Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यधर्मशाला टेस्ट में भारतीय टीम ने पारी और 64 रनों से इंग्लैंड को हराया,...

धर्मशाला टेस्ट में भारतीय टीम ने पारी और 64 रनों से इंग्लैंड को हराया, 4-1 से टीम इंडिया ने सीरीज पर किया कब्जा, बने कई बड़े रिकॉर्ड

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली गई 5 टेस्ट मैचों की सीरीज भारतीय टीम ने 4-1 से जीत ली है। कुलदीप यादव मैन ऑफ द मैच तो यशस्वी मैन ऑफ द सीरीज बने।

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली गई 5 टेस्ट मैचों की सीरीज भारतीय टीम ने 4-1 से जीत ली है। धर्मशाला में खेले गए पाँचवें और आखिरी टेस्ट मैच को टीम इंडिया ने पारी और 54 रनों से जीतते हुए कई रिकॉर्ड बना डाले। इस मैच में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले कुलदीप यादव को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने इस मैच में 112 रन देकर 7 विकेट लिए, तो बल्ले से भी 30 रनों का योगदान दिया। वहीं, पूरी सीरीज में 2 दोहरे शतकों और तीन अर्धशतकों की मदद से 712 रन बनाने वाले यशस्वी जायसवाल को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

बल्ले और गेंद से धाकड़ प्रदर्शन

इस मैच में भारतीय गेंदबाजों ने जलवा तो बिखेरा ही, बल्लेबाजों ने भी शानदार पारियाँ खेली। शीर्ष 5 बल्लेबाजों ने 50 रन से अधिक का स्कोर बनाया, जिसमें रोहित शर्मा और शुबमन गिल ने शतकीय पारियाँ खेली। भारतीय टीम ने इंग्लैंड के 218 रनों के जवाब में 477 रन बनाए थे। इसमें यशस्वी जायसवाल ने 57, रोहित शर्मा ने 103, शुबमन गिल ने 110, देवदत्त पड्डिकल ने 65 और सरफराज खान ने 56 रन बनाए। वहीं, रविद्र जडेजा-ध्रुव जुरेल ने 15-15 रन तो कुलदीप यादव ने 30 और जसप्रीत बुमराह ने 20 रनों का योगदान दिया। इंग्लैंड के लिए शोएब बशीर ने 5 विकेट लिए, लेकिन उन्हें 173 रन खर्च करने पड़े, तो जेम्स एंडरसन और टॉम हार्टली ने 2-2 विकेट लिए। वहीं बेन स्टोक्स ने करीब साल भर बार गेंदबाजी करते हुए रोहित शर्मा को आउट किया।

भारत ने पहली पारी के आधार पर 259 रनों की बढ़त बनाई थी, लेकिन इंग्लैंड की दूसरी पारी महज 195 रनों पर सिमट गई। जो रुट ने सर्वाधिक 84 रन बनाए। भारत के लिए अश्विन ने 5 विकेट लिए, तो बुमराह-कुलदीप ने 2-2 विकेट लिए वहीं, जडेजा ने भी एक विकेट लिया।

धर्मशाला मैच का संक्षिप्त हाल

धर्मशाला टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में कुलदीप यादव के 5 विकेट और अश्विन के 4 विकेट की बदौलत इंग्लैंड को पहली पारी में 218 रन पर समेट दिया था। इसके बाद भारत ने शुभमन गिल (110) और रोहित शर्मा (103) के शतकों से पहली पारी में 477 रनों का विशाल स्कोर बनाकर इंग्लैंड पर 259 रनों की बढ़त हासिल कर डाली थी। इंग्लैंड की दूसरी पारी में अपना 100वाँ टेस्ट मैच खेलने वाले अश्विन ने 5 विकेट झटके और इंग्लैंड की पूरी पारी को महज 195 रनों पर समेट दिया। इस तरह से टीम इंडिया ने धर्मशाला टेस्ट मैच को पारी और 64 रनों के अंतर से जीत लिया और 4-1 से सीरीज पर कब्जा कर लिया।

धर्मशाला टेस्ट मैच में बने कई रिकॉर्ड

इस मैच के साथ ही रविचंद्रन अश्विन और इंग्लैंड के जॉनी बेयरेस्टो ने अपने करियर में 100-100 टेस्ट मैच खेलने की उपलब्धि पाई।

इस टेस्ट मैच में जेम्स एंडरसन ने 700 टेस्ट विकेट का आँकड़ा छुआ, ऐसा करने वाले वो पहले तेज गेंदबाज हैं।

इस टेस्ट मैच के साथ ही अश्विन ने अनोखा कारनामा किया। उन्होंने अपने पहले, 25वें, 50वें और 100वें टेस्ट मैच में पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा किया, वो ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी हैं।

इस टेस्ट मैच में जीत के साथ ही भारतीय टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल की रेस में एक बार फिर से आगे बढ़ गई है। भारतीय टीम ने 9 मैचों में 6 मैचों में जीत, 2 हार और 1 ड्रॉ के साथ कुल 74 अंक हासिल कर लिए हैं। जो कुल अंकों का 68.51 प्रतिशत है।

इस सीरीज के सभी पाँच मैचों के परिणाम

पहला टेस्ट मैच: हैदराबाद में इंग्लैंड ने पहला टेस्ट मैच 28 रनों से जीता

दूसरा टेस्ट मैच: विशाखापत्तनम में भारतीय टीम ने दूसरा टेस्ट मैर 106 रनों से जीता और सीरीज में बराबरी पाई

तीसरा टेस्ट मैच: राजकोट में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच को भारतीय टीम ने 434 रनों के बड़े अंतर से जीता

चौथा टेस्ट मैच: राँची में भारतीय टीम ने 5 विकेट से चौथा टेस्ट मैच जीता

पाँचवाँ टेस्ट मैच: धर्मशाला में भारतीय टीम ने पारी और 64 रनों से मैच जीता और सीरीज पर 4-1 से कब्जा किया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -