पटेल ने ‘कहो न प्यार है’ फिल्म किया, तो क्या उनका मतलब सिर्फ ‘स्ट्रेट’ लोगों से था? उर्फी जावेद ने लिखा कि जब सार्वजनिक हस्तियाँ बिना खुद को शिक्षित किए संवेदनशील मुद्दों पर इस तरह के बयान देती हैं तो उन्हें खासी परेशानी होती है। उर्फी जावेद ने व्यक्तिगत निशाना साधते हुए कहा कि अमीषा पटेल को 25 वर्षों से काम नहीं मिल रहा है, जिस कारण वो एक कड़वी व्यक्ति बन गई हैं। उर्फी जावेद ने अमीषा पटेल का वीडियो शेयर करते हुए ये टिप्पणी की।

बता दें कि 47 वर्षीय अमीषा पटेल ने कहा था कि लोग ‘क्लीन एंटरटेनमेंट’ की तलाश में हैं। उनका कहना था कि ऐसे कंटेंट डिजिटल स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स पर उपलब्ध नहीं हैं। साथ ही उन्होंने कहा था कि OTT के सभी बड़े प्लेटफॉर्म्स पर जो कंटेंट हैं उनमें समलैंगिक दृश्यों की भरमार है। उन्होंने कहा था कि अब वो जमाना चला गया, जब दादा-दादी अपने पोते-पोतियों के साथ बैठ कर सिनेमा देख सकते थे। OTT के दृश्यों के दौरान बच्चों को दूर रखना पड़ता है।

अमीषा पटेल ने कहा कि आजकल के कंटेंट्स ऐसे हैं कि आपको या तो अपने बच्चों की आँखों को कवर करना पड़ता है या फिर टीवी में लॉक लगाना पड़ता है। आजकल ऐसे कंटेंट आ रहे हैं कि आप नहीं चाहेंगे कि आपके बच्चे इसे देखें। हाल ही में अमीषा पटेल ने ‘ग़दर 2’ के निर्देशक अनिल शर्मा पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनकी कंपनी ने अभिनेता-अभिनेत्रियों का ख्याल नहीं रखा, Zee के हस्तक्षेप के बाद सबको पैसे मिले। हालाँकि, अनिल शर्मा ने अब मनमुटाव से इनकार किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -