Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाजPM मोदी की रैली में चुपके से पंडाल का नट-बोल्ट खोलता दिखा संदिग्ध, लोगों...

PM मोदी की रैली में चुपके से पंडाल का नट-बोल्ट खोलता दिखा संदिग्ध, लोगों ने जताई बड़ी साजिश की आशंका: मोरबी पुल हादसे के बाद प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक

अब नया वीडियो जो गुजरात के बनासकाँठा से सामने आया है, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे एक व्यक्ति पंडाल में लगी लोहे की बल्लियों का नट-बोल्ट खोल रहा है।

गुजरात के बनासकाँठा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में बड़ी साजिश रची गई थी। एक वीडियो सामने आया है, जिसमें देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति पीएम मोदी की रैली के पंडाल का स्क्रू खोल रहा है। वो इस तरीके से अपना काम करता नजर आ रहा है, जैसे कोई उसे देखे नहीं। हालाँकि, वहाँ मौजूद किसी व्यक्ति ने उसका वीडियो बना लिया। ये वीडियो तब सामने आया है, जब गुजरात के मोरबी में पुल टूटने के कारण 150 से भी अधिक लोगों को जान गँवानी पड़ी है।

गुजरात में विधानसभा चुनाव इसी साल होने हैं, लेकिन अब तक तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार के साथ-साथ राज्य के कई हिस्सों में विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन भी कर रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने बनासकाँठा के थराड़ में भी 8000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का उद्घाटन/शिलान्यास किया। इसी रैली में हादसा कराने की साजिश थी, जिसे वीडियो को देख कर समझा जा सकता है।

इससे पहले जुलाई 2018 में ऐसी घटना हो भी चुकी है, जब पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में प्रधानमंत्री की रैली में पंडाल गिरने के कारण 90 लोग घायल हुए थे। तब पीएम मोदी ने अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात भी की थी। टेंट के एक हिस्सा उस दौरान गिर गया था। पीएम मोदी ने लोगों से अपील भी की थी कि जो टेंट पर चढ़े हुए हैं, वो नीचे उतर जाएँ। तब पीएम मोदी के काफिले में शामिल एम्बुलेंस और बाइकों से घायलों को अस्पताल पहुँचाया गया था।

अब नया वीडियो जो गुजरात के बनासकाँठा से सामने आया है, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे एक व्यक्ति पंडाल में लगी लोहे की बल्लियों का नट-बोल्ट खोल रहा है। इसमें वो बल्ली के पास खड़ा होकर चुपके से अपना काम करता दिख रहा है। फिर थोड़ी देर बाद वो नट-बोल्ट लेकर कुर्सी पर बैठ जाता है। नवंबर 2013 में पीएम मोदी की पटना रैली में सीरियल बम ब्लास्ट हो चुके हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक जाँच का विषय हो सकती है। सोशल मीडिया पर लोग इसे मोरबी पुल हादसे से जोड़ कर देखते हुए बड़ी साजिश की आशंका जता रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

अब सरकार की हो गई माफिया अतीक अहमद की ₹50 करोड़ की प्रॉपर्टी, किसानों-गरीबों को धमका कर किया था अवैध कब्ज़ा

उत्तर प्रदेश में ऑपरेशन माफिया के तहत चल रही कार्रवाई में कमिश्नरेट पुलिस प्रयागराज और राज्य सरकार ने बड़ी सफलता हासिल की है। माफिया अतीक अहमद की करीब 50 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अब राज्य सरकार की हो गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -