Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयअन्य'ब्राह्मण, इब्राहिम अलैहिस्सलाम के वंशज हैं': गायक लकी अली ने गाया कट्टरपंथी राग, विरोध...

‘ब्राह्मण, इब्राहिम अलैहिस्सलाम के वंशज हैं’: गायक लकी अली ने गाया कट्टरपंथी राग, विरोध होने पर चुपचाप डिलीट किया पोस्ट

बॉलीवुड सिंगर मकसूद महमूद अली (लकी अली के नाम से मशहूर) ने सोशल मीडिया पर अजीबोगरीब दावा करके विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘ब्राह्मण’ शब्द ‘अब्राहम’ से लिया गया है। अली ने अपने फेसबुक पोस्ट में दावे के साथ कहा, “ब्राह्मण’ नाम ‘ब्रह्मा’ से आया है और ‘ब्रह्मा’ शब्द की उत्पत्ति ‘अब्राम’ से हुई है… जिसे अब्राहम या इब्राहिम से लिया गया है।”

इसके बाद मकसूद महमूद अली (Maqsood Mahmood Ali) ने आगे लिखा, “ब्राह्मण इब्राहिम अलैहिस्सलाम के वंशज हैं, जो कई राष्ट्रों के फादर हैं। तो हर कोई आपस में बिना किसी तर्क के बहस और लड़ाई क्यों कर रहा है?” हालाँकि, अपने दावे की पुष्टि के लिए गायक ने कोई भी सोर्स नहीं दिया।

लकी अली के डिलीट किए गए पोस्ट का स्क्रीनशॉट

गायक का अपमानजनक दावा उनके फॉलोअर्स को पसंद नहीं आया। उन्होंने हिंदू धर्म के बारे में उनकी अज्ञानता पर सवाल उठाया और उनसे इस मामले पर कुछ न कहने का आग्रह किया।

गूगल सर्च में लकी अली के फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

ओंकार दाभाडकर नाम के एक यूजर ने उनकी फेसबुक पोस्ट पर कमेन्ट किया, “सर, हम आपको आपके म्यूजिक के लिए प्यार करते हैं। आप अपनी फील्ड के जानकार हैं। कृपया करके अन्य चीजों पर टिप्पणी करने से बचें।”

लकी अली के फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनग्रैब

सोशल मीडिया पर लोगों के रिएक्शन के बाद लकी अली ने बिना किसी से माफी माँगे अपने विवादास्पद फेसबुक पोस्ट को डिलीट दिया। लेकिन ऑपइंडिया गूगल पर अली के फेसबुक पोस्ट का Cached Version खोजने में सफल रहा।

बता दें कि ब्राह्मणों को इब्राहिम का वंशज बताने का प्रयास 1400 से 2000 साल पुराना है। लकी अली ने भी सोशल मीडिया के जरिए ऐसा करने की कोशिश की। लेकिन खुद की फजीहत होने के बाद शर्मसार होना पड़ा। दरअसल, इस्लामिक कट्टरपंथियों की यह सोच सदियों पुरानी है, जो हिंदू सभ्यता को कमजोर करने की कोशिश करती है। यह खुद को सभी सभ्यताओं के जन्म का कारण बताते हैं। उनके मुताबिक, विभिन्न संस्कृतियाँ और धर्म का उदय इब्राहीमी प्रथा है, जो अलग-अलग हो गए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -