Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजटीचर ने हिंदू छात्रा को अल्लाह की इबादत करने के लिए मजबूर किया, स्कूल...

टीचर ने हिंदू छात्रा को अल्लाह की इबादत करने के लिए मजबूर किया, स्कूल ने दर्ज करा दिया छवि खराब करने का केस

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में लड़की ने कहा कि उसकी टीचर ने हिंदू छात्रों को अपने दोनों हाथों को कटोरे की तरह जोड़ते हुए अल्लाह की इबादत करने के लिए कहा था।

बेंगलुरु स्थित ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल (Orchid International School) की एक छात्रा के पिता विक्रम सिम्हा के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। स्कूल ने दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा पर स्कूल को बदनाम करने का आरोप कहा कि उसकी वजह से स्कूल एक बड़े विवाद में फँस गया था। छात्रा ने अपनी मैथ की टीचर पर आरोप लगाया था कि गणित का एक सवाल हल नहीं करने पर सजा के रूप में सबसे बेहतर भगवान अल्लाह की इबादत करने के लिए मजबूर किया था। और इस बारे में किसी को कुछ न बताने के लिए भी बोला था। वहीं, स्कूल ने अपनी शिकायत में छात्रा पर स्कूल की छवि को खराब करने का आरोप लगाते हुए पुलिस से इस मामले की जाँच करने का अनुरोध किया है।

छात्र पर स्कूल की छवि करने का आरोप

शिकायत के अनुसार, “दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली विक्रम सिम्हा की बेटी ने एक वीडियो जारी कर ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल पर मजहबी एजेंडा लागू करने आरोप लगाया था। वीडियो के बारे में स्कूल को 4 जनवरी को दोपहर 02:20 बजे पता चला, जिसके बाद स्कूल के अधिकारियों ने छात्रा से इस बारे में पूछताछ की। छात्रा ने वीडियो को सार्वजनिक करने की बात स्वीकार की है। इसको देखते हुए स्कूल ने छात्रा पर स्कूल को बदनाम करने की शिकायत पुलिस में दर्ज की है। इस घटना से हमारे स्कूल की छवि को काफी नुकसान पहुँचा है, इसलिए हम आपसे इसकी जाँच करने का अनुरोध करते हैं।”

बता दें कि ऑपइंडिया द्वारा 6 जनवरी को इस घटना के बारे में रिपोर्ट किए जाने के बाद हमें ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूलों की ओर से शाओली चक्रवर्ती से एक ईमेल प्राप्त हुआ था, जिसमें हमें स्कूल के पिता विक्रम सिम्हा के खिलाफ दर्ज की गई शिकायत के बारे में बताया गया था। वीडियो में छात्रा अपनी टीचर के खिलाफ बोल रही है।

ईमेल में कहा गया है, “स्कूल ने इस मामले की पूरी तरह से जाँच की है और पाया है कि यह आरोप निराधार और पूरी तरह से झूठे हैं। वर्तमान में हमने बच्चों के माता-पिता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की है। इससे हमारे स्कूल की छवि को नुकसान पहुँचाने वाले इस मामले की पुलिस जाँच कर रही है।” 7 जनवरी को ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूलों की ओर से ऑपइंडिया को भेजे गए ईमेल को आप नीचे पढ़ सकते हैं। स्कूल ने हमारे साथ मीको लेआउट पुलिस स्टेशन (Mico Layout police station) (बी.टी.एम.लेआउट), बेंगलुरु में दर्ज कराई गई शिकायत की एक कॉपी साझा की है।

शिकायत की कॉपी

दरअसल, बेंगलुरु इस स्कूल की छात्रा ने आरोप लगाया है कि टीचर ने पूरी क्लास को सजा के रूप में ‘सबसे अच्छे भगवान’ अल्लाह को याद करने के लिए मजबूर किया। विक्रम सिम्हा ने अपनी बेटी का एक वीडियो रिकॉर्ड किया था, जिसमें उसने कहा था कि उसे ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल, बीटीएम शाखा, बेंगलुरु में अल्लाह की इबादत करने के लिए उसे मजबूर किया गया था।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में लड़की ने कहा कि उसकी टीचर ने हिंदू छात्रों को अपने दोनों हाथों को कटोरे की तरह जोड़ते हुए अल्लाह की इबादत करने के लिए कहा था। स्कूल का कहना है, “हमने कक्षा के सीसीटीवी फुटेज की जाँच की है और अन्य बच्चों से भी इस बारे में बात की है। उन सभी ने ऐसी किसी भी घटना के होने से इनकार किया है।”

बता दें कि हाल ही में बेंगलुरु के इस स्कूल में एक बच्ची को सजा देने के लिए उससे इस्लामी ढंग से प्रार्थना करवाई गई। कथिततौर पर ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल (Orchid International School) की मैथ टीचर ने छात्रा से एक सवाल हल न होने पर कहा था कि वो अल्लाह के नाम से दुआ पढ़े और इस बारे में किसी को कुछ न बताए। बेंगलुरु स्कूल में ‘शिक्षा जिहाद’ से संबंधी ये मामला विक्रम सिम्हा द्वारा रिकॉर्ड की गई वीडियो के बाद चर्चा में आया जिसमें उनकी बेटी बता रही थी कि कैसे उनकी मैथ टीचर उन्हें हाथों को आधा खोलकर (कटोरे की तरह) अल्लाह से दुआ माँगने के लिए कहती है। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -