Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजश्रीराम कॉलेज में बुर्के में लड़कियों का कैटवॉक, गुजरे जमाने की हिरोइन मंदाकिनी रहीं...

श्रीराम कॉलेज में बुर्के में लड़कियों का कैटवॉक, गुजरे जमाने की हिरोइन मंदाकिनी रहीं थी निहार: आगबबूला हुआ जमीयत, मुजफ्फरनगर का मामला

बुर्के और हिजाब में कैटवॉक करने वाली कॉलेज की छात्राओं ने बताया कि वे मुस्लिम हैं, इसलिए उन्होंने अपनी प्रस्तुति इस्लामी तौर-तरीकों से दी। इस प्रस्तुति के पीछे उन्होंने कुछ अलग करने की सोच बताया है। साथ ही कहा कि इससे पहले उन्होंने ऐसा कुछ देखा नहीं था।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक कॉलेज का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें लड़कियाँ बुर्के और हिजाब में कैटवॉक करती दिख रही हैं। वीडियो श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज का है। कार्यक्रम में गुजरे जमाने की हिरोइन मंदाकिनी भी मौजूद थी।

जमीयत उलेमा ए हिन्द ने बुर्के में कैटवॉक को मुस्लिमों की भावनाओं को भड़काने की साजिश बताते हुए कार्रवाई की माँग की है। वहीं कॉलेज प्रशासन ने ऑपइंडिया से बातचीत में इसे एक अच्छा इवेंट बताया और विरोध पर हैरानी जताई।

यह कॉलेज मुजफ्फरनगर जिले के नई मंडी थाना क्षेत्र में स्थित है। वायरल वीडियो में रंग बिरंगी लाइटों वाले स्टेज पर लड़कियाँ कैटवॉक करती दिख रही हैं। तेज आवाज में बैकग्राउंड म्यूजिक चल रही रही है। कई लड़कियाँ इस्लामी परिधान में रैम्प पर नजर आती हैं। इनमें से कुछ ने स्कार्फनुमा हिजाब पहना था तो एक ने पूरा शरीर काले बुर्के से ढँक रखा था। ये सभी अलग-अलग अंदाज में दर्शकों के आगे पोज देती दिख रही हैं। एक लड़की ने इस्लामी तरीके से दर्शकों को 2 बार आदाब करती है और फिर इठलाते हुए वापस लौट जाती है।

दर्शकों ने भी गर्मजोशी से इस प्रस्तुति का लुत्फ उठाया। शोरगुल वीडियो में सुना जा सकता है। बाद में इस्लामी परिधान पहने सभी लड़कियों ने सामूहिक कैटवॉक किया। उन्होंने एक साथ दर्शकों का अभिवादन भी कबूल किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जमीयत उलेमा ए हिन्द ने इस आयोजन पर नाराजगी जताई है। जमीयत ने इसे मुस्लिमों की भावनाओं को भड़काने वाली हरकत बताते हुए कॉलेज प्रशासन और और इसके आयोजकों पर कार्रवाई की माँग की है। जमीयत उलेमा ने कॉलेज प्रशासन से दोबारा ऐसा न करने को कहा है।

वहीं इस्लामी परिधान में कैटवॉक करने वाली कॉलेज की छात्राओं ने बताया कि उनको कॉलेज के मनोज सर ने इस तरह की प्रस्तुति देने के निर्देश दिए थे। मनोज इस शो वीडियो भी बना रहे थे। लड़कियों ने बताया कि चूँकि वे मुस्लिम हैं, इसलिए उन्होंने अपनी प्रस्तुति इस्लामी तौर-तरीकों से दी। कैटवॉक करने वाली लड़कियों ने इस प्रस्तुति के पीछे कुछ अलग करने की सोच बताया है। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे पहले उन्होंने ऐसा कुछ देखा नहीं था।

बॉलीवुड और TV अभिनेत्रियाँ भी इवेंट में थीं शामिल

ऑपइंडिया ने इस वीडियो की पुष्टि के लिए श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज के डायरेक्टर सुभाष चंद्र कुलश्रेष्ठ से सम्पर्क किया। फोन मानिक तोमर नाम के व्यक्ति ने उठाया जिसने खुद को डॉयरेक्टर का PA बताया। मानिक ने इस फैशन शो की पुष्टि करते हुए वायरल हो रहे वीडियो को एक दिन पहले यानी रविवार (26 नवंबर 2023) का बताया। उन्होंने कहा कि श्रीराम कॉलेज में 3 दिनों का इवेंट आयोजित हुआ था। इसमें अलग-अलग दिनों पर विभिन्न मुद्दों पर शो हुए। खासतौर पर लैंगिक समानता और महिला सशक्तिकरण प्रमुख थे।

मानिक तोमर को जमीयत उलेमा द्वारा किए जा रहे विरोध की जानकारी नहीं थी। उन्होंने कॉलेज में हुए इवेंट को अच्छा और सराहनीय बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि उनका कॉलेज ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के स्लोगन पर काफी गंभीर रहता है और उस नारे को साकार करने की दिशा में प्रयासरत भी। श्रीराम कॉलेज को मुस्लिम बहुल इलाके में बताते हुए मानिक तोमर ने हमें यह भी बताया कि उसमें पढ़ने वाले मुस्लिम छात्र-छात्राओं की भी अच्छी-खासी तादाद है।

कॉलेज के जिस इवेंट पर विवाद खड़ा हो रहा है, उसमें मानिक ने कई बड़ी हस्तियों के शामिल होने की भी जानकारी दी। इनमें बॉलीवुड अदाकारा मंदाकिनी, TV अभिनेत्री विंद्या तिवारी और मॉडल महक चहल आदि शामिल हैं। बकौल मानिक तोमर रैम्प पर कैटवॉक में स्कूल की छात्राओं के साथ विदेश की भी मॉडल शामिल हुईं थीं। मानिक तोमर ने पूरे शो में बुर्के वाले इवेंट को खासतौर पर सराहा। हालाँकि उन्होंने जमीयत उलेमा के बयान और माँग पर कॉलेज की तरफ से जवाब के लिए डायरेक्टर सुभाष चंद्र कुलश्रेष्ठ को ही अधिकृत बताया। डॉयरेक्टर का बयान आने पर खबर में अपडेट किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -