Sunday, April 11, 2021
Home देश-समाज 'रेप सीन के रिहर्सल के बहाने सुदीप्तो चटर्जी ने मेरे साथ किया रेप' -...

‘रेप सीन के रिहर्सल के बहाने सुदीप्तो चटर्जी ने मेरे साथ किया रेप’ – छात्रा एंजेला ने लगाया आरोप

उसने मुझसे कहा, "नाटक के सीन के लिए मैं तुम्हें जिस मानसिक और भावनात्मक स्थिति में लाना चाहता था, यह उसकी एक प्रक्रिया थी, जो पूरी हुई।"

अमेरिका के न्यू यॉर्क, टफ्ट्स, कैलिफ़ोर्निया, बर्कले जैसे नामचीन विश्वविद्यालयों से लेकर भारत के जेएनयू में पढ़ाने वाले प्रोफेसर सुदीप्तो चटर्जी यौन शोषण के आरोपों में घिर गए हैं। यह मामला तब सामने आया जब चटर्जी की ही एक छात्र ने फेसबुक पर एक लम्बी पोस्ट लिखकर विस्तार से बताया कि यौन शोषण के एक नाट्य सीन की रिहर्सल के दौरान सुदीप्तो द्वारा असलियत में छात्रा (एंजेला मोंडल) को यौन उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा।

अपनी पोस्ट में इस मामले को विस्तार से लिखते हुए मोंडल ने बताया कि जब वह अपने इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित ‘लिसिस्त्राते (Lysistrata)’ नामक नाटक के लिए ऑडिशन देने गईं तो चटर्जी ने उन्हें अपने निर्देशन में बनने वाली फिल्म भाद्रोजा में अभिनय करने के लिए फ़ाइनल कर लिया।

मोंडल ने बताया, “भाद्रोजा के लिए तीन शो करने के बाद एक दिन अचानक से चटर्जी ने कहा कि शायद एक सीन कारगर नहीं हुआ है और वे मुझसे उम्मीद कर रहे थे कि इसमें मैं उनकी मदद करूँ। फिर उन्होंने (चटर्जी ने) मुझे अभिनय सिखाने के बहाने अपने यहाँ बुलाया। उन्होंने कहा कि मैं तुम्हें डायफ्राम ब्रीदिंग और साइकोफिजिकल एक्टिंग सिखाऊंगा। इसके बाद उन्होंने मुझसे नाटक के एक सीन के सम्बन्ध में बात करते हुए बलात्कार और उसके आघात की बात की। फिर उन्होंने मुझे पीछे से पकड़ लिया और कहा कि इसे शारीरिक सम्बन्ध से जोड़कर नहीं देखो क्योंकि अगर वो ऐसा कर रहे होते तो मुझे उनके लिंग के हार्डनेस से पता चल जाता।

एंजेला ने इसके आगे बताया, “इसके बाद सुदीप्तो ने मुझे आँखे बंद कर लेट जाने को कहा। साथ ही ऊपर के रेप सीन संबंधी डायलॉग बोलने को कहा। इसके बाद उन्होंने मुझे उंगलियों से छूना शुरू किया और कहा कि उनकी छुअन को सेंस करते हुए डायलॉग बोलूँ। फिर अचानक से उस शख्स ने (बिना मुझे बताए) अपनी उँगलियों से मेरे अंदर पेनिट्रेट किया। इतना ही नहीं, इसके बाद पेनिट्रेशन के दौरान यह भी बोला कि मैं अपनी डायलॉग और ऊंची आवाज़ में बोलूँ।”

पीड़ित एंजेला ने अपनी पोस्ट में अपन आपबीती बयाँ करते हुए लिखा, “मैं इस घटना के बाद एकदम टूट गई, मेरा बदन अकड़ गया था, मेरी आवाज़ जैसे कहीं खो गई हो। मेरी हालत एकदम एक लाश जैसी हो गई थी, मेरे घुट-घुटकर रोने पर वह एकदम से पीछे हट गया। उसने मुझसे कहा कि नाटक के सीन के लिए मैं तुम्हें जिस मानसिक और भावनात्मक स्थिति में लाना चाहता था, यह उसकी एक प्रक्रिया थी, जो पूरी हुई।”

सुदीप्तो चटर्जी पर छात्रा ने लगाए यौन शोषण के आरोप

एंजेला ने आरोप लगाते हुए कहा कि सुदिप्तो चटर्जी ने उनके साथ यह हरकत एक बार फिर दोहराने की कोशिश की थी मगर इस बार एंजेला ने हिम्मत जुटाकर चटर्जी को दूर करने में ज़रा भी देर न लगाई। इसके बाद चटर्जी फिर कभी उसके साथ दुर्व्यवहार करने की हिम्मत नहीं जुटा सका बल्कि और एंजेला से दूर हो गया।

बीते कल में छिपे रूह को कँपकँपा देने वाले अपने इतिहास को याद करते हुए एंजेला ने अपनी पोस्ट में यह भी बताया कि इस घटना के बाद वे सदमे और अस्वीकार्यता में जी रही थी। हालाँकि इन सब के बावजूद वे मानसिक कष्ट से जूझते हुए भी चटर्जी से बचते-बचाते उन्हीं की भाद्रोजा फिल्म में काम भी कर रही थीं। अंततोगत्वा मोंडल ने भद्रोजा फिल्म के इस काम से बाहर निकलने फैसला किया।

मोंडल का दावा है कि सुदीप्तो चटर्जी से इतना बचने-बचाने के बावजूद आख़िरकार जब व्हाट्सएप पर दोनों का आमना-सामना हुआ तो लड़की एंजेला ने चैट में अपना स्टेटमेंट रखा मगर इसके तुरंत बाद ही चटर्जी ने उन्हें व्हाट्सएप पर ब्लॉक कर दिया। पीड़ित लड़की ने लिखा कि इस पूरे घटनाक्रम के बारे में चटर्जी की पत्नी अनीशा चक्रवर्ती को शुरुआत से ही मालूम था। लेकिन उसने एंजेला से इस पूरे मामले को भूल जाने को कहा था। अनीशा ने कहा था कि इसके चलते उनके रिश्ते ख़राब हो सकते हैं।

एंजेला मोंडल ने अपने पोस्ट में यह भी लिखा है कि उसने इस बात को चटर्जी के थियटर वाले समूह ‘स्पेक्टेटर्स’ के उसके करीबी लोगों से साझा करने की भी पहल की थी। सबने व्यग्तिगत रूप से मामले को लेकर पीड़िता से हमदर्दी तो जताई मगर सिर्फ पर्सनल चैट में, क्योंकि सुदीप्तो चटर्जी की पहुँच और उसके कद के चलते किसी ने भी खुलकर पीड़िता का पक्ष नहीं लिया और न ही कोई उसके समर्थन में बोला।

पीड़िता एंजेला मोंडल ने बताया कि चटर्जी के खिलाफ उसने अपने संस्थान में शिकायत कर दी है जिसके बाद सोमवार 16 अक्टूबर को उसे इस सम्बन्ध में मीटिंग के लिए बुलाया गया था। मीटिंग में उन्हें बताया गया कि चटर्जी ने मामले की सुनवाई के एक ही दिन पहले परोक्ष रूप से संस्थान में अपनी सेवाओं से इस्तीफ़ा दे दिया है। इस पर एंजेला ने अपनी राय रखते हुए कहा, “क्या मैं इस तरह का न्याय डिज़र्व करती हूँ? यह एक खुला राज़ है कि सुदिप्तो चटर्जी आदतन यौन शोषण करने वाला व्यक्ति है। कई कई ऐसी लड़कियाँ और भी हैं, जिन्हें उसने अपना शिकार बनाया है मगर उस पर इसका कभी कोई फर्क नहीं पड़ा क्योंकि शायद ज़्यादातर लड़कियां इस पर खुलकर कभी बोलने के लिए आगे नहीं आईं।”

अपनी पोस्ट के आखिर में एंजेला मोंडल ने लिखा, “मैं अपनी आवाज़ बुलंद कर रही हूँ, खासकर उन महिलाओं के लिए जो यौन शोषण झेलती हैं। लोगों को यह जानना बहुत ज़रूरी है कि एक बलात्कारी एक मशहूर और सभ्य, संभ्रांत वर्ग के लोगों के बीच खुले-आम घूम रहा है जिससे कि वह इस सन्दर्भ में ज़रूरी कदम उठा सकें। न ही मैं उसकी पहली शिकार थी और न ही उसकी आखिरी, लेकिन हमें उसको रोकना होगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अब आइसक्रीम नहीं धूल खाएँगे’: सचिन वाजे के तलोजा जेल पहुँचने पर अर्नब गोस्वामी ने साधा बरखा दत्त पर निशाना

डिबेट के 46 मिनट 19 सेकेंड के स्लॉट पर अर्नब ने सीधे बरखा दत्ता को उनकी अवैध गिरफ्तारी पर जश्न मनाने और सचिन वाजे जैसे भ्रष्ट अधिकारी के कुकर्मों का महिमामंडन करने के लिए लताड़ा है।

PM मोदी ने भारत में नई शक्ति का निर्माण कर सांस्कृतिक बदलाव को दिया जन्म, उन्हें रोकना मुश्किल: संजय बारू

करन थापर को दिए इंटरव्यू में राजनीतिक विश्लेषक संजय बारू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में सांस्कृतिक बदलाव को जन्म दिया है।

बंगाल: मतदान देने आई महिला से ‘कुल्हाड़ी वाली’ मुस्लिम औरतों ने छीना बच्चा, कहा- नहीं दिया तो मार देंगे

वीडियो में तृणमूल कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता को उस पीड़िता को डराते हुए देखा जा सकता है। टीएमसी नेता मामले में संज्ञान लेने की बजाय महिला पर आरोप लगा रहे हैं और पुलिस अधिकारी को उस महिला को वहाँ से भगाने का निर्देश दे रहे हैं।

एंटीलिया के बाहर जिलेटिन कांड के बाद सचिन वाजे करने वाला था एनकाउंटर, दूसरों पर आरोप मढ़ने की थी पूरी प्लानिंग

अपने इस काम को अंजाम देने के लिए वाजे औरंगाबाद से चोरी हुई मारुती इको का इस्तेमाल करता, जिसका नंबर प्लेट कुछ दिन पहले मीठी नदी से बरामद हुआ था।

खुद के सर्वे में हार रही TMC, मुस्लिम तुष्टिकरण से आजिज हो हिंदू BJP के साथ: क्लबहाउस पर सब कुछ बोल गए PK

बंगाल में बीजेपी क्यों जीत रही? पीएम मोदी कितने पॉपुलर? टीएमसी के आंतरिक सर्वे क्या कहते हैं? सबके बारे में क्लबहाउस पर प्रशांत किशोर ने बात की।

‘दलित भाई-बहनों से इतनी नफरत’: सिलीगुड़ी में बोले PM मोदी- दीदी आपको जाना होगा

“दीदी, ओ दीदी! बंगाल के लोग यहीं रहेंगे। अगर जाना ही है तो सरकार से आपको जाना होगा। दीदी आप बंगाल के लोगों की भाग्य विधाता नहीं हैं। बंगाल के लोग आपकी जागीर नहीं हैं।”

प्रचलित ख़बरें

‘ASI वाले ज्ञानवापी में घुस नहीं पाएँगे, आप मारे जाओगे’: काशी विश्वनाथ के पक्षकार हरिहर पांडेय को धमकी

ज्ञानवापी केस में काशी विश्वनाथ के पक्षकार हरिहर पांडेय को जान से मारने की धमकी मिली है। धमकी देने वाले का नाम यासीन बताया जा रहा।

बंगाल: मतदान देने आई महिला से ‘कुल्हाड़ी वाली’ मुस्लिम औरतों ने छीना बच्चा, कहा- नहीं दिया तो मार देंगे

वीडियो में तृणमूल कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता को उस पीड़िता को डराते हुए देखा जा सकता है। टीएमसी नेता मामले में संज्ञान लेने की बजाय महिला पर आरोप लगा रहे हैं और पुलिस अधिकारी को उस महिला को वहाँ से भगाने का निर्देश दे रहे हैं।

पॉर्न फिल्म में दिखने के शौकीन हैं जो बायडेन के बेटे, परिवार की नंगी तस्वीरें करते हैं Pornhub अकॉउंट पर शेयर: रिपोर्ट्स

पॉर्न वेबसाइट पॉर्नहब पर बायडेन का अकॉउंट RHEast नाम से है। उनके अकॉउंट को 66 badge मिले हुए हैं। वेबसाइट पर एक बैच 50 सब्सक्राइबर होने, 500 वीडियो देखने और एचडी में पॉर्न देखने पर मिलता है।

कूच बिहार में 300-350 की भीड़ ने CISF पर किया था हमला, ममता ने समर्थकों से कहा था- केंद्रीय बलों का घेराव करो

कूच बिहार में भीड़ ने CISF की टीम पर हमला कर हथियार छीनने की कोशिश की। फायरिंग में 4 की मौत हो गई।

‘मोदी में भगवान दिखता है’: प्रशांत किशोर ने लुटियंस मीडिया को बताया बंगाल में TMC के खिलाफ कितना गुस्सा

"मोदी के खिलाफ एंटी-इनकंबेंसी नहीं है। मोदी का पूरे देश में एक कल्ट बन गया है। 10 से 25 प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिनको मोदी में भगवान दिखता है।"

‘हमें बार-बार जाना पड़ता है, वो वॉशरूम कब जाती हैं’: साक्षी जोशी का PK से सवाल- क्या है ममता बनर्जी का टॉयलेट शेड्यूल

क्लबहाउस पर बातचीत में ‘स्वतंत्र पत्रकार’ साक्षी जोशी ने ममता बनर्जी की शौचालय की दिनचर्या के बारे में उनके चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से पूछताछ की।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,166FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe