Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में 200 अरबी स्कूल, ज्यादातर नहीं करते गाइडलाइंस का पालन: राज्य सरकार ने...

कर्नाटक में 200 अरबी स्कूल, ज्यादातर नहीं करते गाइडलाइंस का पालन: राज्य सरकार ने दिए जाँच के आदेश, मंत्री बोले- छात्रों के पास सही शिक्षा तक नहीं

शिक्षा मंत्री नागेश ने कहा कि उन्हें शिकायतें मिली हैं कि अरबी स्कूल न तो सरकारी दिशा निर्देशों का पालन कर रहे हैं और न ही छात्रों को पर्याप्त शिक्षा दे रहे हैं।

कर्नाटक में राज्य शिक्षा विभाग से जुड़े करीब 200 अरबी स्कूलों का सर्वेक्षण किया गया था। सर्वेक्षण में यह बात निकलकर सामने आई कि सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा बताए गए दिशा-निर्देशों का अधिकांश स्कूल पालन नहीं कर रहे हैं ।

राज्‍य के स्‍कूल शिक्षा मंत्री बी सी नागेश ने कहा, “हमें शिकायतें मिली हैं कि इन स्कूलों के छात्र दूसरे स्कूलों के छात्रों के साथ प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम नहीं हैं क्योंकि उनके पास शिक्षा का उचित स्तर नहीं है।”

रिपोर्ट मिलने के बाद होगी करवाई

इससे पहले शिक्षा मंत्री ने कहा था, “हमने उन स्कूलों का सर्वेक्षण करने का फैसला किया और पाया कि अधिकांश अरबी स्कूल राज्य शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। हमने सहायक आयुक्त से इसकी समीक्षा करने को कहा है और रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई करेंगे।”

वहीं इससे पहले मंत्री ने हिजाब मामले पर भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी खुल कर अपनी राय रखी थी । अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कर्नाटक के शिक्षा मंत्री बीसी नागेश ने कहा था कि वह सर्वोच्च अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन उन्हें बेहतर फैसले की उम्मीद की थी, क्योंकि दुनिया भर की महिलाएँ हिजाब नहीं पहनने की मांग कर रही हैं। हालाँकि उन्होंने कहा था कि ड्रेस कोड लागू करने वाले शैक्षणिक संस्थानों की कक्षाओं में हिजाब पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

याद दिला दें कि हिजाब मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद जस्टिस हेमंत गुप्ता और सुधांशु धूलिया ने अलग-अलग फैसला दिया था। जस्टिस गुप्ता ने कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा था, वहीं जस्टिस धूलिया ने इसे खारिज कर दिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -