Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजभगोड़ा नित्यानंद के ख़िलाफ़ इंटरपोल ने जारी किया 'ब्लू नोटिस': गुजरात पुलिस ने किया...

भगोड़ा नित्यानंद के ख़िलाफ़ इंटरपोल ने जारी किया ‘ब्लू नोटिस’: गुजरात पुलिस ने किया था अनुरोध

ब्लू नोटिस ऐसे व्यक्ति को खोजने के लिए जारी किया जाता है जो लापता या अज्ञात अपराधी है या फिर सामान्य आपराधिक कानून उल्लंघन के लिए वॉन्टेड है। नित्यानंद के ख़िलाफ जारी किए गए नोटिस का अनुरोध स्वयं गुजरात पुलिस ने किया था।

बच्चियों से दुष्कर्म के आरोपी और हाईप्रोफाइल बाबा नित्यानंद के ख़िलाफ़ इंटरपोल ने गुजरात पुलिस के अनुरोध के बाद ब्लू नोटिस जारी किया है। हालाँकि, आरोप के बाद देश छोड़कर भागे नित्यानंद का अभी तक ऐजेंसियाँ सुराग नहीं लगा सकी हैं। नित्यानंद अलग देश ‘कैलासा’ बनाने वाली खबरों के बाद देशभर में चर्चा में आया था।

एएनआई द्वारा किए गए ट्वीट के मुताबिक ब्लू नोटिस ऐसे व्यक्ति को खोजने के लिए जारी किया जाता है जो लापता या अज्ञात अपराधी है या फिर सामान्य आपराधिक कानून उल्लंघन के लिए वॉन्टेड है। नित्यानंद के ख़िलाफ जारी किए गए नोटिस का अनुरोध स्वयं गुजरात पुलिस ने किया था।

आपकों बता दें कि नित्यानंद के खिलाफ 22 नवंबर को दो बच्चियों के अपहरण का मामला दर्ज करने वाली गुजरात पुलिस ने माना था कि नित्यानंद देश छोड़ कर भाग चुका है। उस पर कर्नाटक में भी अपनी शिष्याओं से दुष्कर्म का मामला दर्ज है। नित्यानंद का पासपोर्ट 2018 में ही रद्द हो चुका है। एजेंसियों को शक है कि वह नेपाल के रास्ते बिना पासपोर्ट भाग गया।

देश छोड़कर भागे हाईप्रोफाइल नित्यानंद का अभी तक एजेंसियाँ सुराग नहीं लगा सकी हैं। इतना ही नहीं देश छोड़ने की भनक नित्यानंद ने गुजरात पुलिस को भी नहीं लगने दी। वहीं इसके बाद नित्यानंद ने एक वीडियो जारी करके एजेंसियों को चेतावनी भी दी थी, जिसमें उसने कहा था कि कोई भी अदालत उसे सजा देकर सच बोलने से नहीं रोक सकती। नित्यानंद के मुताबिक वह भगवान शिव का परम रूप है और इस सच को दुनिया को बताना चाहता है। इसके बाद से ही विदेश मंत्रालय ने सभी देशों में भारतीय दूतावासों और उच्चायोगों को अलर्ट कर रखा है।

कुछ दिनों पहले ऐसी रिपोर्टें आईं कि फरार नित्यानंद ने साउथ अमेरिका के देश इक्वाडोर से एक द्वीप खरीदा है और उसे अपना देश घोषित करते हुए उसका नाम ‘कैलासा’ रखा। नित्यानंद ने जो कैलासा देश बनाया है, उसकी एक वेबसाइट भी है Kailaasa.org। इसके बारे में वेबसाइट पर लिखा है कि कैलाशा एक ऐसा देश है, जिसे बिना किसी सीमाओं के हिंदुओं के लिए बनाया गया है। ये उनके लिए है जो अपने देश में हिंदू होने का अधिकार खो चुके हैं’। हालाँकि, सरकार ने इक्वाडोर में नित्यानंद के अलग देश बनाने के दावे को सिरे से खारिज कर दिया था।

नित्यानंद के देश ‘कैलासा’ की वेबसाईट


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,361FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe