Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजअपने ही पैंट में लटक कर जेल में आत्महत्या: चाकू दिखा एयर होस्टेस का...

अपने ही पैंट में लटक कर जेल में आत्महत्या: चाकू दिखा एयर होस्टेस का कर रहा था रेप, काट दिया था गला

रुपल ओग्रे छत्तीसगढ़ की रहने वाली थी। एयर इंडिया में प्रशिक्षण के लिए वह अप्रैल 2023 में मुंबई आई थी। मुंबई के मरोल में कृष्णलाल मारवाह मार्ग पर एनजी कॉम्प्लेक्स में उसने किराए पर फ्लैट ले रखा था। उसमें वह अपनी बहन और उसके प्रेमी के साथ रह रही थी। घटना से 8 दिन पहले दोनों छत्तीसगढ़ चले गए थे।

एयर होस्टेस रुपल ओग्रे की हत्या के आरोप में जेल में बंद विक्रम अटवाल ने गुरुवार (7 सितंबर 2023) को मुंबई की जेल में आत्महत्या कर ली। मुंबई पुलिस ने जानकारी दी कि अटवाल जेल की जिस कोठरी में बंद था, उसमें उसने अपनी पैंट को फंदा बनाकर आत्महत्या की है।

सफाई कर्मचारी विक्रम अटवाल को मुंबई के मरोल इलाके में रहने वाली 23 साल की एयर होस्टेस की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उसने रुपल के फ्लैट में जाकर उसका गला काट दिया था। इसके बाद उसे मुंबई की अंधेरी स्थित जेल में बंद रखा गया था।

रुपल ओग्रे छत्तीसगढ़ की रहने वाली थी। एयर इंडिया में प्रशिक्षण के लिए वह अप्रैल 2023 में मुंबई आई थी। मुंबई के मरोल में कृष्णलाल मारवाह मार्ग पर एनजी कॉम्प्लेक्स में उसने किराए पर फ्लैट ले रखा था। उसमें वह अपनी बहन और उसके प्रेमी के साथ रह रही थी। घटना से 8 दिन पहले दोनों छत्तीसगढ़ चले गए थे।

रविवार (3 सितंबर 2023) को रात रुपल का शव मिला था। उसका गला कटा हुआ था और शव बाथरूम में पड़ा हुआ था। इसके साथ ही चारों तरफ खून फैला हुआ था। इस घटना के बाद मुंबई पुलिस ऐक्टिव हो गई और घटना के 12 घंटे के भीतर 40 साल के विक्रम अटवाल को गिरफ्तार कर लिया।

रूपल ओग्रेे जिस सोसायटी में रहती थी, उसी में विक्रम अटवाल कचरा बटोरने और हाउस कीपिंग का काम करता था। वह पिछले एक साल से यह काम कर रहा था। पुलिस ने उसे सोमवार (4 सितंबर 2023) को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना अपराध भी कबूल कर लिया।

पूछताछ में अटवाल ने पुलिस को बताया कि वह रूम की सफाई करने का बहाना बनाकर रूपल के कमरे में घुसा था। कहा जा रहा है कि कमरे में घुसने के बाद उसने रुपल को अकेली देखा और चाकू दिखाकर उससे बलात्कार करने की कोशिश की। रुपल ने इसका विरोध किया और खुद को उसके चुंगल से बचाने की कोशिश की।

इसके बाद विक्रम अटवाल ने रुपल का गला काट दिया और शव को बाथरूम में डाल दिया। इस दौरान उसके हाथ में चोट भी आई। अटवाल 11:30 से 1:30 बजे के बीच करीब दो घंटे तक रुपल के फ्लैट में था। इसके बाद उसने अपने कपड़े बदले और फर्श पर खून को साफ करके वहाँ से भाग निकला। उसकी करतूत CCTV कैमरे में कैद हो गई।

जब उसकी पत्नी ने चोट के बारे में पूछा तो उसने अपनी पत्नी से झूठ बोला। इसके बाद वह अपने घाव को दिखाने के लिए डॉक्टर के पास भी गया। शाम तक यह घटना सामने आई और अगले दिन उसे गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया, जहाँ 8 सितंबर तक कोर्ट ने उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया। रिमांड खत्म होने के एक दिन पहले ही अटवाल ने आत्महत्या कर ली।

पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि अटवाल ने 2 घंटे तक कमरे में क्या किया और हत्या से पहले वास्तव में क्या हुआ था। जिस चाकू से अटवाल ने रुपल की हत्या की थी, उस नौ इंच के चाकू और अपराध के समय आरोपित द्वारा पहने गए कपड़े को सोसाइटी के पास झाड़ियों से बरामद कर लिया गया है।

दरअसल, घटना का खुलासा परिवार के एक कॉल से हुआ। रुपल के परिजन उसे लगातार कॉल कर रहे थे, लेकिन वह फोन पिक नहीं कर रही थी। इसके बाद रुपल की चचेरी बहन ने अपने एक दोस्त को रुपल के फ्लैट पर देखने के लिए भेजा। जब वह दोस्त वहाँ पहुँचा तो देखा कि फ्लैट अंदर से लॉक है और डोरबेल का कोई जवाब नहीं दे रहा है।

इसके बाद घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने डुप्लिकेट चाबी से फ्लैट को खोला गया तो रुपल का गला कटा हुआ और चारों तरफ खून फैला हुआ मिला। इसके बाद पुलिस ने इस घटना के बारे में रुपल के परिजनों को जानकारी दी और घटनास्थल पर फोरेंसिक टीम बुलाकर जाँच शुरू की।

अटवाल पवई तुंगा गाँव में अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ रहता था। वह मूल रूप से पंजाब का रहने वाला था और 12 साल पहले मुंबई आया था। वह सोसायटी में सफाई कर्मचारी के रूप में काम कर रहा था। उनकी पत्नी भी सफाई कर्मचारी के रूप में काम करती थी।

पुलिस अटवाल की मानसिक स्थिति का पता लगाने के लिए अंधेरी की हवालात में उनके साथ मौजूद अन्य आरोपियों का बयान दर्ज करेगी। इसके साथ ही अटवाल की पत्नी का भी बयान दर्ज करेगी कि यह कदम उठाने से पहले उसे कुछ बताया तो नहीं था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

‘भ#$गी हो, भ$गी बन के रहो’: जामिया के 3 प्रोफेसर पर FIR, दलित कर्मचारी पर धर्म परिवर्तन का डाल रहे थे दबाव; कहा- ईमान...

एफआईआर में आरोपित नाज़िम हुसैन अल-जाफ़री जामिया मिल्लिया इस्लामिया के रजिस्ट्रार हैं तो नसीम हैदर डिप्टी रजिस्ट्रार। इनके साथ ही आरोपित शाहिद तसलीम यूनिवर्सिटी में प्रोफ़ेसर हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -