Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजआमिर हमजा खान जामिया मेट्रो स्टेशन पर पिस्टल और 5 जिंदा कारतूस के साथ...

आमिर हमजा खान जामिया मेट्रो स्टेशन पर पिस्टल और 5 जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा गया

जेएनयू हिंसा में जामिया कनेक्शन की बात सामने आने के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन पर हथियारों से लैस युवक का इस तरह से गिरफ्तार होना बहुत कुछ संकेत देता है। हालाँकि फिलहाल इस पर कुछ भी स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता है। पुलिस की जाँच के बाद ही चीजें स्पष्ट होकर आएँगी।

विभिन्न प्रदर्शनों और घटनाओं को लेकर पूरी दिल्ली इस वक्त हाई अलर्ट पर है। इस बीच जामिया के पास एक शख्स पिस्टल के साथ गिरफ्तार हुआ है। शख्स को जामिया मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस ने जामिया मिलिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन से 34 वर्षीय आमिर हमजा खान नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि आमिर दिल्ली के जाकिर नगर का रहने वाला है। उसे सीआईएसएफ द्वारा जामिया मिलिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन के फ्रिस्किंग पॉइंट पर एक पिस्टल और 5 जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया है। आगे की तफ्तीश जारी है।

बता दें कि रविवार (जनवरी 5, 2019) को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हुई हिंसा में जामिया मिलिया इस्लामिया से भी लोगों के आने की बात सामने आ रही है। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने भी कहा कि वो जेएनयू के कुछ छात्रों से मिली थी। जिसमें से कई छात्रों ने उन्हें बताया कि कुछ लोग जामिया से भी जेएनयू आए थे। जेएनयू हिंसा में जामिया कनेक्शन की बात सामने आने के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन पर हथियारों से लैस युवक का इस तरह से गिरफ्तार होना बहुत कुछ संकेत देता है। हालाँकि फिलहाल इस पर कुछ भी स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता है। पुलिस की जाँच के बाद ही चीजें स्पष्ट होकर आएँगी। 

बता दें कि रविवार को मास्क पहने गुंडों ने हॉस्टल में जम कर पत्थरबाजी भी की। उन्होंने छात्रों के साथ-साथ गार्डों को भी निशाना बनाया। मीनाक्षी लेखी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने कुछ लड़कियों से बात की है। छात्राओं ने उन्हें बताया कि वो लोग मैनुअली रजिस्ट्रेशन करवाने जा रहे थीं तो उनके हिप और प्राइवेट पार्ट्स पर लाठी-डंडों से हमला किया गया। इतना ही नहीं, कई छात्राओं को बाथरूम में ले जाकर उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया गया। इसके साथ ही जेएनयू कैम्पस में दिल्ली पुलिस के फ्लैग मार्च करने के दौरान ‘दिल्ली पुलिस, गो बैक’ के नारे भी लगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

ओलंपिक में मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतने पर एक दुःखी वामपंथी की व्यथा…

भारत की एक महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता है। ये विज्ञान व लोकतंत्र के खिलाफ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe